scripttunnel accident | breaking जमीन के अंदर जिंदगी की जद्दोजहद, 29 घंटे रेस्क्यू ऑपरेशन, 7 मजदूर सुरक्षित निकले, दो की मौत | Patrika News

breaking जमीन के अंदर जिंदगी की जद्दोजहद, 29 घंटे रेस्क्यू ऑपरेशन, 7 मजदूर सुरक्षित निकले, दो की मौत

स्लीमनाबाद में टनल खुदाई के दौरान टीवीएम मशीन सुधारने की चल रही थी तैयारी और हो गया बड़ा हादसा.

कटनी

Published: February 14, 2022 12:36:42 am

कटनी. नर्मदा का पानी विंध्य तक पहुंचाने के लिए बरगी व्यपवर्तन योजना में टनल निर्माण कार्य के दौरान 12 फरवरी की शाम करीब 7.30 बजे स्लीमनाबाद में 25 फिट कुआंनुमा गड्ढा निर्माण में कांक्रीट बेस के अचानक धंस जाने से 9 मजदूर फंस गए। मजदूरों को निकालने के लिए फौरन रेस्क्यू ऑपरेशन प्रारंभ किया गया। 29 घंटे तक चले राहत और बचाव कार्य के बाद 7 मजदूर सुरक्षित निकाल लिए गए, लेकिन 2 मजदूर जमीन के अंदर जिंदगी की जंग हार गए।

tunnel accident
2 मजदूर जमीन के अंदर जिंदगी की जंग हार गए.

स्लीमनाबाद में टनल खुदाई के दौरान शनिवार शाम हादसे के फौरन बाद बचाव कार्य प्रारंभ हुआ और नर्मदा विकास प्राधिकरण व ठेकाकंपनी कर्मचारियों की मदद से 3 श्रमिकों को निकाला गया। इसके फौरन बाद अंदर फंसे 6 श्रमिकों की निकालने के प्रयास में सबसे पहले कटनी से स्टेट डिजास्टर्स रिस्पांस फोर्स (एसडीआरएफ) की टीम पहुंची।

एसीडीआरएफ को बचाव कार्य में परेशानी के बाद जबलपुर से नेशनल डिजास्टर्स रिस्पांस फोर्स (एनडीआएफ) की टीम बुलवाई गई। इस बीच रात में ही मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने हादसे की जानकारी ली और सीएम के निर्देश पर भोपाल से एनडीआरएफ की टीम रवाना हुई जो 13 फरवरी की सुबह स्लीमनबाद पहुंची।

स्लीमनाबाद में टनल के अंदर से नहर निर्माण के लिए सलैयाफाटक और खिरहनी की ओर से टनल खुदाई प्रगति पर है। खिरहनी की ओर से खुदाई में टनल बोरिंग मशीन (टीवीएम) का कटर बदलने व दूसरे मरम्मत कार्य मार्च में प्रस्तावित है। इसके लिए वर्तमान खुदाई से कुछ मीटर आगे 80 फिट गहरा गड्ढा खोदा जा रहा था। यहां टीवीएम के पहुंचने पर सुधार कार्य होता। तभी शनिवार देरशाम लगभग 25 फिट गड्ढा खुदाई के बाद यह हादसा हो गया। कुआंनुमा गड्ढा खुदाई में उसे मजबूती प्रदान करने के लिए सीमेंट कांक्रीट की दीवार खड़ी की जा रही थी। काम के दौरान नीचे पानी का बड़ा स्रोत मिलने के बाद कांक्रीट ढलाई में दिक्कतें आ रही थी। और बेस कमजोर होने के बाद उपर से कांक्रीट की पूरी दीवार धंस गई। जिसमें मजदूर फंस गए।

एसडीआरएफ के डिवीजनल कमांडेंड आशीष खरे ने बताया कि मलबे में फंसे मजदूरों को देखने डॉक्टरों की टीम नीचे गई थी। उसी समय एक मजदूर की मौत हो गई थी। दोनों मजदूरों का शव रात में बाहर निकाला जा सका।

29 घंटे चला राहत व बचाव कार्य, मलबे से निकली 7 जिंदगी, 2 मजदूर हार गए जिंदगी की जंग
- 7.45 बजे शाम दीपक, नर्मदा व मोनीदास कोल बाहर निकले.
- 2.25 बजे रात इंद्रमणि कोल को निकाला गया.
- 3.30 बजे विजय कोल बाहर आए.
- 9.30 बजे सुबह मोतीलाल कोल को निकाला गया.
- 11.00 बजे नंदकुमार यादव को टीम ने बाहर निकाला.
- 12 बजे रात के बाद रवि और गोरेलाल का शव बाहर निकाला गया.

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: उद्धव ठाकरे के इस्तीफे के बाद बीजेपी की बैठक आज, देवेंद्र फडणवीस करेंगे बड़ी घोषणाMaharashtra Political Crisis: उद्धव के इस्तीफे के बाद भी संजय राउत के हौसले बुलंद, बोले-हम अपने दम पर फिर सत्ता में करेंगे वापसीMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में फिर बनेगी बीजेपी की सरकार, देवेंद्र फडणवीस 1 जुलाई को ले सकते है सीएम पद की शपथजम्मू-कश्मीर: बालटाल से अमरनाथ यात्रा के लिए श्रद्धालुओं का पहला जत्था रवाना, पवित्र गुफा में बाबा बर्फानी का करेंगे दर्शनपटना के हथुआ मार्केट में लगी भीषण आग, कई दुकानें जलकर खाक, करोड़ों का नुकसानWeather Update: दिल्ली-एनसीआर में मानसून की दस्तक, IMD ने जारी किया आंधी-तूफान का अलर्टउदयपुर मर्डर : आरोपियों के घर से जब्त की सामग्री, चार और संदिग्ध हिरासत मेंसीएम गहलोत का बयान, 'अपराधी किसी भी धर्म या संप्रदाय का हो, बख्शेंगे नहीं'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.