VIDEO: उत्तप्रदेश से आई दो ट्रकों में 550 क्विंटल धान जब्त, नहीं मिले पर्याप्त दस्तावेज, होने वाला था यह खेल

- रैपुरा जानी थी एक ट्रक धान, फिर भी शहर के अंदर खड़ा था ट्रक, गोलमोल जवाब देते रहे चालक, एएसपी ने सूचना पर की कार्रवाई
- जांच के लिए पहुंचे तहसीलदार, मंडी सचिव, स्टेट वेयर हाउस के जिला प्रबंधक

- सस्ती धान खरीदकर समर्थन मूल्य में बेचने के लिए चल रहा है खेल

By: balmeek pandey

Updated: 25 Nov 2020, 08:45 AM IST

Katni, Katni, Madhya Pradesh, India

कटनी. समर्थन मूल्य पर किसानों ने होने वाली धान खरीदी में कोई गफलत न हो, भ्रष्टाचार को रोका जा सके, इसको लेकर इस बार पुलिस-प्रशासन अलर्ट है। लगातार छापामार कार्रवाई कर बड़ी मात्रा में धान जब्त की जा रही है। पुलिस-प्रशासन ने मंगलवार को फिर बड़ी कार्रवाई की। कुठला थाना क्षेत्र में इंदिरा नगर के समीप गुप्ता वेयर हाउस के पास से दो ट्रक धान जब्त की है। यह धान न सिर्फ गुणवत्ता विहीन है बल्कि इसे समर्थन मूल्य में खपाने की आशंका थी, जिसके चलते उसे जब्त कर जांच में लिया गया है। उक्त कार्रवाई एडिशनल एसपी संदीप मिश्रा द्वारा की गई। धान जब्ती के बाद जांच के लिए कुठला थाने तहसीलदार मुनव्वर खान, मंडी सचिव पीयूष शर्मा, जिला प्रबंधक स्टेट वेयरहाउस डीके हवलदार, सहायक आपूर्ति अधिकारी केएस भदोरिया, इस्पेक्टर प्रमोद मिश्रा, वंदना जैन, जितेंद्र बर्मन, नागरिक आपूर्ति निगम के अधिकारी, कुठला थाना प्रभारी विपिन सिंह सहित अन्य अधिकारी पहुंचे।
जानकारी के अनुसार ट्रक क्रमांक यूपी 70 एचटी 1804 जिसमें 270 क्टिवंटल धान करछना प्रयागराज से आई थी। धान पिं्रस ट्रेडिंग कंपनी विजय सिंह दिनेश के यहां से आई थी, जिसे चालक पोपटमल, इदनदास माधवनगर के यहां धान लेकर जाना बताया, जिसे गुप्ता वेयरहाउस के पास से जप्त किया गया है। इसी तरह ट्रक क्रमांक सीजी 13 नयूजी 3373 से 280 क्विंटल धान जब्त की गई है। यह धान शिवाय ट्रेडर्स नैनी प्रयागराज से आई थी। यह भी गुप्ता वेयरहाउस के सामने से जप्त की गई है। यह धान जय मां ट्रेडिंग कंपनी रैपुरा जाना बताया। इस मामले में सहायक आपूर्ति अधिकारी केएस भदौरिया ने बताया कि धान गुणवत्ताविहीन है। जिसकी जांच कराई जा रही है। इसे समर्थन मूल्य में खपाने की आशंका लग रही है जिसको लेकर जांच की जा रही है। सेंट्रल वेयर हाउस में मशीन से धान की कराई जा रही जांच, गुणवत्ता नियंत्रक बुधवार को देंगे रिपोर्ट।

दबिश से पहले ही भागे तीन ट्रक
बताया जा रहा है कि पुलिस टीम के पहुंचने से पहले ही तीन ट्रक धान चालक वहां से लेकर गायब हो गए। वह धान भी उत्तरप्रदेश से आई थी, जिसे समर्थन मूल्य में खपाने की तैयारी थी। केएस भदौरिया ने बताया कि एक वाहन का चालक कह रहा था कि रैपुरा जाना है, लेकिन दो दिन से कटनी में ही खड़ा था, जबकि रैपुरा जाने का मार्ग बाइपास है, लेकिन वाहन लेकर मंडी के पास खड़ा था, जिससे भी संदेह हुआ। दूसरे वाहन चालक कह रहा था कि बजरंग ट्रेडिंग कंपनी माधवनगर के यहां धान लेकर जाना है। धान में बदरा और दूसरे साल की मिक्स धान भी पाई गई है।

इनका कहना है
धान परिवहन विक्रय को लेकर वाहन चालकों से दस्तावेज प्रमाणित नहीं है। धान भी गुणवत्तायुक्त नहीं है। नई और पुरानी धान होना भी प्रारंभिक जांच में पाया गया। सेम्पल जांच के लिए भेजे गए हैं। यूपी से कम रेट की धान यहां लाई जा रही है, जो समर्थन मूल्य में खपाने की आशंका है, जिसकी जांच कराई जा रही है। जांच रिपोर्ट के बादे आगे की कार्रवाई होगी।
पीके श्रीवास्तव, जिला खाद्य अधिकारी।

मुखबिर की सूचना पर कुठला थाना क्षेत्र में दबिश दी गई। दो ट्रक धान जब्त की गई है। दो-तीन वाहन चालक ट्रक लेकर पहले ही वहां से भाग गए हैं। वाहनों को कुठला थाने में खड़ा कराया है। मामले की जांच खाद्य, नान और तहसीलदार कर रहे हैं।
संदीप मिश्रा, एएसपी।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned