कर्नाटक से कटनी पहुंचे दो पीडि़त युवक, थाना प्रभारी को सुनाई ठगी की दास्तां, देखें वीडियो

मर्चेट नेवी में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी का शिकार हुए युवकों के मामले में नए-नए खुलासे हो रहे है। शनिवार को कर्नाटक के दो युवक कटनी पहुंचे और किस तरह से ठगी का शिकार हुए, थाना प्रभारी को इसकी दास्तां सुनाई। आरोपी को पकडऩे पुलिस दल रवाना हुआ।

 

By: dharmendra pandey

Published: 08 Jun 2019, 09:12 PM IST

Katni, Katni, Madhya Pradesh, India

कटनी. जहाज में नौकरी करने के नाम पर ठगी का शिकार हुए कर्नाटक के बिलगी बागलपुर निवासी के दो युवक अनिल प्रेम व गुरुनाथ शनिवार को कटनी माधवनगर थाना पहुंचे। यहां पर थाना प्रभारी संजय दुबे ने युवाओं से पूछताछ की। जिस पर युवाओं ने बताया कि तीनों युवक जनवरी माह में कटनी आए थे। कोचिंग संचालक सुधीर विश्वकर्मा द्वारा ओएस पोस्ट में नौकरी देने को कहा गया था। 24 फरवरी को तीनों युवकों को मलेशिया के मुक्काले भेज दिया गया। यहां पहुंचने पर दो अलग-अलग कमरें में बंद कर दिया गया था। युवाओं ने बताया कि एमआर वोंग व अजीज करके नाम एजेंट ने पासपोर्ट को रख लिया था। पीडि़त युवक गुरुनाथ ने बताया कि उसने और अनिल प्रेम व इशाक जफर ने 1 लाख 40, 40 हजार रुपये सुधीर विश्वकर्मा को दिए थे। इधर, गोटेगांव निवासी आरोपी माधव उर्फ मैडी पटेल की गिरफ्तारी को लेकर तीन-चार सदस्यीय टीम भी रवाना हुई।

वाट्सअप के माध्यम से होती थी बात:
मर्चेट नेवी में नौकरी दिलाने के नाम पर देशभर में फैले ठग गिरोह का मामला सामने आने के बाद माधवनगर पुलिस की जांच भी तेज हो गई है। एडीशनल एसपी के मार्गदर्शन में शनिवार को थाना प्रभारी संजय दुबे व उपनिरीक्षक प्रियंका जांच ने मामले की जांच की। थाना प्रभारी ने बताया कि ठगी का शिकार हुए युवकों की कोचिंग संचालक सुधीर विश्वकर्मा व नरसिंहपुर गोटेगांव निवासी माधव पटेल की वाट्सअप पर भी बात होती थी।
इनका कहना है
आरोपी माधव की गिरफ्तारी को लेकर टीम गोटगांव रवाना हुई है। कर्नाटक से भी ठगी का शिकार हुए दो युवक कटनी आए है। मामले की जांच जारी है।
संदीप मिश्रा, एएसपी।
...........................

 

 

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned