होम आइसोलेशन का तोड़ा नियम तो घर पहुंची पुलिस

जागरुक ग्रामीणों ने कंट्रोल रुम में दी जानकारी, स्वास्थ्य विभाग का अमला भी पहुंचा गांव.

By: raghavendra chaturvedi

Published: 30 Mar 2020, 11:55 PM IST

कटनी. स्लीमनाबाद के मवई गांव में कोरोना प्रभावित राज्य से लौटे एक युवक को होम आइसोलेशन का नियम तोडऩा भारी पड़ गया। युवक के गांव पहुंचने पर जिले में कोरोना के लिए गठित रैपिड रिस्पांस टीम के साथ ही बहोरीबंद स्वास्थ्य विभाग अमले ने जांच की थी। युवक में कोरोना के लक्षण नहीं मिलने पर 14 दिन तक होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी गई। इधर दो दिन घर में रहने के बाद ही युवक बाहर निकला और लोगों के करीब पहुंच गया तो गांव के जागरुक लोगों ने इसकी सूचना कंट्रोल रुम को दी।

कंट्रोल रुम से जानकारी पुलिस और रैपिड रिस्पांस टीम तक पहुंची। सूचना मिलते की स्लीमनाबाद पुलिस मवई गांव पहुंची और युवक को घर के अदंर रहने की समझाइश दी। कुछ देर बाद स्वास्थ्य विभाग का अमला भी पहुंच गया। रैपिड रिस्पांस टीम के चिकित्सक डॉ. समीर सिंघई ने बताया कि युवक द्वारा होम आइसोलेशन का उलंघन करने की शिकायत मिलने के बाद बहोरीबंद से बीएमओ गांव पहुंचे और समझाइश दी। 14 दिन तक घर में रहने कहा गया।

होम आइसोलेशन को पोस्टर फाड़ा
न्यू कटनी जंक्शन (एनकेजे) में होम आइसोलेशन में भेजे गए युवक के घर पर चस्पा पोस्टर को फाडऩे की जानकारी मिली है। इसकी सूचना भी मोहल्ले के लोगों ने कोरोना को लेकर गठित कंट्रोल रुम के नंबर 104 पर डायल कर दी। और मौके पर पहुंचकर टीम ने युवक को ऐसा नहीं करने के साथ ही होम आइसोलेशन का पालन करने की समझाइश दी।

1548 की स्क्रीनिंग, नहीं मिले एक भी पॉजीटिव
रैपिड रिस्पांस टीम के डॉ. समीर सिंघई ने बताया कि 30 मार्च की सुबह तक जिलेभर में 1548 लोगों की स्क्रीनिंग की गई। इस दौरान एक भी कोरोना पॉजीटिव कटनी में नहीं मिला। इसमें अन्य राज्यों से आने वाले युवकों की संख्या 1444 है। विदेश से लौटने वाले भारतीय 83 और यहां आने वाले विदेशी 11 शामिल हैं।

Corona virus
raghavendra chaturvedi Bureau Incharge
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned