यहां बैराज ने छोड़ा साथ, अब टेंकरों का सहारा...

यहां बैराज ने छोड़ा साथ, अब टेंकरों का सहारा...
Drinking water crisis

Mukesh Tiwari | Publish: May, 31 2018 12:08:40 PM (IST) Katni, Madhya Pradesh, India

गर्मी के अंतिम दिनों में नगर निगम को मिल पाए पांच निजी टेंकर, पेयजल को लेकर परेशान लोग

कटनी. गर्मी के अंतिम दिनों में शहर में पानी की त्राहि मचने लगी है। एक समय पानी की सप्लाई पा रहे लोगों को अब टेंकरों से आपूर्ति की जा रही है। गर्मी में दो माह से मात्र निगम के तीन टेंकर ही जरूरत पडऩे पर पानी उपलब्ध करा रहे थे और पिछली बार निजी टेंकर संचालकों को देर से राशि का भुगतान होने से विभाग को टेंकर ही नहीं मिल पा रहे हैं। टेंकर लगाने के लिए कई बार सीजन में निविदा बुलाई गई हैं लेकिन कोई भी संचालक सामने नहीं आया। मई माह में मशक्कत के बाद मात्र पांच टेंकर मिल पाए हैं और तीन निगम के पुराने टेंकरों के सहारे इन दिनों लगभग ११ वार्डों को सप्लाई की जा रही है।
शहर में पिछले तीन-चार दिनों से रोशन नगर वार्ड नंबर १८, श्यामाप्रसाद मुखर्जी वार्ड, बाबू जगमोहन दास वार्ड, रामकृष्ण परमहंस वार्ड, संजय नगर, विवेकानंद वार्ड, बीडी अग्रवाल वार्ड, राजीव गांधी वार्ड, बालगंगाधर तिलक वार्ड और अंबेडकर वार्ड में टेंकरों से पानी की आपूर्ति कई कॉलोनियों में की जा रही है। कई स्थानों पर पड़ोसियों की निजी बोरिंग का सहारा लोग ले रहे हैं।
बैराज में नहीं बचा पानी
कटनी नदी में अमकुही के पास बनाए बैराज में पानी नहीं बचा है। गेट के नीचे चार से पांच फिट पानी शेष है और ऐसे में कटाएघाट एनीकट तक मशीनों से बैराज में एक ओर से दूसरी ओर पानी पहुंचाने का काम किया जा रहा था, उसमें भी परेशानी आ रही है।
खदानों से जोड़ी सप्लाई
नगर निगम पेयजल संकट से लोगों को बचाने के लिए शहर की कई खदानों का उपयोग करने लगा है। आर्डिनेंस क्षेत्र में एसीसी और विश्वकर्मा खदान का सहारा लिया जा रहा है। शहर में ३५ सौ से अधिक नल कनेक्शन हैं और पानी की कमी के कारण उपयोगकर्ताओं को एक समय ही पानी मुश्किल से निगम दे पा रहा है। बुधवार को ही अस्पताल रोड सहित कई क्षेत्रों में सुबह आपूर्ति प्रभावित रही।
निगमाध्यक्ष भी जता चुके हैं नाराजगी
पानी के संकट से लोगोंं को बचाने के लिए संबंधित विभाग के अधिकारियों द्वारा योजना से काम न करने पर नगर निगम अध्यक्ष संतोष शुक्ला भी नाराजगी जता चुके हैं। निगमायुक्त को पत्र लिखकर उन्होंने कहा कि निगम अधिकारियों की लापरवाही से लोगों को पानी नहीं मिल रहा है और आक्रोश बढ़ रहा है। अधिकारी अपने कक्ष से बाहर निकलकर हकीकत नहीं देख रहे हैं। लोग नलों से सीधे टुल्लू पंप लगाकर पानी भर रहे हैं और दूसरे पानी को तरस रहे हैं लेकिन एक भी स्थान पर न तो कार्रवाई हुई और न ही उसे रोकने पहल की गई है। पानी का अपव्यय रोकने भी काम न होने पर निगमाध्यक्ष ने नाराजगी पत्र के माध्यम से जाहिर की है।
खास बातें-
- एक दर्जन वार्डों में टेंंकरों से हो रही सप्लाई
- निजी टेंकरों को लगाने जारी निविदा में कोई नहीं आया आगे
- मुश्किल से निगम को मिल पाए ५ टेंकर
- ३५ सौ से अधिक हैं नल कनेक्शन
- ३ लाख आबादी को एक समय सप्लाई हो रहा पानी
- अमकुही बैराज में भी चार से पांच फिट पानी शेष

इनका कहना है...
शहर में जिन स्थानों पर पानी की दिक्कत हो रही है, वहां टेंकर उपलब्ध कराए जा रहे हैं। बैराज में अभी कुछ पानी शेष है और खदानों का भी सहारा लिया जा रहा है।
शैलेष जायसवाल, प्रभारी अधिकारी, नगर निगम जलप्रदाय विभाग

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned