ऐसा क्या हुआ जो मायके पहुंचते ही पत्नी ने ससुराल पहुंचा दी पुलिस

दहेज में कार और 50 लाख रुपए की मांग की थी, जिससे तंग आकर महिला ने पुलिस की शरण ली, लेकिन जैसे ही पुलिस पति और सास-ससुर को गिरफ्तार करने पहुंची, तो वे फरार हो चुके थे।

By: Subodh Tripathi

Published: 26 Sep 2021, 02:37 PM IST

कटनी. नवविवाहिता के साथ दहेज की मांग और शारीरिक प्रताडऩा का मामला आया है। विवाहिता का आरोप है कि उससे दहेज में कार और 50 लाख रुपए की मांग की थी, जिसके चलते सास-ससुर और पति द्वारा उसे प्रताडि़त किया जाता था, जिससे तंग आकर महिला ने पुलिस की शरण ली, लेकिन जैसे ही पुलिस पति और सास-ससुर को गिरफ्तार करने पहुंची, तो वे फरार हो चुके थे।

गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस

गंजबासौदा पुलिस ने एक नवनिवाहिता की शिकायत पर कुठला थाना अंतर्गत पन्ना मोड़ निवासी उसके पति व सास-ससुर के विरूद्ध दहेज की मांग व शारीरिक प्रताडऩा का मामला दर्ज किया है। जिसके बाद 24 सितंबर को गंजबासौदा पुलिस पति और सास-ससुर को गिरफ्तार करने कटनी भी पहुंची। लेकिन प्रकरण दर्ज होने की सूचना मिल जाने के कारण वे घर से फरार हो गए।

यूपीएससी टॉपर टीना की बहन रिया भी नहीं किसी से कम


पिछले साल हुई थी शादी , दहेज में कार और 50 लाख की मांग


जानकारी के अनुसार गंजबासौदा निवासी 29 वर्षीय मेघना पिता सतीश अग्रवाल की शादी 20 जनवरी 2020 को कुठला थाना अंतर्गत पन्ना मोड़ निवासी अनुराग पिता कमल बागडिय़ा के साथ हुई थी। शादी के बाद कुछ दिनों तक तो सब कुछ ठीक-ठाक रहा। लेकिन जैसे-जैसे समय बीता मेघना के पति अनुराग बागडिय़ा, ससुर कमल बागडिय़ा व सास मंजू बागडिय़ा मिलकर उसे दहेज के लिए शारीरिक व मानसिक प्रताडऩा देने लगे। ससुराल पक्ष के लोग मेघना को प्रताडि़त करते हुए दहेज में कार व 50 लाख रुपए लाने की मांग करने लगे।

राज्यपाल का मध्यप्रदेश दौरा- पहले बच्चों से मुलाकात, फिर जानेंगे चिड़ी खो-सांका श्यामजी का इतिहास


मायके चली गई थी मेघना


रोज-रोज की प्रताडऩा से परेशान होकर मेघना अपने मायके गंजबासौदा चली गई और अपने पिता के साथ बासौदा थाना जाकर शिकायत दर्ज कराई। गंजबासौदा पुलिस ने मेघना की शिकायत पर आरोपी पति अनुराग बागडिय़ा, ससुर कमल बागडिय़ा व सास मंजू बागडिय़ा के खिलाफ धारा 498 ए, 377, 323, 506 व मप्र दहेज प्रतिषेध अधिनियम की धारा 3, 4 के तहत मामला दर्ज कर लिया है। इसके बाद 24 सितंबर को गंजबासौदा पुलिस तीनों को गिरफ्तार करने कटनी भी पहुंची। लेकिन ससुराल पक्ष के लोग फरार हो गए थे।

Subodh Tripathi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned