गांव की बुजुर्ग महिलाओं की मदद को आगे आया women self help group

-अब गांव में ही women self help group की मदद से निबटेंग बैंकिंग कार्य

By: Ajay Chaturvedi

Published: 04 Oct 2021, 03:40 PM IST

कटनी. गांव की बुजुर्ग महिलाओं की मदद को आगे आया है women self help group जो उनके बैंकिंग कार्यों को गांव में ही निबटाएगा। अब बैंकिंग कार्य के लिए इन बुजुर्ग महिलाओं को इधर-उधर भटकना नहीं होगा।

इस महत्वपूर्ण कार्य के संबंध में सूक्ष्मवित्त जिला प्रबंधक सीमा शुक्ला ने बताया है कि ग्रामीण क्षेत्र की वृद्ध और कम शिक्षित महिलाओं व ग्रामीणों को अब अपने गांव से 40-50 किमी दूर स्थित बैंक जाकर पेंशन व लेनदेन के लिए परेशान नहीं होना पड़ेगा। गांव में ही स्व सहायता समूह की दीदियां ऐसे लोगों को बैंक की सेवाएं प्रदान करेंगी।

जिला परियोजना प्रबंधक शबाना बेगम का कहना है कि 'आजादी का अमृत महोत्सव' के मौके पर राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन, के माध्यम से स्वसहायता समूह को प्रशिक्षित किया गया है। उन्हें बैंकिंग कार्यों के निष्पादन के लिए आवश्यक सामग्री भी उपलब्ध कराई गई है। इसकी सहायता से वो ग्रामीण व कम पढ़ी- लिखी या अशिक्षित बुजुर्ग महिलाओं के बैंकिंग कार्यों में मदद करेंगी। उन्होंने बताया कि जिले की 112 महिला सदस्यों को एनआरएलएम के माध्यम से प्रशिक्षित कर इस कार्य में लगाया गया है। इनके माध्यम से महिलाएं गांवों में कम्युनिटी सर्विस सेंटर का संचालन करेंगी और लोगों को ग्राम स्तर पर ही वित्तीय सेवा, बिजली बिल भुगतान, ई-श्रम पंजीयन कार्य, आयुष्मान कार्ड, पैन कार्ड आदि सुविधाएं भी उपलब्ध कराएंगी।

उन्होंने बताया कि एनआरएलएम के माध्यम से जिले के ऐसे गांव जहां पर लोगों को सुदूर जाकर बैंक की सेवाएं लेनी होती हैं, उनके लिए अब स्व सहायता समूह की महिला दीदी का चयन किया गया है। ये गांव की ही 10 वीं पास महिलाएं हैं। जिला स्तर पर चयनित इन महिलाओं को दो चरण में आरसेटी की मदद से सेंटर के संचालन संबंधी प्रशिक्षण दिला गया है। एनआरएलएम के माध्यम से प्रशिक्षण के बाद 40 महिलाओं को सेंटर के संचालन के लिए आवश्यक डिवाइस भी निःशुल्क उपलब्ध कराई गई है।

Show More
Ajay Chaturvedi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned