मिठाइयां खरीदने से पहले जरूर पढ़ें यह खबर, आपकी सेहत के लिए सरकार ने लिया बड़ा फैसला

मिठाइयों में मैन्युफेक्चरिंग व एक्सपायरी लिखना हुआ अनिवार्य, नियमों का पालन न करने वालों पर होगी सख्त कार्रवाई, फूड विभाग ने अभी नहीं शुरू की जांच

By: balmeek pandey

Published: 06 Oct 2020, 09:15 AM IST

कटनी. चमचमाते शो-केसों सजाकर रखी जाने वाली मिठाई को लेकर अब नया नियम लागू हो गया है। एक अक्टूबर से अब हर मिठाई विक्रेता को मिठाई की ट्रे में मैन्युफेक्चरिंग व एक्सपायरी लिखना अनिवार्य किया गया। खाद्य सुरक्षा को लेकर यह पहल की गई है। बता दें कि शहर में कई कारोबार एक पखवाड़े से अधिक समय तक की बनी मिठाईयों को खपाते रहते थे। लोगों के सेहत के साथ खिलवाड़ न हो इस बात को ध्यान में रखते हुए ऐसा निर्णय लिया गया है। जिलेभर में यह नियम एक अक्टूबर से लागू हो गया है। हालांकि अभी तक खाद्य विभाग ने औचक जांच नहीं की है। दो अक्टूबर को अवकाश व तीन अक्टूबर को वीसी व फिर 4 अक्टूबर को रविवार होने के कारण अवकाश रहा, जिस वजह से शहर व ग्रामीण क्षेत्र की की मिठाई दुकानों की जांच नहीं हो पाई। सोमवार से मिठाई दुकानों की औचक जांच होगी। मनमानी पाए जाने पर कार्रवाई होगी। बता दें कि बेसन मिठाई आठ दिन में, काजू कतली 7 दिन में, खोवा मिठाई 5 दिन में, मिल्क वाली मिठाई 4 दिन में, खोवा बर्फी 3 दिन में, छेना वाली मिठाई एक दिन में खराब हो जाती है। ऐसे में देखकर ही ग्राहकों को मिठाईयां खरीदनी होंगी।

ग्राहक भी रखें सावधानी
मिठाई करोबार पुरानी मिठाईयों को भी खपाने के लिए डेट लिखकर नहीं रहते, ऐसे में कई दिन पुरानी बनी मिठाई को खाने से स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ता है। ऐसे में ग्राहकों को पूरी सावधानी के साथ यह देखना होगा कि जो मिठाई वे खरीद रहे हैं उस ट्रे में वेस्ट विफोर लिखा है कि नहीं। जांच-परख के बाद ही मिठाईयां खरीदें।

इनका कहना है
मिठाई विक्रेताओं के लिए नया नियम लागू किया गया है जो एक अक्टूबर से पूरे जिले में लागू हो गया है। मिठाई की ट्रे में वेस्ट विफोर लिखना अनिवार्य है। ऐसा नहीं करने पर औचक जांच कर कार्रवाई की जाएगी।
डीके दुबे, फूड इंस्पेक्टर।

balmeek pandey Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned