घर से चिठ्ठी लिखकर गायब हुआ था युवक, पैतृक गांव जाकर किया ये काम...

पैतृक गांव के पास फांसी के फंदे पर लटका मिला युवक, निमिया मोहल्ले से परिजनों के नाम चिठ्ठी छोड़कर हुआ था लापता

कटनी. कोतवाली थाना क्षेत्र के निमिया मोहल्ले से चिठ्ठी लिखकर लापता हुए युवक ने अपने पैतृक गांव के पास एक जंगल में एक पेड़ से फांसी लगा ली। एक दिन पहले ही आसपास के लोगों ने उसे घटना स्थल के पास घूमते भी देखा था। निमिया मोहल्ला निवासी कपड़ा विक्रेता रामकरण नामदेव 48 वर्ष 6 नवंबर की सुबह घर से अचानक चला गया था। जाने से पहले उसने परिजनों के नाम दो चिठ्ठी भी छोड़ी थीं। जिसमें से एक में पूरे परिवार से माफी मांगी थी तो दूसरी में अपने पैतृक जमीन व पैसा पत्नी के नाम करने की बात कही थी। जिसके बाद परिजनों ने कोतवाली थाना में उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। पुलिस ने आसपास के थानों में गुमशुदगी के संबंध में सूचना दी थी तो परिजन भी उसकी खोज कर रहे थे। शनिवार की सुबह परिजनों के युवक के खितौली व बम्होरी के बीच जंगल में पेड़ में फांसी लगा लेने की सूचना मिली। मौके पर पहुंचे परिजनों ने मृतक की शिनाख्त रामकरण के रूप में की।

अब बिजली विभाग को सता रही बकाया 25 करोड़ वसूली की चिंता, कर रहे ये काम...

पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर बरही अस्पताल में पीएम कराया और मर्ग कायम कर मामला जांच में लिया है। परिजनों ने बताया कि स्थानीय जनों ने एक दिन पूर्व ही उसे बम्होरी गांव के पास देखा और अनुमान है कि उसने शुक्रवार की रात को ही खुदकुशी कर ली। युवक बीमारी से परेशान था और उसी के चलते वह घर छोड़कर चला गया था।

mukesh tiwari
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned