ऑपरेशन करते-करते डॉक्टर ने ले ली मरीज की जान!, फिर हंगामे के बाद हुआ ये

परिजनों ने डॉक्टरों पर लगाया लापरवाही का आरोप, कोतवाली थाना क्षेत्र का मामला

By: balmeek pandey

Published: 09 Dec 2017, 09:58 PM IST

कटनी. शहर के एक निजी अस्पताल में डॉक्टरों द्वारा बरती गई लापरवाही से एक मरीज की मौत होने का मामला सामने आया है। युवक की मौत पर परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया। सूचना पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और परिजनों का समझाइश देकर शव को कब्जे में लेकर पीएम के लिए भेजा। पुलिस ने मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया है। जानकारी के अनुसार राज किशोर पिता घनश्यामदास विश्वकर्मा 26 निवासी कुशवाहा नगर थाना कुठला कई दिनों से पाइल्स की बीमारी से पीडि़त था। राजकिशोर के भाई रामकिशोर ने बताया कि 12 दिन पहले नई बस्ती स्थित आर हरचंदानी हॉस्पिटल में ऑपरेशन कराने के लिए परिजनों ने भर्ती कराया था। डॉ. आर हरचंदानी द्वारा ४ दिसंबर को उसका ऑपरेशन किया गया। ऑपरेशन के बाद अचानक उसकी तबियत बिगडऩे लगी। डॉक्टर तीन दिन तक मनमाना उपाचार करते रहे। शुक्रवार की रात अचानक और भी गंभीर हो गया। आनन-फानन में डॉ. हरचंदानी ने जमा कराए गए ८ हजार रुपए व १० हजार रुपए अलग से देकर परिजनों को कहा कि अब उसके बस का केस नहीं हैं कहीं और जाकर दिखा लो और वहां से चलता कर दिया।

उपचार के दौरान हो गई मौत
शुक्रवार की रात में उसे गंभीर हालत में चांडक हॉस्पिटल में एडमिट कराया गया। डॉक्टर मनीष गट्टानी उसका उपचार कर रहे थे। उन्होंने उसे जबलपुर ले जाने सलाह दी। शनिवार सुबह 8 बजे उसकी श्वास फूलने लगी और जब डॉ. ने उपचार शुरू किया तभी उसकी मौत हो गई। युवक की मौत पर परिजनों ने हंगामा करना शुरू कर दिया। घटना की जानकारी लगते ही कोतवाली टीआई शैलेश मिश्रा बल के साथ मौके पर पहुंचे और मामले की जांच शुरु की। भाई राजकुमार विश्वकर्मा का आरोप है डॉक्टर हरचंदानी द्वारा उपचार में लापरवाही बरती गई है जिससे उसके भाई की मौत हुई है। पुलिस से मामले की जांच कराते हुए दोषी पर कार्रवाई की मांग की है।

इनका कहना है
गंभीर हालत में उसे भर्ती कराया गया था। पहले से ही उसे रक्तस्त्राव हो रहा था। ऑपरेशन में लापरवाही से नहीं बल्कि खून की कमी के कारण युवक की मौत हो गई है। परिजनों के आरोप निराधार हैं।
डॉ. आर हरचंदानी, ऑपरेशन करने वाला डॉक्टर।
----
युवक की मौत के मामले में बगैर मेडिकल के ऑपरेशन होना प्रतीत हो रहा है। हमारे यहां से डॉ. मनीष ने चेकअप किया है। हालत गंभीर होने पर जबलपुर जाने सलाह दी गई थी। परिजनों के रिक्वेस्ट पर रात में मरीज को रोका गया था। संभवता किडनी फेल होने से उसकी मौत हो गई। मामले में पुलिस को सूचना दी गई है।
डॉ. एसके चांडक, संचालक, चांडक हॉस्पिटल।
-----
युवक की मौत के मामले में परिजनों ने डॉक्टर पर लापरवाही का आरोप लगाया है। पीएम कराकर मर्ग कायम करते हुए मामले की जांच की जा रही है।
शैलेष मिश्रा, टीआई कोतवाली।
------------------------------

balmeek pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned