पॉलीटेक्निक में दूसरी रैंक के छात्र को एडमीशन देने की बजाय दौड़ाता रहा प्रशासन, विधायक पहुंचे तो मचा हड़कंप

एसडीएम के बीच बचाव पर निपटा मामला

By: Sunil Yadav

Published: 20 Jul 2018, 07:11 PM IST

Kaushambi, Uttar Pradesh, India

कौशांबी. ज्योतिबाफूले राजकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज में प्रवेश प्रक्रिया के दौरान गड़बड़ी का मामला सामने आया है। आरोप है कि इलेक्ट्रानिक ट्रेड में प्रवेश के लिए पहुंचे दूसरी रैंक के छात्र के कागजात पूरे न होने पर उसे महज घंटे भर का वक्त दिया गया और कॉलेज से तीस किमी दूर कागजात लेने गए छात्र का वापस लौटते समय एक्सीडेंट हो गया, फिर भी घायल हलत में कॉलेज पहुंचे छात्र को एडमिशन का आश्वासन दे पहले इलाज कराने को कह वापस कर दिया।

 

इसके बाद एडमिशन के लिए छात्र जब अगले दिन पहुंचा तो विभागा अध्यक्ष ने देरी का हवाला देते वापस कर दिया। जिसके बाद छात्र ने मामले की शिकायत क्षेत्रीय विधायक की और विभागा अध्यक्ष से बात भी कराई। आरोप है कि एचओडी ने फोन पर बात करने बाद विधायक को अपशब्द कहे। जिसकी जानकारी होने पर विधायक कॉलेज पहुंच गए और उनका तेवर देख हडकंप मच गया। विधायक ने मामले की शिकायत विभागीय मंत्री व निदेशक से किया। जिसके बाद छात्र का एडमिशन हो सका।

 

सराय अकिल कस्बा निवासी कार्तिक त्रिपाठी बुधावर को राजकीय पॉलीटेक्निक कॉलेज टेवाँ में एडमीशन लेने पहुंचा। इलेक्ट्रानिक ट्रेड में कार्तिक की दूसरी रैंक आई है। काउंसलिंग के समय कार्तिक हाई स्कूल की ओरिजनल मार्क शीट नहीं दिखा सका। जिसपर कॉलेज के प्रिंसिपल ने घंटे भर के अंदर मार्क शीट लाने को कहा। मार्कशीट लेने गए कार्तिक का लौटते वक्त रास्ते में एक्सीडेंट हो गया। कार्तिक के पैर में गंभीर छोटे आई। बावजूद इसके घायल अवस्था में कार्तिक समय के अंदर कॉलेज पहुँच गया। उसकी हालत देख प्रिंसिपल लाल सिंह ने उसे इलाज कराकर बृहस्पतिवार को आने के लिए कहा।

 

कार्तिक का आरोप है कि बृहस्पतिवार को जब वह कालेज पहुंचा तो उसे एचओडी रवीन्द्र कुमार ने बताया कि उसकी जगह दूसरे छात्र का एडमीशन हो गया है। इसके बाद कार्तिक ने अपने पिता से संपर्क कर मामले की शिकायत चायल से भाजपा विधायक संजय गुप्ता से की। संजय गुप्ता ने एचओडी से बात कर छात्र का नियमानुसार एडमीशन करने को कहा। आरोप है कि फोन काटने के बाद एचओडी ने विधायक के लिए अपशब्द कहे। जिसकी जानकारी होने पर विधायक संजय गुप्ता पॉलीटेक्निक कॉलेज पहुँच गए. विधायक के तल्ख तेवर देख कालेज मे हड़कंप मच गया।

 

विधायक का कहना था कि कॉलेज के एचओडी ने मानवता का गला घोटा है। जानकारी पर डीएम ने अतरिक्त मजिस्ट्रेट को भी कॉलेज भेजा। हालांकि विधायक ने मामले की शिकायत विभागीय मंत्री व निदेशक से की। एसडीएम के बीच बचाव के बाद छात्र का एडमीशन इलेक्ट्रानिक ट्रेड मे होने के बाद ही विधायक संजय गुप्ता वहाँ से वापस लौटे। छात्र के एडमीशन मामले पर कॉलेज के प्रिंसिपल लाल सिंह ने कहा कि एचओडी से गलती हुई है हालांकि उन्होंने विधायक को कुछ नहीं कहा। मामले में बीच बचाव करने पहुंचे अटरिक्त मजिस्ट्रेट अनिल कुमार चतुर्वेदी का कहना है कि कुछ भ्रम के कारण विधायक को कॉलेज आना पड़ा। फिलहाल सब कुछ समान्य हो गया है। एडमीशन में किसी तरह की गड़बड़ी न हो इसके लिए वह खुद निगरानी करेंगे।

By- शिवनंदन साहू

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned