सरकारी हैंडपंपों पर आठ लोगों ने कब्जा कर लगा लिया समरसेबिल, सीडीओ ने जमकर फटकारा

सरकारी हैंडपंपों पर आठ लोगों ने कब्जा कर लगा लिया समरसेबिल, सीडीओ ने जमकर फटकारा
गाँव के आठ लोगों द्वारा सरकारी हैंडपंप पर कब्जा किए जाने का खुलासा

Ashish Kumar Shukla | Updated: 03 Feb 2018, 11:20:21 PM (IST) Kaushambi, Uttar Pradesh, India

गाँव के आठ लोगों द्वारा सरकारी हैंडपंप पर कब्जा किए जाने का खुलासा

कौशांबी. जिले के सिराथू तहसील के मोहब्बतपुर पइंसा गाँव मे लगे सरकारी हैंडपंपों पर कब्जा कर उसमे समरसेबिल मोटर डाल दिया गया है| गाँव के आठ लोगों द्वारा सरकारी हैंडपंप पर कब्जा किए जाने का खुलासा उस वक्त हुआ जब मुख्य विकास अधिकारी हीरा लाल निरीक्षण के लिए गाँव पहुँचे थे|

सीडीओ ने फौरन सरकारी हैंडपंप से मोटर हटा उसे मुक्त करने का आदेश जारी किया| सीडीओ ने हैंडपंप पर कब्जा करने वालों को दो टूक चेतावनी दिया है की यदि उन्होने मोटर नहीं निकाला तो उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराया जाएगा| मोहब्बतपुर पइंसा गाँव मे सीडीओ ने चौपाल लगाकर वहाँ के विकास कार्यों का जायजा लेने के लिए गए हुये थे|

गाँव पहुँचे सीडीओ हीरा लाल ने चौपाल से पहले अधिकारियों की टीम बनाकर गाँव मे हुये विकास कार्यों का स्थलीय निरीक्षण का निर्देश दिया| खुद सीडीओ भी गाँव के अंदर पहुँच विकास कार्यों का जायजा ले रहे थे तभी उनकी नजर गाँव मे लगे सरकारी हैंडपंप पर पड़ी जिसमे समरसेबिल मोटर लगी हुई थी| सीडीओ के निरीक्षण मे यह बात सामने आई कि गाँव मे आठ लोगों ने सरकारी हैंडपंप पर कब्जा कर उसमे मोटर डाल रखा है|

सीडीओ ने इस पर नाराजगी जताते हुये सभी आठ लोगों को सख्त चेतावनी दिया कि हाइन्दाप्म्प से मोटर निकलवा दें, यदि ऐसा नहीं किया तो उनके खिलाफ सरकारी संपत्ति पर कब्जा की रिपोर्ट स्थानीय पुलिस थाना मे दर्ज कराई जाएगी| सरकारी हैंडपंप पर कब्जा करने वाले मीडिया के सामने आकार बोलने कतराते है| हालांकि ऐसे लोगों ने प्लमबर कि खोज शुरू कर दिया है जिससे सरकारी हैंडपंप से मोटर निकलवाई जा सके|

कब्जा धारकों की सफाई

सरकारी हैंडपंपों मे समरसेबिल मोटर लगाकर पानी निकालने वाली ग्रामीणों ने सीडीओ को सफाई देते हौते बताया कि उन्होने खुद व आस पास के लोगों के सुविधा के लिए मोटर लगाया है| हैंडपंप मे मोटर लगाए जाने के बाद से ग्रामीणों को जल्द पानी भरने की सुविधा उपलब्ध हो गई है| हालांकि सीडीओ उनके इस तर्क से सहज नहीं हुये और कहा कि सरकारी हैंडपंप मे मोटर डालना गैर कानूनी है इसलिए उसे निकालना ही होगा| फिलहाल इस मामले की किसी ने शिकायत नहीं किया था, सीडीओ की नजर हैंडपंप पर पड़ी तो उन्होने खुद इस पर कार्यवाही किया|

 

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned