गौशाला के आभाव मे घूम रहे आवारा पशु किसानों के लिए बन गये हैं बड़ी मुसीबत, हो रही फसलों की बर्बादी

गौशाला के आभाव मे घूम रहे आवारा पशु किसानों के लिए बन गये हैं बड़ी मुसीबत, हो रही फसलों की बर्बादी

Ashish Shukla | Publish: Sep, 16 2018 02:11:30 PM (IST) Kaushambi, Uttar Pradesh, India

किसानों की फसल कर रहे तहस नहस, भाजपा नेता सीएम से मिलकर करेंगे शिकायत

कौशांबी. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने गोवंश के संरक्षण के लिए भले ही प्रदेश के सभी जनपदों में गोशाला का संचालन कराए जाने के लिए जिलाधिकारी को सख्त निर्देश जारी किये हो लेकिन कौशांबी जिले में आवारा पशुओं (गौवंशों) के लिए एक भी गोशाला नही बनवाया गया है। आलम यह है कि कलेक्ट्रेट से लेकर किसानों के ललहाती फसल तक में ये आवारा पशु छुट्टा घूम रहे है और इन पर लगाम लगाने वाला कोई नही है।

जिले में हो रही इन आवारा पशुओं की तस्करी को लेकर भाजपा काशी प्रान्त किसान मोर्चा के महामंत्री ने सीधे जिला प्रशासन को कठघरे मे खड़ा किया है| गौशाला मामले मे डीएम का कहना है की शासन से बजट आते ही निर्माण काम शुरू कराया जाएगा| सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोवंश प्रेमी है, यह बात जग जाहिर है। सत्ता संभालते ही सीएम ने गोशाला का निरीक्षण करते हुए गोवंशो को अपने हांथो से गुड़ खिलाया था। मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी जनपदों में गोशाला बनाये जाने के लिए जिलाधिकारियों को सख्त निर्देश दिए थे, लेकिन सीएम के सख्त निर्देशो का असर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के गृह जनपद में देखने को नही मिला।

शायद यही वजह है कि किसानों के खेतों मे लहलहाती फसल से लेकर कलेक्ट्रेट तक में यह आवारा पशु छुट्टा घूम रहे है। कहीx ये आवारा पशु किसानों की लहलहाती फसलों को नष्ट कर रहे है तो कहीं सड़को पर वाहनों से टकराकर खुद तो जख्मी हो रहे है और साथ ही राहगीरों को भी जख्मी कर रहे है। इतना ही नही कुछ आवारा पशु ऐसे हिंसक रूप अख्तियार कर चुके है जो लोगो पर हमला कर उन्हें घायल कर रहे हैं| जिले में गोशाला न होने के चलते किसानों की फसलों की हो रही भारी नुकशान व आवारा पशुओं की हो रही तस्करी को लेकर नाराज भाजपा काशी प्रान्त किसान मोर्चा के महामंत्री ओम प्रकाश पासी ने सीधे जिला प्रशासन को जिम्मेदार ठहराया है ।

महामंत्री ने किसानों के साथ डीएम से मिलकर सरकार के मंशा के अनुसार गोशाला बनवाये जाने की मांग की है। इतना ही नही एसपी से बात कर आवारा पशुओं की हो रही तस्करी को एक गंभीर विषय बताते हुए पशु तस्करो के विरुद्ध भी कार्यवाई करने की मांग की है । गोशाला न बनवाये जाने के बाबत मीडिया के सवालों पर जवाब देते हुए जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा ने बताया कि पिछले महीने जिला स्तरीय बैठक में पशु पालन विभाग, वन विभाग व जिला पंचायत को निर्देशित किया गया था कि जिले के सभी विकास खंडो में एक-एक गोशाला का विस्तार किया जाए । इसके लिए कुछ विभागों से जमीन चिन्हित कर प्रस्ताव शासन को भेजा गया है । स्वीकृति मिलने के बाद निर्माण करवा गोशाला का संचालन कराया जाएगा|

Ad Block is Banned