सुहागरात में पति का इंतजार कर रही थी पत्नी, तभी कमरे में घुसा ससुर और फिर...

 सुहागरात में पति का इंतजार कर रही थी पत्नी, तभी कमरे में घुसा ससुर और फिर...
Rape

एक साल तक बंधक बनाकर की गई हैवानियत 

कौशांबी. जिले में सामाजिकता को बेहद शर्मसार करने वाला मामला सामने आया है। पति पत्नी की मिलन की रात से ही ससुर पर बेटी समान बहु से दुष्कर्म करने का आरोप लगा है। पीड़िता बहू का यह भी आरोप है कि पति व सास से शिकायत करने पर उसे चुप रहने को कहा गया। वहीं ससुराल मे ससुर की हैवानियत झेलने वाली पीड़िता जब मायके पहुंची तो उसे वहां भी समाजिकता की दुहाई देकर चुप करा दिया गया। बिरादरी की पंचायत के बाद ससुर ने माफी मांगा तो पीड़िता ससुराल वापस पहुंच गई लेकिन इस बार भी उसके साथ ससुर की हैवानियत जारी रही। पीड़िता का आरोप है कि एक साल तक बंधक बनाकर उसके साथ हैवानियत की गई। अब पीड़िता ने पुलिस अधीक्षक से शिकायत की जिसके बाद एसपी के निर्देश पर करारी पुलिस ने दुराचारी ससुर और सास समेत उसके बेटे के खिलाफ गंभीर धाराओं में मामला दर्ज कर तफ्तीश शुरू की गई है। 



करारी थाना इलाके के रहने वाले एक शख्स ने किसी तरह मेहनत मजदूरी करके अपनी बेटी की शादी जुलाई 2016 में  की थी। बेटी के पिता ने अपने हैसियत के मुताबिक दान दहेज देकर बेटी को विदा किया। बेटी जब ससुराल पहुंची तो शादी की पहली रात को उसके ससुर ने दूल्हे बेटे को एक खास रिश्तेदारी में बारात जाने के लिए भेज दिया। आरोप है कि देर रात नवविवाहिता के कमरे में उसका ससुर घुस गया और बल पूर्वक नव विवाहिता के साथ  बलात्कार को अंजाम दिया। 




घटना को  अंजाम देने के बाद ससुर बहु को किसी से बताने पर जान से मारने की धमकी देकर चला गया। ससुर की दरिंदगी की शिकार नवविवाहिता ने सारी दास्तां सुबह अपने सास से सुनाई, सास ने लोक लाज की बात कहते हुए कहा कि घर की बात घर मे ही रहने दो, मैं अपने पति को समझा दूंगी। दुबारा से आपका ससुर आपके साथ ऐसी घटना को अंजाम नही देगा। नवविवाहिता अपने सास की बात तो मान गयी, लेकिन उसके साथ ससुर द्वारा अत्याचार नही बंद किया गया। ससुर लगातार मौका पाते ही शर्मनाक वारदात को अंजाम देता रहा। नवविवाहिता जब मायके पहुंची तो उसने आप बीती अपने मां और बाप से बतायी। माँ बाप ने अपने तमाम रिश्तेदारों को बुलाया। रिश्तेदारों की पंचायत ने दुराचारी ससुर के मौजूदगी में दुबारा से ऐसी घटना को न अंजाम देने के शर्त पर अपना फैसला सुनाते हुये विवाहिता को ससुराल दुबारा भेज दिया।


विवाहिता जब फिर ससुराल पहुंची तो कुछ दिनों तक सब ठीक ठाक गुजरा, उसके बाद फिर वही शर्मनाक वारदात को दुराचारी ससुर बेखौफ होकर दोहराने लगा। विवाहिता अपने ससुर के धमकियों के डर वश लगभग एक साल तक जुल्म सहती रही। आखिरकार विवाहिता अत्याचार सहने का बोझ नहीं सह सकी तो वो फिर से अपने माँ बाप को सारी दास्तां बताई। मां-बाप पीड़िता को लेकर करारी थाने पहुंचे तो पुलिस ने पीड़िता की फरियाद सुनने के बजाय उसे थाने से भगा दिया। इसके बाद पीड़िता अपनी फरियाद लेकर एसपी से मिली, एसपी के फटकार के बाद करारी पुलिस ने दुराचारी ससुर, सास और पति के खिलाफ आईपीसी की धारा 376, 504, 506, 323 के तहत मामला दर्ज कर तफ्तीश शुरू कर दिया है। 
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned