सड़क हादसों का असली गुनाहगार कौन?

सड़क हादसों का असली गुनाहगार कौन?
सड़क हादसों का असली गुनाहगार कौन?

Ashish Kumar Shukla | Updated: 14 Jun 2019, 11:00:46 PM (IST) Kaushambi, Kaushambi, Uttar Pradesh, India

72 घंटे में दो परिवार के आठ लोगों समेत दस की हुई मौत

कौशाम्बी. जनपद की सीमा से गुजरने वाला नेशनल हाईवे टू हादसों का हाईवे बन गया है। पिछले अड़तालीस घंटे में हुए अलग-अलग सड़क दुर्घटनाओं में दो परिवार के आठ लोगों समेत अब तक दस लोगों की मौत हो चुकी है। इन सड़क हादसों में एक पूरा परिवार ही खत्म हो गया। सवाल यह कि इन हादसों का जिम्मेदार आखिर कौन है? आए दिन हो रहे इन सड़क हादसों पर रोक कब लगेगी। कौशांबी जनपद की उत्तरी सीमा से गुजरने वाली नेशनल हाईवे टू का लगभग पचास किलोमीटर का दायरा है। अति व्यस्ततम इस सड़क पर आए दिन हादसे होते रहते हैं।

पिछले अड़तालीस घंटों में हुए हादसों ने लोगों को झकझोर कर रख दिया। बुधवार की शाम कोखराज थाना क्षेत्र के ककोढ़ा गांव के नजदीक ट्रक की टक्कर से बाइक सवार एक परिवार के पांच लोगों की मौत हो गई। इस हादसे में पूरा का पूरा परिवार मौत की आगोश में समा गया। यह हादसा यातायात नियमों की अनदेखी के चलते हुआ। बाइक में टक्कर मारने वाला ट्रक गलत साइड से जा रहा था। बाइक में पांच लोगों का सवार होना भी यातायात नियमों का खुला उल्लंघन है। इस घटना को चौबीस घंटे बीते थे कि कोखराज थाना क्षेत्र में ही रोही बाईपास के नजदीक जाइलो कार की टक्कर से बाइक सवार पिता व बेटे-बेटी की मौत हो गई। इस हादसे में परिवार के दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं।

कोखराज थाना क्षेत्र में हुए सड़क हादसे को चौबीस घंटे भी नहीं बीते कि सैनी कोतवाली क्षेत्र के कमासिन गांव के नजदीक नेशनल हाईवे टू पर तेज रफ्तार बस ने बाइक सवार को रौंद दिया। जिसमें एक युवक की मौत हो गई व एक युवक गंभीर रूप से घायल हो गया। पुलिस अभी मामले में मृतक के शव को पोस्टमार्टम भेजने की तैयारी कर ही रही थी, तभी सैनी कोतवाली के केसरिया गांव के नजदीक अनियंत्रित बोलेरो जीप ने सड़क किनारे खड़े बाइक सवार युवक को रौंद दिया। युवक की मौत के बाद गुस्साए ग्रामीणों ने नेशनल हाईवे टू पर जाम लगा दिया। आक्रोशित ग्रामीणों को समझाने के लिए एसडीएम, सीओ सहित कई थानों की पुलिस को मौके पर जाना पड़ा।

घंटे भर की मशक्कत के बाद नाराज ग्रामीणों को समझा-बुझाकर जाम खत्म कराया गया। इन हादसों के बाद सबसे अहम सवाल यह कि दुर्घटनाओं का असली जिम्मेदार कौन है? एक ही बाइक में पूरे परिवार को लेकर चलना कहां तक उचित है? उप संभागीय परिवहन अधिकारी शंकर जी सिंह का कहना है सड़क दुर्घटनाएं यातायात नियमों की अनदेखी के चलते होते हैं। दो पहिया वाहन से लेकर चार पहिया व अन्य बड़े वाहन चालकों को यातायात नियमों का पालन करना चाहिए। इससे सड़क हादसों पर रोक लगाई जा सकती है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned