प्रदेश के 13 हजार संविदा स्वास्थ्य कर्मचारियों ने दी हड़ताल की चेतावनी, नियमितीकरण नहीं होने से फूटा गुस्सा

राज्य शासन से अपनी मांगों को लेकर संविदा कर्मचारियों ने सांसद, कलेक्टर और सीएमएचओ को ज्ञापन सौंपा। वहीं अपनी मांगों को पूरा कराने के लिए हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है।

By: Dakshi Sahu

Published: 15 Sep 2020, 11:36 AM IST

कवर्धा. जिले के स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत एनएचएम कार्यक्रम के सभी कर्मचारियों ने हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है। राज्य शासन से अपनी मांगों को लेकर संविदा कर्मचारियों ने सांसद, कलेक्टर और सीएमएचओ को ज्ञापन सौंपा। वहीं अपनी मांगों को पूरा कराने के लिए हड़ताल पर जाने की चेतावनी दी है।

कर्मचारियों ने कहा है कि कांग्रेस की सरकार ने विधानसभा चुनाव 2018 के जन घोषणा पत्र में अनियमित कर्मचारियों को नियमितीकरण का वादा किया गया था। इस पर अब तक पहल नहीं की है। वहीं हाल ही में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण विभाग द्वारा विज्ञापन जारी कर 2100 विभिन्न नियमित पदों पर भर्ती करने की प्रक्रिया आरम्भ की गई है। इससे राज्य भर के लगभग 13 हजार स्वास्थ्य संविदा कर्मचारियों में रोष है।

जिले में 252 संविदा कर्मचारी
कोरोना काल में स्वास्थ्य विभाग के 252 संविदा कर्मचारी अपने जान की परवाह किए बिना कंधे से कंधा मिलाकर सेवाएं दे रहे हैं। इस दौरान बहुत से संविदा चिकित्सक व कर्मचारी कोरोना की चपेट में भी आए हैं। वहीं इनके हड़ताल पर चले जाने से जिले में स्वास्थ्य विभाग की पूरी व्यवस्था ही बिगड़ जाएगी।

नहीं दी जा रही सुविधाएं
शासन द्वारा संविदा स्वास्थ्यकर्मियों से भरपूर कार्य लिया जाता है लेकिन सुविधाओं के नाम पर कुछ नहीं दिया जाता है। इसी प्रकार व्यापक वेतन विसंगतियों के बावजूद संविदा कर्मी अपनी सेवाएं देने के लिए मजबूर हैं। इनका कहना है कि सरकार को अपने वादा के अनुसार संविदा कर्मचारियों को नियमित पदों पर समायोजन किया जाना चाहिए।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned