229 कर्मचारियों को करेंगे बर्खास्त ?

229 कर्मचारियों को करेंगे बर्खास्त ?

Yashwant Kumar Jhariya | Publish: Sep, 06 2018 04:49:57 PM (IST) Kawardha, Chhattisgarh, India

हड़ताली स्वास्थ्यकर्मियों को कार्य पर लौटने के लिए किया नोटिस जारी

कवर्धा . स्वास्थ्य कर्मचारियों के हड़ताल से जिले में स्वास्थ्य सुविधा काफी प्रभावित हो रही है। इसके चलते प्रशासन ने ६ सितंबर को केवल २४ घंटे का मौका दिया है। इसके बाद भी सेवारत कर्मचारी वापस नहीं होते तो सीधे बर्खास्तगी की कार्रवाई की जाएगी।
जिले के विभिन्न स्वास्थ्य केंद्रों में पदस्थ २४९ महिला-पुरुष स्वास्थ्य कार्यकर्ता, पर्यवेक्षक और खण्ड विस्तार प्रशिक्षकों द्वारा 1 अगस्त से अपनी मांगों को लेकर अनिश्चित कालीन हड़ताल किया जा रहा है। पूर्व में स्वास्थ्य संचालक द्वारा संगठन को हड़ताल पर न जाने सम्बन्धी पत्र भी जारी किया गया। इसके बाद भी उक्त आंदोलन किया जा रहा है। जिले के स्वास्थ्य कर्मचारियों को 3 सितम्बर को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. केके गजभिए द्वारा नोटिस जारी कर तत्काल कार्य पर लौटने कहा गया। नोटिस के बाद भी किसी कर्मचारी द्वारा कार्य पर उपस्थिति नहीं दी गई। इसके चलते कलक्टर अवनीश कुमार शरण द्वारा समस्त आंदोलनरत स्वास्थ्य कर्मचारियों को नोटिस देकर 24 घण्टे के भीतर सेवा पर वापसी करने अथवा बर्खास्तगी के लिए तैयार रहने की चेतावनी दी गई है।

लगाया एस्मा
उक्त नोटिस में कहा गया है कि 27 अगस्त को छत्तीसगढ़ गृह विभाग के आदेश द्वारा छत्तीसगढ़ अत्यावश्यक सेवा संधारण तथा विच्छिन्नता निवारण अधिनियम 1979( क्रमांक 10 सन् 1979) की धारा 4 की उपधारा(1) द्वारा प्रदत्त शक्तियों को प्रयोग में लाते हुए राज्य सरकार द्वारा इस आदेश के जारी किए जाने की तारीख से अत्यावश्यक सेवाओं में कार्य करने से इंकार किए जाने का प्रतिषेध किया गया है।
और दे चुके हैं नोटिस
चूंकि ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक महिला-पुरुष, स्वास्थ्य पर्यवेक्षक और खण्ड विस्तार प्रशिक्षक सीधे आम जनता के स्वास्थ्य समस्याओं से जुड़े कर्मचारी हैं अत: इन्हें तत्काल सेवा पर वापसी के लिए सीएमएचओ द्वारा नोटिस जारी किया गया था। इसके बावजूद कार्य पर वापसी नहीं आना शासकीय सेवा न करने की मंशा की दर्शाता है। इसके लिए अनुशासनात्मक कार्रवाई आवश्यक है। नोटिस में आगे कहा गया है कि किसी भी माध्यम से पत्र प्राप्ति के 24 घण्टों के भीतर सेवा पर वापसी न करने वाले कर्मचारियों की सेवा बर्खास्त कर दी जाएगी और इसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी व जवाबदारी स्वयं उक्त कर्मचारी की होगी।
केवल 20 ही वापसी
जिले के 249 स्वास्थ्य कर्मचारी हड़ताल का समर्थन कर आन्दोलनरत थे। कलक्टर द्वारा नोटिस थमाए जाने के उपरांत अब तक 20 कर्मचारियों ने सेवा वापसी कर ली है। आज की तारीख तक 10 कर्मचारियों द्वारा जॉइनिंग किए जाने की सूचना विकासखण्ड स्तर पर प्राप्त हुई है।
डॉ.केके गजभिए, सीएमएचओ, कबीरधाम

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned