8 नग सिलपट जब्त, 4 तस्कर को जेल भेजा

वन विकास निगम द्वारा कार्रवाई करते हुए लकड़ी तस्करों को पकड़ा जा रहा है। शुक्रवार को चार आरोपियों से 8 सिलपट जब्त किया। वहीं आरोपियों को जेल भेज दिया गया।

By: Yashwant Jhariya

Updated: 03 Mar 2019, 11:59 AM IST

कवर्धा . वन विकास निगम द्वारा लगातार कार्रवाई करते हुए लकड़ी तस्करों को पकड़ा जा रहा है। शुक्रवार को फिर चार आरोपियों से 8 सिलपट जब्त किया। वहीं आरोपियों को जेल भेज दिया गया। बोड़ला ब्लॉक के सिंघारी व बोड़ला वन परिक्षेत्र की संयुक्त टीम द्वारा जंगल में होने वाली अवैध कटाई व लकड़ी के अवैध परिवहन रोकने गस्त की जा रही है। शुक्रवार इसी गस्त के दौरान चितराखन पटेल भलपहरी को पकड़ा। यह मुड़घुसरी से 2 नग सागौन खरीद कर ला रहा था। पूछताछ में उसने भांचा के घर से सिलपट खरीदना बताया। फिर उडऩदस्ता टीम ने उसके बताऐ पते पर छापा मारा। वहां पर राजेश पटेल और रतिराम पटेल के घर से 6 सिलपट बरामद किया। इनसे पूछताछ किया तो सागौन तस्कर मेलूवा गोंड मुड़घुसरी का नाम बताया। वन अमला की टीम ने मेलूवा गोंड से घर से उसे गिरफ्तार किया। मेलूवा गोंड आदतन अपराधी है। वह पहले भी चीतल हत्याकांड में जेल जा चुका है। सभी ने अपना अपराध स्वीकार। आरोपियों के विरूद्ध लोक सम्पति हानि निवारण अधिनियम 1984 के तहत जेल भेजा। उडऩदस्ता टीम में प्रभारी रेंजर नवीन कश्यप बोड़ला, रेंजर सुदीप वर्मा सिंघारी, डिप्टी रेंजर देवेंद्र चौबे, निरंजन काम्बले,गनपत नेताम व चौकीदार शामिल रहे।

बारी-बारी बेच रहा
कुछ दिन पूर्व बोड़ला व सिंघारी रेंज में बड़ी संख्या में सागौन की अवैध कटाई हुई थी। उस मामले में दो बीट गार्ड निलंबित हुए जबकि दो रेंजर का तबादला किया गया। यहां पर जो आरोपी पकड़ाए उन्होंने ही उक्त सागौन की कटाई की थी, जिसके सिलपट तैयार कर बारी-बारी बेच रहा है।
वर्सन...
गस्त करने के दौरान ही सिलपट ले जाते हुए एक ग्रामीण को पकड़ा। इसके बाद मुख्य तस्कर भी पकड़ाया गया। कुल 8 सिलपट व एक मोटरसाइकिल जब्त किया गया। चारों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।
देवेन्द्र चौबे, डिप्टी रेंजर, वन विकास निगम बोड़ला

Yashwant Jhariya Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned