scriptBJP people took to the road against the order of the state government | राज्य शासन के आदेश के खिलाफ सड़क पर उतरे भाजपाई | Patrika News

राज्य शासन के आदेश के खिलाफ सड़क पर उतरे भाजपाई

धरना, आंदोलन, प्रदर्शन और रैली पर राज्य सरकार के गृह विभाग की तरफ से जारी नए आदेश के खिलाफ प्रदेशभर में भाजपा द्वारा जेल भरो आंदोलन किया गया। इसी क्रम में जिला भाजपा द्वारा इस आदेश को मिनी इमरजेंसी की संज्ञा देते अंबेडकर चौक पर भाजपाईयों ने प्रदर्शन किया।

कवर्धा

Updated: May 17, 2022 01:51:07 pm

कवर्धा.
राज्य सरकार ने धरना प्रदर्शन और जुलूस करने के लिए प्रशासन से अनुमति लेना अनिवार्य कर दिया है जिसे भारतीय जनता पार्टी काला कानून कहते हुए अपना विरोध जता रही है। इसे लेकर प्रशासन से अनुमति लिए बगैर ही १६ मई को प्रदेशभर प्रदर्शन हुए। प्रदर्शन को लेकर भाजपाईयों ने कवर्धा में शाम करीब ४ बजे अंबेडकर चौक पर एकत्रित होकर धरना देते आंदोलन का बिगुल फूं का।
धरना उपरांत रैली की शक्ल मेंं कलेक्ट्रेट घेराव करने निकले कार्यकर्ताओं को पुलिस प्रशासन द्वारा सरदार पटेल मैदान के पास ही रोक दिया। इस दौरान भाजपाईयों और पुलिस के बीच जमकर झूमाझटकी भी हुई। आखिरकार मैदान में अस्थाई खुली जेल में करीब २५० से ३०० भाजपाईयों ने गिरफ्तारी दी। इस दौरान पूर्व विधायक मोतीराम चंद्रवंशी, जिला पंचायत सदस्य रामकुमार भट्ठ, विजय शर्मा, देवकुमारी चंद्रवंशी, भावना बोहरा, वीरेंद्र साहू, क्रांति गुप्ता, अजीत चंद्रवंशी, रामकृष्ण साहू, गोपाल साहू, विजय लक्ष्यमी तिवारी सहित भाजपा के पदाधिकारी, कार्यकर्ता बड़ी संख्या में मौजूद रहे। वहीं भाजपा जिलाध्यक्ष अनिल सिंह ने कहा कि लोकतांत्रिक मूल्य देश व समाज की प्रगति के बेहतर मानक होते हंै जो समाज को सर्वसमावेशी और न्यायिक बनाते हैं। धरना, प्रदर्शन, आंदोलन आदि पर रोक लगाने छत्तीसगढ़ की डरी हुई सरकार द्वारा काला कानून लाकर छत्तीसगढ़ में लोकतंत्र की हत्या का प्रयास किया गया है जिसका हम भाजपाई पुरजोर विरोध करते हैं।
राज्य शासन के आदेश के खिलाफ सड़क पर उतरे भाजपाई
राज्य शासन के आदेश के खिलाफ सड़क पर उतरे भाजपाई
आपातकाल परिस्थिति पैदा करने की कोशिश
धरना स्थल पर उपस्थित जनों को संबोधित करते हुए राजनांदगांव लोकसभा क्षेत्र के सांसद संतोष पांडे ने कहा कि यह सिर्फ भाजपा का नहीं, आम जनता का आंदोलन है। कांग्रेस की सरकार प्रदेश की जनता से उनके मौलिक अधिकारों को छीनकर 1977 के आपातकाल वाली परिस्थिति पैदा करने की कोशिश कर रही है जिसे किसी भी कीमत में सफल नहीं होने दिया जाएगा। वहीं पूर्व सांसद अभिषेक सिंह ने कहा कि हर मुद्दे पर फेल हो चुकी राज्य की कांग्रेस सरकार अपने आप को चारों तरफ से घिरा हुआ पाकर ऐसे आदेश जारी कर रही है जिससे छत्तीसगढ़वासियों की अभिव्यक्ति की आजादी को छीना जा सके।
कार्यकर्ता-पुलिस के बीच झूमा झटकी
रैली जब कलेक्टर की ओर बढ़ी तो पुलिस ने उन्हें रोक दिया ताकि वह सीधे सरदार पटेल मैदान पहुंचे। इसे लेकर विरोध शुरू हुई और कार्यकर्ता व पुलिस जवानों के बीच झूमाझटकी होती रही। जबकि जनप्रतिनिधि व नेता पीछे रहे। यह केवल औपचारिक रूप से गिरफ्तारी देने के लिए ही पहुंचे। वैसे हर प्रदर्शन में यही होता है कि नेता पीछे ही रहते हैं उनके लिए कार्यकर्ता लड़ाई लड़ते हैं।
तगड़ी व्यवस्था
प्रदर्शन के दौरान कोई भी घटना घटित हो सकती है इसी आशंका के चलते जिला पुलिस ने तगड़ी व्यवस्था रखी। जिले के सभी थाना से टीआई व पुलिस जवानों को बुलाया गया। वहीं रिजर्व बल भी मौजूद रहा। शहर के प्रमुख चौक चौराहों पर भी पुलिस तैनात किए गए थे। जगह-जगह बेरिकेट्स लगा गए थे, ताकि किसी भी तरह स्थिति बनती है तो उससे निपटा जा सके।
जाम में फंसे रहे लोग
भाजपा के आंदोलन रूपी प्रदर्शन के चलते आम जनता को भी काफी परेशानी उठानी पड़ी। नगर के अंबेड़कर चौक पर दोपहर को ही पुलिस बेरिकेट्स लगा चुके थे जिसके कारण इस मार्ग से आम जनता के लिए आवागमन बंद कर दिया गया। इसके चलते उन्हें राजमहल चौक होते हुए कलेक्ट्रेट मार्ग या फिर बस स्टैण्ड होते हुए जाना पड़ा। इस प्रदर्शन की आम जनता को कोई जानकारी नहीं जिसके कारण वह भटकने को मजबूर हुए। इसके बाद शाम को जब भाजपाईयों का प्रदर्शन खत्म हुआ तो अंबेडकर चौक से राजमहल चौक तक जाम लग गया। बड़ी संख्या में वाहनों की कतार लग गई। काफी मशक्कत और करीब आधे घंटे बाद रास्ता साफ हो सका।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: खतरे में MVA सरकार! समर्थन वापस लेने की तैयारी में शिंदे खेमा, राज्यपाल से जल्द करेंगे संपर्क?Maharashtra Political Crisis: एकनाथ शिंदे की याचिका पर SC ने डिप्टी स्पीकर, महाराष्ट्र पुलिस और केंद्र को भेजा नोटिस, 5 दिन के भीतर जवाब मांगाMaharashtra Political Crisis: सुप्रीम कोर्ट से शिंदे खेमे को मिली राहत, अब 12 जुलाई तक दे सकते है डिप्टी स्पीकर के अयोग्यता नोटिस का जवाब"BJP से डर रही", तीस्ता की गिरफ़्तारी पर पिनाराई विजयन ने कांग्रेस की चुप्पी पर साधा निशानाअंबानी परिवार की सुरक्षा को लेकर सुप्रीम कोर्ट कल करेगा सुनवाई, जानिए क्या है पूरा मामलाMumbai News Live Updates: सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर एकनाथ शिंदे ने कहा- यह बालासाहेब के हिंदुत्व और आनंद दिघे के विचारों की जीत हैMaharashtra Political Crisis: शिंदे खेमा काफी ताकतवर, उद्धव ठाकरे के लिए मुश्किल होगा दोबारा शिवसेना को खड़ा करनासचिन पायलट बोले-गहलोत मेरे पितातुल्य, उनकी बातों को अदरवाइज नहीं लेता
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.