छग पाठ्य पुस्तक निगम ने बदली किताबें अब नहीं चलेगी पिछले साल की पुस्तकें

छग पाठ्य पुस्तक निगम ने बदली किताबें अब नहीं चलेगी पिछले साल की पुस्तकें

Yashwant Kumar Jhariya | Publish: Apr, 17 2019 11:41:55 AM (IST) | Updated: Apr, 17 2019 11:41:56 AM (IST) Kawardha, Kabirdham, Chhattisgarh, India

छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम द्वारा इस शिक्षासत्र से पहली से आठवीं तक के एक-एक विषयों के किताबों में बदलाव किया गया है। अधिकतर कक्षाओं में गणित मुख्य रूप से बदले गए हैं, लेकिन निजी स्कूल में अब भी पुरानी किताबों से ही पढ़ाई चल रही है।

कवर्धा . इस शिक्षासत्र से पहली से आठवीं तक की किताबों में फेरबदल हो चुका है। इसके चलते अब पुरानी किताबे नहीं चलेंगी। हालांकि सभी किताब नहीं बदली हर कक्षा में एक विषय के ही किताब बदले गए हैं।
छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम द्वारा इस शिक्षासत्र से पहली से आठवीं तक के एक-एक विषयों के किताबों में बदलाव किया गया है। अधिकतर कक्षाओं में गणित मुख्य रूप से बदले गए हैं, लेकिन निजी स्कूल में अब भी पुरानी किताबों से ही पढ़ाई चल रही है। चूंकि शासन ने अब पहली से १०वीं तक शिक्षा नि:शुल्क कर दिया है। चाहे वह निजी स्कूल हो या फिर शासकीय स्कूल, कक्षा १०वीं तक की किताबें शासन द्वारा मुहैया कराई जाएगी। निजी स्कूल में नए शिक्षासत्र की पढ़ाई मुख्य परीक्षा के बाद शुरू कर दिया गया, वहीं किताब बदलने की सूचना सभी स्कूल प्रबंधन, प्राचार्य व प्रधानपाठकों को दी चुकी है। लेकिन किताबों में बदलाव की जानकारी शिक्षकों को नहीं दी गई, जिसके कारण बच्चों को पुरानी किताबों से पढ़ाई कराया जा रहा है।

यह किताब बदले गए
हिन्दी माध्यम की कक्षा पहली से पांचवीं तक गणित पूरी तरह से बदला जा चुका है। इसी तरह कक्षा छठवीं की सामाजिक विज्ञान भाग दो, सातवीं की गणित और कक्षा आठवीं की छत्तीसगढ़ भारती में बदला गया है। इसी तरह अंग्रेजी माध्यम स्कूल के लिए भी कक्षा पहली से पांचवीं तक गणित बदल चुका का है। वहीं कक्षा पांचवीं में इन्वायरमेंट, छठवीं में सोशल साइंस पार्ट २, सातवी में गणित और आठवीं में सप्लीमेंटी रीडर में परिवर्तन किया जा चुका है।

मई से जून तक करेंगे वितरण
इस वर्ष अप्रैल में किताबों का वितरण नहीं किया जा रहा, क्योंकि अब १६ जून से ही शिक्षासत्र माना जाएगा। इसलिए किताबों का वितरण मई-जून में ही करेंगे। वहीं अभी तक करीब ६० प्रतिशत किताब ही कवर्धा के छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम भंडार में पहुंचे हैं। जैसे ही ४० प्रतिशत और आ जाएगी तो विरतण शुरू करेंगे।

दो जिले में ३.७९ लाख किताब बांटेंगे
कवर्धा के छत्तीसगढ़ पाठ्यपुस्तक निगम भंडार से केवल कबीरधाम के लिए बल्कि बेमेतरा जिले के भी किताब वितरण किया जाएगा। दोनों जिले के लिए कुल तीन लाख ७९ हजार किताबों की आवश्यकता है। इसमें कक्षा पहली से पांचवीं तक ४०-४० हजार, छठवीं से आठवीं तक ३८-३८ हजार, नौवीं में ४० हजार और कक्षा दसवीं के लिए ३५ हजार किताबों को वितरण किया जाएगा।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned