गर्लफ्रेंड ने दूसरे लड़के से सगाई की तो बॉयफ्रेंड को नहीं हुआ बर्दाश्त, फिर दोस्तों के साथ बनाया ये मास्टर प्लान और...

गर्लफ्रेंड ने दूसरे लड़के से सगाई की तो बॉयफ्रेंड को बर्दाश्त नहीं हुआ और फिर अपने दोस्तों के साथ मिलकर प्रेमिका के होने वाले पति की हत्या की।

By: Deepak Sahu

Updated: 06 Feb 2019, 02:33 PM IST

कवर्धा . छत्तीसगढ़ में एक ऐसा मामला सामने आया है जहां एक गर्लफ्रेंड ने दूसरे लड़के से सगाई की तो बॉयफ्रेंड को बर्दाश्त नहीं हुआ और फिर अपने दोस्तों के साथ मिलकर पहले तो प्रेमिका के होने वाले पति की हत्या की। फिर सबूत मिटाने के लिए जला दिया। यह घटना कबीरधाम का है जबकि मृतक बेमेतरा जिले का कई ।

मिली जानकारी के अनुसार जंगल में बीट गार्ड ने 4 फरवरी की शाम को जला शव देखा। दूसरे दिन इसकी सूचना थाने में दी गई। इसके सिंघनपुरी थाना में हत्या का मामला दर्ज कर जांच की गई। अन्य जिले के थानों में सूचना दी तो पता चला कि बेमेतरा जिले के थाना खम्हरिया में एक युवक के अपहरण की रिपोर्ट दर्ज कराया गया है। बेमेतरा और कवर्धा पुलिस ने छानबीन की तो पता चला कि शव थान खम्हरिया थाना अंतर्गत ग्राम सिंघनपुरी निवासी चेतन पिता फेरु यादव (23) की है। सिंघनपुरी थाना में धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर डायरी थान खम्हरिया थाना दे दिया, क्योंकि मामला वहीं का है। शव का पीएम करने के बाद परिजनों को सौंपा दिया। ग्राम सिंघनपुरी में युवक का अंतिम संस्कार किया गया।

 

murder news

जानकारी के अनुसार युवक का अपहरण किया गया है। वहीं सुतियापाठ में मिले शव के सिर पर गंभीर चोट के निशान हैं। ग्रामीणों के अनुसार मामला प्रेमप्रसंग का है। युवक की सगाई कबीरधाम के किसी गांव में हुई थी। आशंका जताई जा रही है युवती का प्रेमी ही चेतन को ले गया। जंगल में उसकी हत्या की फिर साक्ष्य छुपाने के लिए शव को जला दिया गया। सूत्रों के अनुसार मामले में छह संदिग्ध युवक को बेमेतरा पुलिस ने पूछताछ के लिए गिरफ्तार किया है।

 

पुलिसकर्मी बनकर किया अपहरण
थाना के ग्राम सिंघनपुरी में चेतन यादव घर 03 फरवरी को रात्रि 9.30 बजे में परिवार वाले खाना खाकर घर अंदर आराम कर रहे थे। इसी दौरान तीन लोग पुलिस की वर्दी में पहुंचे। उन्होंने कहा कि थानखम्हरिया थाना के सोना चोरी के मामले में चोरों को पकड़े हैं। पूछताछ करने पर चेतन यादव का भी नाम लिया है। इसलिए चेतन यादव से पूछताछ करने के लिए थाना लेकर जाना है। पूछताछ कर एक घन्टे के बाद वापस लाकर छोड़ देंगे। परिजनों को हाथ से लिखा हुआ इकरारनामा पत्र दिए और तीनों व्यक्ति चेतन यादव को अपने साथ मोटरसाइकिल से ले गए।

जब थाने पहुंचे परिजन
चेतन के वापस नहीं आने पर उसके के बाद उसका भाई हीरा यादव, मुकेश यादव, गांव के घनश्याम थानखम्हरिया थाना पहुंचे। वहां पर पता चला कि चेतन को यहां लाया ही नहीं गया है। इस पर परिजनों को पूर्ण शंका हो गई चेतन को अपहरण कर ले गए। इसके बाद हीरालाल ने अपने भाई के फर्जी पुलिस बनकर तीन लोगों द्वारा अपहरण करने का मामला दर्ज कराया।

Show More
Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned