भाई ने अपनी प्रेमिका के साथ मिलकर बहन के ब्वायफ्रेंड का गला घोंटा, आपत्तिजनक स्थिति में देखकर रची थी सजिश

भाई ने प्रेमिका के साथ मिलकर अपनी बहन के प्रेमी की हत्या की। मामले में दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। सहसपुर लोहारा थाना अंतर्गत ग्राम अचानकपुर के खेत में अज्ञात युवक का शव मिला था।

By: Dakshi Sahu

Published: 09 Jan 2021, 01:02 PM IST

कवर्धा. चार दिन पूर्व हुए अंधे कत्ल की गुत्थी को सहसपुर लोहारा पुलिस ने सुलझा ली है। इसमेंं पुलिस ने खुलासा किया कि भाई ने प्रेमिका के साथ मिलकर अपनी बहन के प्रेमी की हत्या की। मामले में दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। सहसपुर लोहारा थाना अंतर्गत ग्राम अचानकपुर के खेत में अज्ञात युवक का शव मिला था। पुलिस ने मर्ग कायम कर जांच में लिया। मृत युवक की पहचान ग्राम बम्हनी निवासी गिरधर पिता शिवलाल कौशिक(18) के रूप में हुआ। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सोनी ने बताया कि पोस्टमार्टम कराए जाने पर गला घोंटकर हत्या करना पाया गया। इसके बाद मामले में तफ्तीश शुरू की।

थाना प्रभारी सहसपुर लोहारा निरीक्षक अनिल शर्मा के नेतृत्व में विशेष टीम गठित किया। घटनास्थल से प्राप्त साक्ष्यों व मृतक गिरधर कौशिक के संबंध में प्राप्त जानकारी के आधार पर व्यक्तियों से पूछताछ किया। इसमें संदेही अनिल कौशिक और लक्ष्मी पाली से कड़ाई व बारिकी से पूछताछ करने पर घटना को अंजाम किया जाना स्वीकार किया। आरोपियों के निशानदेही पर घटना में प्रयुक्त गमछा और चाकू को ग्राम अचानकपुर के नाला में फेंक दिया, जिसे बरामद किया गया। दोनों आरोपी को धारा 302 के तहत गिरफ्तार कर रिमांड पर भेजा गया।

आरोपी ने की प्लानिंग, फंसाया प्रेमजाल में
आरोपी अनिल कौशिक ने पुलिस को बताया कि करीब 2 माह पूर्व मृतक गिरधर कौशिक को अपनी बहन के साथ आपत्तिजनक स्थिति में देखा था। तब से गिरधर कौशिक से आक्रोशित होकर बदला लेने की फिराक में था। इसके लिए आरोपी अनिल ने प्लान बनाया। दो बच्चों की मां अपनी प्रेमिका लक्ष्मी पाली को मृतक गिरधर कौशिक को प्रेमजाल में फंसाए जाने के लिए बोला। लक्ष्मी पाली द्वारा अपने प्रेमी अनिल कौशिक द्वारा बनाए गए षडयंत्र मुताबित मृतक गिरधर कौशिक को अपने प्रेमजाल में फंसाया।

गले में चाकू मारा
प्लानिंग अनुसार घटना के दिन लक्ष्मी पाली ने गिरधर को मिलने के लिए ग्राम अचानकपुर में खेत में बुलाया। अनिल कौशिक पहले से ही घटनास्थल के आसपास मौजूद था। मृतक गिरधर कौशिक द्वारा लक्ष्मी पाली के बताए गए स्थान पर पहुंचने पर अनिल कौशिक और लक्ष्मी पाली द्वारा मिलकर मृतक गिरधर कौशिक को जमीन में पटककर कर गिरा दिया। अनिल ने अपने पास रखे गमछा से मृतक के गले को घोंट दिया और लक्ष्मी ने मृतक के पैर को पकड़कर रखा। अनिल कौशिक ने अपने पास रखे चाकू से उसका गला रेत दिया।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned