छत्तीसगढ़ के राजकीय पशु वन भैंसा को मारा तीर, तीन बैगा आदिवासी गिरफ्तार

वनरक्षक और चौकीदार नेउर जंगल में वन भैसा की निगरानी कर रहे हैं। तीर निकालने के लिए रायपुर की टीम का इंतजार है। (Kawardha News)

By: Dakshi Sahu

Published: 01 Mar 2020, 11:10 AM IST

कवर्धा. पंडरिया के पश्चिम क्षेत्र के जंगल ग्राम नेउर में शुक्रवार को शाम वनभैंसा (CG state animal forest buffalo ) को तीर लगा देखा गया। वनरक्षक और चौकीदार को नेउर जंगल भेजा गया। शनिवार की शाम तक वनभैंसा के शरीर से तीर को नहीं निकाला जा सका। ग्रामीणों की सूचना पर शुक्रवार को ही डिप्टी रेंजर सोनिराम जांगड़े और एसडीओ, रेंजर और वनरक्षक टीम गठितकर सूचना के आधार पर ग्राम टेड़ापानी और बाहपानी के बैगाओं को पकड़ा। इनके कब्जे से धनुष और तीर कमान भी बरामद किया। तीन बैंगाओं को पकड़कर पूछताछ किया गया। आरोपी टीकाराम, सुखीराम, लमतु को गिरफ्तार किया गया। जबकि तीन संदेही फरार हैं।

रायपुर टीम नहीं पहुंची
डॉक्टर सुमन मिश्रा का कहना है जानवर स्वस्थ्य है। तीर में जहर नहीं है। वहीं शाम 6 बजे तक रायपुर की रेस्क्यू टीम नहीं पहुंच सकी, जिसके कारण तीर को भी नहीं निकाला जा सका है। वनरक्षक और चौकीदार नेउर जंगल में वन भैसा की निगरानी कर रहे हैं। तीर निकालने के लिए रायपुर की टीम का इंतजार है।

नहीं होती निगरानी
मुख्य रूप से पिछले दो साल से जंगल में शिकारियों व वन माफियाओं का ही राज चल रहा है। अधिकारियों की खुली छूट के कारण वनरक्षक, डिप्टी रेंजर, रेंजर अपने क्षेत्र का निरीक्षण ही नहीं करते। इसकेे कारण शिकारी बेखौफ होकर शिकार को अंजाम देते रहते हैं जिसकी वन विभाग को भनक तक नहीं लगती।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned