बच्चों ने कहा - मैडम दीवार पर बताते हैं गणित, फिर पूछते हैं समझ आ रहा है..

यहां बच्चों को ब्लैक बोर्ड में लिखकर नहीं केवल पुस्तक पढ़ाया जाता है। जी हां, सोनपुरी के मिडिल स्कूल अव्यवस्था व असुविधा के बीच संचालित हो रहा है।

By: चंदू निर्मलकर

Published: 18 Aug 2017, 05:38 PM IST

कवर्धा. कवर्धा विकासखंड के ग्राम पंचायत सोनपुरी का मिडिल स्कूल भवन पुराना होने के कारण अधिक जर्जर हो चुका है। इसके कारण स्कूल का संचालन प्रधान पाठक कक्ष व अतिरिक्त कक्षा में पढ़ाई कराई जा रही है। लेकिन यहां बच्चों को ब्लैक बोर्ड में लिखकर नहीं केवल पुस्तक पढ़ाया जाता है। जी हां, सोनपुरी के मिडिल स्कूल अव्यवस्था व असुविधा के बीच संचालित हो रहा है।

मिडिल स्कूल के स्वयं का भवन अधिक जर्जर हो चुका है, इसके कारण पास में बने प्रधान पाठक कक्ष व अतिरिक्त कक्ष में अधिकारियों ने कक्षा लगाने कहा है। लेकिन यहां कक्षा में ब्लेक बोर्ड तक नहीं है। इसके कारण शिक्षकों को पढ़ाई कराने में अधिक परेशानी होती है। वहीं जो चीज ब्लैक बोर्ड में खिलकर पढ़ाई कराना है उसके केवल बोलकर लिखवाया जाता है, जिसके कारण विद्यार्थियों को समझने में दिक्कतें होती है। एक कक्षा प्रधान पाठक कक्ष, तो दूसरा अतिरिक्त कक्ष व तीसरा कक्षा बरामदे में लगाई जाती है। लेकिन तीनों ही कक्षा में ब्लेड बोर्ड नहीं है।

इसके कारण पढ़ाई प्रभावित हो रही है। स्वयं का भवन जर्जर होने के बाद अधिकारियों ने यहां संचालित करने के निर्देश दिए हैं, लेकिन दो माह से यहां चल रहे कक्षा में अव्यवस्था व सुविधा का अभाव है।

गणित, विज्ञान में अधिक परेशानी
सोनपुरी के मिडिल स्कूल में पढ़ाई कराने में सबसे अधिक गणित व विज्ञान में होती है। क्योंकि गणित को बनाकर बच्चों को ब्लैड बोर्ड में ही समझाया जाता है। इसी प्रकार विज्ञान में चित्र बनाकर ही पढ़ाई कराना पड़ता है। लेकिन कक्षा के दिवाल में ब्लैक बोर्ड नहीं होने के कारण गणित व विज्ञान पढ़ाने वाले शिक्षकों को अधिक परेशानी होती है। वहीं बच्चों को भी समझ नहीं आता है।

71 बच्चों की पढ़ाई प्रभावित
सोनपुरी के मिडिल स्कूल में कुल 71 छात्र-छात्राएं दर्ज है। लेकिन यहां ब्लैक बोर्ड नहीं होने के कारण पढ़ाई प्रभावित हो रही है। कक्षा छठवीं में 18 छात्र, सातवीं में 26 व कक्षा आठवीं में करीब 27 बच्चे दर्ज हैं। इनकी पढ़ाई ब्लैक बोर्ड नहीं होने के कारण प्रभावित हो रही है।

पुराना स्कूल भवन अधिक जर्जर हो गया। अधिकारियों के कहने पर प्रधान पाठक व अतिरिक्त कक्ष में पढ़ाई कराई जा रही है। कक्षाओं में ब्लेक बोर्ड नहीं है। अस्थाई बोर्ड लाकर पढ़ाई कराते हैं। पढ़ाई प्रभावित नहीं हो रही है।

सुदर्शन प्रसाद बघेल, प्रधान पाठक, मिडिल स्कूल, नवघटा

Show More
चंदू निर्मलकर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned