सहायक प्राध्यापक चयन में भ्रष्टाचार, भाजयुमो का प्रदर्शन

भारतीय जनता युवा मोर्चा ने सहायक प्राध्यापक भर्ती परीक्षा 2019 में अनियमितता व भ्रष्टाचार को लेकर प्रदर्शन किया। साथ ही पीएससी व राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारे बाजी की।

By: Yashwant Jhariya

Published: 05 Feb 2021, 10:22 AM IST

कवर्धा. भारतीय जनता युवा मोर्चा ने सहायक प्राध्यापक भर्ती परीक्षा 2019 में अनियमितता व भ्रष्टाचार को लेकर प्रदर्शन किया। साथ ही पीएससी व राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारे बाजी की। छग लोकसेवा आयोग द्वारा प्रदेश के प्रतिभावान छात्र छात्राओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है, जिसके विरोध में छत्तीसगढ़ के समस्त जिलों सहित कबीरधाम में भी आक्रोशित युवा मोर्चा के कार्यकर्ताओं ने सीजी पीएससी का पुतला दहन किया है। भाजयुमो जिला अध्यक्ष कैलाश चंद्रवशी ने कहा कि जब तक छग लोकसेवा आयोग के अध्यक्ष टामन सोनवानी को बर्खास्त कर एसआईटी जांच की मांग पूरी नहीं हो जाती, तब तक भाजयुमो की आंदोलन जारी रहेगी। लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सहायक प्राध्यापक भर्ती परीक्षा 2019 में प्रारंभ से ही भारी अनियमितता सामने आ रही है वर्तमान में अभ्यर्थी ने पत्र लिखकर आरोप लगाया है कि अनुपस्थित अभ्यर्थी को साक्षात्कार में शामिल होने के लिए बुलाया गया, जो बड़ा गंभीर विषय है, जो छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग की विश्वसनीयता पर सवाल खड़ा कर रहा है। इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए। सहायक प्राध्यापक भर्ती परीक्षा में अनुपस्थित अभ्यर्थी का नाम आना, परीक्षा केंद्र में वीडियोग्राफी नहीं कराया जाना, पीएससी की कार्यप्रणाली व विश्वसनीयता को धूमिल करता है। इस दौरान भाजयुमो महामंत्री पीयूष सिंह उमंग पांडे, पवन पटेल, रिंकेश वैष्णव, मंडल अध्यक्ष रोहित नाथ योगी, मयंक गुप्ता, सोनु ठाकुर, युवराज सिंह, तुकेश चंद्रवशी, स्वन्त्रत तिवारी, नीतीश चंद्रवशी उपस्थित रहे।

Yashwant Jhariya Bureau Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned