scriptDirect effect of the price of petrol and diesel on two lakh families | पेट्रोल-डीजल के दाम बढऩे से दो लाख परिवार पर सीधा असर | Patrika News

पेट्रोल-डीजल के दाम बढऩे से दो लाख परिवार पर सीधा असर

पेट्रोल-डीजल के दाम बढऩे का असर हर एक व्यक्ति पर पड़ रहा है, चाहे उसके पास वाहन हो या न हो। जिले में डेढ़ लाख वाहन पंजीकृत हैं, लेकिन पेट्रोल डीजल के लगातार दाम बढऩे से करीब 2 लाख परिवार मतलब करीब 9 लाख की आबादी प्रत्यक्ष-अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित हो रहे हैं।

कवर्धा

Updated: April 04, 2022 12:21:24 pm

कवर्धा
3 अप्रैल 2022 को पेट्रोल की कीमत 110.16 रुपए और डीजल की कीमत 101.50 रुपए प्रति लीटर हो गई। जबकि पिछले वर्ष 3 अप्रैल को ही पेट्रोल की कीमत 89.98 रुपए और डीजल की कीमत 88.51 रुपए थी। मतलब एक वर्ष में पेट्रोल की कीमत 20.2 रुपए बढ़ा। वहीं डीजल एक साल में 12.99 रुपए बढ़ा। कुल कीमत को देखा जाए तो 20 और 12 रुपए कोई मायने नहीं रखता, लेकिन यदि सालभर में 365 दिन या 52 सप्ताह का औसत निकाला जाए तो बढ़ी हुई कीमत पर पेट्रोल में ही कम से कम हजार से 1500 रुपए और डीजल में 5-10 हजार रुपए से अधिक राशि खर्च हो चुकी है। इसका सीधा का असर घर के बजट पर पड़ रहा है। मध्यम परिवारवालों को लिए तो बजट में कटौती करनी पड़ रही है।
जिले में डेढ़ लाख वाहन
परिवहन विभाग के शासकीय वेबसाइड से मिली जानकारी के अनुसार कबीरधाम जिले में एक लाख 55 हजार 179 वाहन पंजीकृत हैं। इसमें एक लाख 32 हजार 255 पेट्रोल चलित वाहन और 18 हजार 583 वाहन डीलज चलित वाहन हैं। औसत रूप से एक बाइक या स्कूटर में एक लीटर पेट्रोल अधिकतम तीन से चार दिन ही चलता है। लेकिन औसत रूप से माने तो एक सप्ताह चलती है। इस हिसाब रोजाना ही जिले में 20 लाख रुपए का पेट्रोल जल रहा है। यही कीमत आगे भी रही तो एक साल के 52 सप्ताह में 10 करोड़ रुपए के पेट्रोल जलेंगे। पेट्रोल की कीमत कम होने पर यह राशि 8 करोड़ रुपए जाती। इसी तरह से डीजल की अधिक की बात करें तो एवरेज कम होने के कारण अधिक डीजल की आवश्यकता होती है। औसतन रोजाना 18 लाख रुपए के डीजल की खपत हो रही है। आकड़ा बढ़ भी सकता है।
पेट्रोल-डीजल के दाम बढऩे से दो लाख परिवार पर सीधा असर
पेट्रोल-डीजल के दाम बढऩे से दो लाख परिवार पर सीधा असर
6.72 फीसदी बढ़ोतरी
पेट्रोल-डीजल के मौजूदा कीमत पर 10 दिनों में 6.07 और 6.72 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। मुख्य रूप से 21 मार्च 2022 से कीमत में बढ़ोतरी शुरू हुई। 20 मार्च तक पेट्रोल की कीमत 102.9 व डीजल की कीमत 93.29 रुपए प्रति लीटर थी। यह कीमत पिछले माह से वहीं अटकी हुई थी, लेकिन अभी 10 दिनों के भीतर ही इसमें तेजी से उछाल आया। इसके पूर्व 2 नवंबर 2021 को सबसे अधिक कीमत पर पहुंची थी, लेकिन अब उसे भी पार कर दिया गया है।
प्रभावित हो रहे
पेट्रोल डीजल के दाम बढऩे से हर काई प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से प्रभावित होता ही है। डीजल के दाम बढऩे से वाहन का भाड़ा बढ़ता है इससे रोजमर्रा के घरेलू सामान, सब्जी, राशन के दाम में कुछ रुपए का ईजाफा होता है। जैसे की अभी चावल के भाव में 50 रुपए प्रति बोरी बढ़ चुकी है। इसी तरह से सब्जी के भाव भी बढ़ते क्रम पर है। वहीं पेट्रोल के भाव बढऩे से बाइक का उपयोग कम करना हो या फिर अपने अन्य बजट में कटौती करके पेट्रोल डलवाना होगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

यहाँ बचपन से बच्ची को पाल-पोसकर बड़ा करता है पिता, जैसे हुई जवान बन जाता है पतियूपी में घर बनवाना हुआ आसान, सस्ती हुई सीमेंट, स्टील के दाम भी धड़ामName Astrology: पिता के लिए भाग्यशाली होती हैं इन नाम की लड़कियां, कहलाती हैं 'पापा की परी'इन 4 राशियों के लड़के अपनी लाइफ पार्टनर को रखते हैं बेहद खुश, Best Husband होते हैं साबितजून में इन 4 राशि वालों के करियर को मिलेगी नई दिशा, प्रमोशन और तरक्की के जबरदस्त आसारमस्तमौला होते हैं इन 4 बर्थ डेट वाले लोग, खुलकर जीते हैं अपनी जिंदगी, धन की नहीं होती कमी1119 किलोमीटर लंबी 13 सड़कों पर पर्सनल कारों का नहीं लगेगा टोल टैक्ससंयुक्त राष्ट्र की चेतावनी: दुनिया के पास बचा सिर्फ 70 दिन का गेहूं, भारत पर दुनिया की नजर

बड़ी खबरें

आंध्र प्रदेश में जिले का नाम बदलने पर हिंसा, मंत्री का घर जलाया, कई घायलपंजाब के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री के OSD प्रदीप कुमार भी हुए गिरफ्तार, 27 मई तक पुलिस रिमांड में विजय सिंगलारिलीज से पहले 1 जून को गृहमंत्री अमित शाह देखेंगे अक्षय कुमार की 'पृथ्वीराज', जानिए किस वजह से रखी जा रहीं स्पेशल स्क्रीनिंगGujrat कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का विवादित बयान, बोले- मंदिर की ईंटों पर कुत्ते करते हैं पेशाबIPL 2022, Qualifier 1 RR vs GT: मिलर के तूफान में उड़ा राजस्थान, गुजरात ने पहले ही सीजन में फाइनल में बनाई जगहRajya Sabha Election 2022: राजस्थान से मुस्लिम-आदिवासी नेता को उतार सकती है कांग्रेस'तुम्हारे कदम से मेरी आँखों में आँसू आ गए', सिंगला के खिलाफ भगवंत मान के एक्शन पर बोले केजरीवालसमलैंगिकता पर बोले CM नीतीश कुमार- 'लड़का-लड़का शादी कर लेंगे तो कोई पैदा कैसे होगा'
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.