जिले की पहचान बन चुके मुनगे के पेड़, पौधरोपण के लिए जिला प्रशासन चलाएगा अभियान

जिले की पहचान मुनगे के पौधे लगाने एक माह अभियान चलाने की बात कहीं। इस संबंध में उन्होंने प्रत्येक आंगनबाड़ी केन्द्रों में 10-10 मुनगे के पौधे, स्कूलों में 20-20 और सहायिका व कार्यकर्ता को दो-दो पौधे लगाने के निर्देश दिये।

By: Satya Narayan Shukla

Published: 15 May 2019, 08:34 PM IST

कवर्धा@Patrika. साहब ने बैठक ली और मोटरपंप से पानी खींचे जाने की शिकायत पर तीनों राजस्व एसडीएम व जनपद पंचायत के चारों सीईओ को निर्देशित किया कि ऐसे लोगों के खिलाफ सख्ती के साथ कार्रवाई करें। ताकि लोगों को समय पर पानी उपलब्ध हो सके।

जनपद पंचायतों में भी प्याऊ घर खोलने के निर्देश

भीषण गर्मी को देखते हुए ग्रामीण अंचलों में जानवरों के पीने के पानी की व्यवस्था तीन दिनों के भीतर संबंधित अधिकारी करेंगे। समय सीमा की बैठक में कलक्टर ने शहरी क्षेत्रों में जल आपूर्ति की भी समीक्षा की और पांच वार्डो में एक-एक प्याऊ घर खोलने के निर्देश दिए। जनपद पंचायतों में भी प्याऊ घर खोलने के निर्देश दिया। जंगल में जानवरों को पीने की पानी की व्यवस्था करने के साथ भोरमदेव शक्कर कारखाना की व्यवस्था के संबंध में आवश्यक जानकारी ली।

स्कूल व आंगनबाड़ी में लगाएंगे मुनगे के पौधे
जिले की पहचान मुनगे के पौधे लगाने एक माह अभियान चलाने की बात कहीं। इस संबंध में उन्होंने प्रत्येक आंगनबाड़ी केन्द्रों में 10-10 मुनगे के पौधे, स्कूलों में 20-20 और सहायिका व कार्यकर्ता को दो-दो पौधे लगाने के निर्देश दिये। साथ ही कुपोषित बच्चों को भी पौधे वितरण करने के निर्देश दिये।

स्कूलों में पाठ्यपुस्तक होगा वितरण
शिक्षा विभाग को पाठ्यक्रम वितरण की जानकारी लेते हुए कहा कि जिन स्कूलों में पाठ्यपुस्तक वितरण नहीं हुआ है। वहां शीघ्र वितरण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें। उन्होंने मई महीने का पेंशन 10 जून तक वितरण पूर्ण करने कहा।

दूसरे राज्य को न जाने पाए तेंदूपत्ता
वन विभाग के अधिकारियों से तेंदूपत्ता संग्रहण के संबंध में आवश्यक जानकारी लेते हुए कहा कि तेंदूपत्ता के गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दें। प्रदेश का तेंदूपत्ता दूसरे राज्यों को न जाने पाए। तेंदूपत्ता संग्राहकों से सतत् संपर्क में रहे। साथ ही हितग्राही को समय सीमा पर राशि भुगतान भी करने के लिए कहा गया। इसके अलावा उन्होंने सभी विभाग प्रमुखों को कार्यालयों में बायोमेट्रिक डिवाइस सिस्टम लगाने के निर्देश दिए हैं।

पंचायत होगा अतिक्रमणमुक्त
ग्राम पंचायतों में शासकीय भूमि पर हो रहे अतिक्रमण को मुक्त करने के निर्देश दिया। अब देखना यह होगा कि साहब के आदेशों का पालन होता है या नहीं। क्योंकि गांव-गांव में अतिक्रमण का खेल चल रहा है। अधिकांश ग्राम पंचायतों में कई रसूखदार शासकीय भूमि पर कब्जा जमाए हुए हैं। अतिक्रमण के चलते गांवों में गोचर भूमि भी खत्म हो चुकी है। ऐसे में लोग मवेशियों को घर पर ही बांधकर रख रहे हैं।

30 तक पूर्ण करे सीमांकन
राजस्व विभाग के शिकायतों व आवेदनों को शीघ्र निराकरण करने के निर्देश दिया। ताकि लोगों को नामांतरण, बटवारा और सीमांकन कराने में कठिनाई उत्पन्न न हो। इस संबंध में भुंईया सॉफ्टवेयर में आ रही कठिनाईयों को ३० मई तक दुरूस्त करने के भी निर्देश दिया।

Satya Narayan Shukla Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned