1971 भारत-पाक युद्ध में जीत के 50 वर्ष पूरे, स्वर्णिम विजय मशाल का छत्तीसगढ़ में होगा भव्य स्वागत

1971 India-Pakistan War: सन् 1971 के युद्ध के दौरान पाकिस्तान पर अपनी शानदार जीत का 50 वां वर्ष उत्सव पूरे भारत में स्वर्णिम विजय वर्ष स्मरणोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है।

By: Dakshi Sahu

Published: 04 Oct 2021, 02:41 PM IST

कवर्धा. सन् 1971 के युद्ध के दौरान पाकिस्तान पर अपनी शानदार जीत का 50 वां वर्ष उत्सव पूरे भारत में स्वर्णिम विजय वर्ष स्मरणोत्सव के रूप में मनाया जा रहा है। कबीरधाम में आगामी 12 अक्टूबर को राष्ट्रीय महत्व के आयोजन को गरिमापूर्ण ढंग से मनाया जाएगा। 12 अक्टूबर को कवर्धा के वीर सावरकर भवन में इसका आयोजन किया जाएगा।

होंगे रंगारंग देशभक्ति के कार्यक्रम
कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा ने इस पर बैठक लेकर आयोजन की प्रारंभिक तैयारियों की चर्चा की। बैठक में बताया गया कि यह आयोजन उन सैनिकों के साहस और बलिदान के लिए एक श्रद्धांजलि है जिन्होंने युद्ध में भाग लिया। सन् 1971 के युद्ध भाग लेने वाले हमारे बहादुर सैनिकों को सम्मान देने और जनता, विशेष रूप से युवा पीढ़ी में गर्व की भावना पैदा करने के लिए दिल्ली से रवाना हुए स्वर्णिम विजय मशाल का छत्तीसगढ़ में कबीरधाम जिले में इसका पूरे सम्मान से स्वागत किया जाएगा।

चिल्फी घाटी से होते हुए प्रवेश करेगा छत्तीसगढ़ में
छत्तीसगढ़ के प्रवेश द्वार कहे जाने वाले कबीरधाम के चिल्फी से गुजरने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग होते हुए स्वर्णिम विजय मशाल छत्तीसगढ़ पहुंंचेगा। विजय मशाल का स्वागत करने के लिए एनसीसी और एनएसएस के टीम विशेष जिम्मेदारी दी गई है। आयोजन को पूर्ण रूप से देशभक्ति के रूप देने के लिए स्कूल और कॉलेज के छात्र-छात्राओं द्वारा देशभक्ति पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। बैठक में भारतीय सेना कार्यालय से मनोज झा, जिला पंचायत सीईओ, कवर्धा, सीएमएचओ, सीएमओ व प्रोफेसर विशेष रूप से उपस्थित रहे।

गर्व की भावना
बैठक में सेना के अफसर मनोज झा ने बताया गया कि भारत-पाक युद्ध 3 दिसंबर 1971 को शुरू हुआ। इस युद्ध में भारत ने ऐतिहासिक जीत हासिल की। इस अवसर को मनाने के लिए, युद्ध में भाग लेने वाले हमारे बहादुर सैनिकों को सम्मान देने और जनता, विशेष रूप से युवा पीढ़ी में गर्व की भावना पैदा करने के लिए, प्रधानमंत्री ने "स्वर्णिम विजय मशाल" जलाया है। दिल्ली में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर विजय दिवस 2020 पर चार ज्वलंत विजय मशालें जलाई गई। ये मशालें युद्ध नायकों के गांवों सहित भारत के विभिन्न हिस्सों में चार दिशाओं में अपनी यात्रा पर हैं।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned