हिंसा के 11 दिन बाद आई गृहमंत्री और वन मंत्री को कवर्धा की याद, स्थानीय जिला प्रशासन और समाज प्रमुखों की ली बैठक

Kawardha violence: गृहमंत्री ने इस दौरान कहा कि कवर्धा में हिंसा फैलाने वाले लोग बख्शे नहीं जाएगें। स्थानीय पुलिस ने एक हजार से ज्यादा लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया है।

By: Dakshi Sahu

Published: 14 Oct 2021, 05:10 PM IST

कवर्धा. कवर्धा शहर में दो समुदायों के बीच झंडा लगाने को लेकर हुआ विवाद और हिंसक झड़प के 11 दिन बाद गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू और वन मंत्री मोहम्मद अकबर गुरुवार को कवर्धा पहुंचे। दोनों मंत्रियों ने कवर्धा कलेक्टर कार्यालय के सभा कक्ष में सर्व सामाज प्रमुखों की बैठक ली। बैठक में पंडरिया विधायक ममता चद्राकर, कवर्धा नगर पालिका अध्यक्ष ऋषि कुमार शर्मा, कलेक्टर रमेश कुमार शर्मा, पुलिस अधीक्षक मोहित गर्ग और सर्व समाज प्रमुख उपस्थित थे।

Read More: कवर्धा में भगवा ध्वज के अपमान से फूटा हिंदूवादी संगठनों का गुस्सा, मंत्री अकबर को बर्खास्त करने की मांग ....

शांति का टापू है कवर्धा
गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि छत्तीसगढ़ शांति का टापू है। यहां के लोग बहुत ही शांति प्रिय, सहज और सरल है। यहां के लोग प्रदेश में शांति और खुशहाली बनी रही यही चाहते है। उन्होने कहा कि कवर्धा में पिछले दिनां जो घटना घटी है,घटना के सभी साक्षी है। कवर्धा में सर्व समाज द्वारा मिलजुल कर पुन: शांति स्थापित करने, आपासी भाईचारा, सामाजिक सद्भावना और सौहार्द पूर्ण वातावरण बनाने के लिए जो पहल की वह अनुकरणीय है।

हर दिन कर रहे थे स्थिति की समीक्षा
गृहमंत्री साहू ने कहा कि प्रदेश के साथ-साथ कवर्धा में शांति और सामाजिक सौहार्द बनी रहे यह हमारी पहली प्राथमिकता में रही है। घटना के शुरू दिन से ही लगातार हम सब जिला प्रशासन से जानकारी लेते रहे। मीडिया के माध्यम से भी जानकारी मिलती रही। उन्होने बताया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, जिले के प्रभारी मंत्री टीएस सिंहदेव और छत्तीसगढ़ शासन के वरिष्ठ मंत्री और कवर्धा के स्थानीय विधायक मोहम्मद अकबर द्वारा वर्चुवल के माध्यम से निरंतर जिले के संपर्क में रहे और कवर्धा में पुन: शांति व्यवस्था स्थापित हो इसके लिए निरंतर प्रयास किए गए।

शहर के अंदर आवाजाही शुरु हो रही है
जिला प्रशासन निरंतर सामाज प्रमुखों के संपर्क में रहकर नियमित रूप से शांति कायम की दिशा में काम करते रहे। समाज प्रमुखों द्वारा कवर्धा में शांति मार्च का आयोजन कराया गया। शहर में सामाजिक सौहार्द स्थापित करने के लिए समाज प्रमुख सामने आए। सर्व समाज ने कवर्धा शहर में आपसी भाईचारा, सामाजिक समरसता, शांति स्थापना कर एक अच्छा उदाहरण प्रस्तुत किया है। समाज प्रमुखों की सकारात्मक पहल से ही कवर्धा शहर में आज पुन: शांति स्थापित हो रही है। जन जीवन सामान्य होने लगे है। शहर के अंदर आवाजाही शुरू हो रही है। धीरे-धीरे पूर्ण शांति की ओर शहर बढ़ रहा है। इस सकारात्मक पहले के लिए मैं सर्व समाज को बधाई देता हूं।

हिंसा के दोषी नहीं जाएंगे बख्शे
गृहमंत्री ने इस दौरान मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि कवर्धा में ङ्क्षहसा फैलाने वाले लोग बख्शे नहीं जाएगें। वीडियोग्राफी और फोटो के माध्यम से स्थानीय पुलिस ने एक हजार से ज्यादा लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया है। दोषियों को कड़ी सजा मिलेगी। साथ ही हिंसा की साजिश रचने वाले लोगों को बेनकाब किया जाएगा।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned