कवर्धा: पुलिस चौकी में ट्रांसपोर्टर से अवैध वसूली, प्रभारी से सवाल पूछते ट्रक मालिक का वीडियो हुआ वायरल

एक ट्रांसपोर्टर ने पुलिस वालों पर उसकी गाड़ी को जबरन रोकने और अवैध वसूली का आरोप लगाया है। ट्रांसपोर्टर ने अवैध वसूली पर चौकी प्रभारी से सवाल-जवाब करते हुए एक वीडियो बनाकर उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है।

By: Dakshi Sahu

Updated: 28 Oct 2020, 01:10 PM IST

कवर्धा. जिला पुलिस की खाकी पर एक बार फिर से दाग लगा है। इस बार पुलिस पर वाहनों की एंट्री के नाम पर अवैध वसूली का मामला सामने आया है। जिले के दशरंगपुर चौकी में एक ट्रक को रुकवाकर कर एंट्री फीस के नाम पर अवैध वसूली किए जाने का आरोप लगा है। एक ट्रांसपोर्टर ने पुलिस वालों पर उसकी गाड़ी को जबरन रोकने और अवैध वसूली का आरोप लगाया है। ट्रांसपोर्टर ने अवैध वसूली पर चौकी प्रभारी से सवाल-जवाब करते हुए एक वीडियो बनाकर उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया है।

पुलिस की कार्यशैली पर उठाए गंभीर सवाल
वायरल वीडियो में चौकी प्रभारी से सवाल जवाब करते हुए दिखाई दे रहा है। पिपरिया थाना अंतर्गत दशरंगपुर चौकी रायपुर-जबलपुर राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित है। इसके चलते इस मार्ग से रोजाना हजारों वाहन गुजरते हैं। इस दौरान पुलिस जवान कई वाहनों की जांच के लिए रुकवाते हैं। घटना कुछ दिन पूर्व की है। वायरल वीडियो में बताया गया कि तिल्दा नेवरा का ट्रांसपोर्टर मध्यप्रदेश से आ रहा था। इसी दौरान दशरंगपुर चौकी के पुलिस ने उन्हें रोका। इससे ट्रांसपोर्टर परेशान होकर चौकी पहुंचता है और सवाल जवाब करता है। इस दौरान वह वीडियो भी बनाता है।

हर महीने पैसा देता हूं
वीडियो में ट्रांसपोर्टर आरेाप लगाता है कि पुलिस वाले एंट्री के नाम पर हर बार अवैध वसूली करते हैं। चौकी प्रभारी से सवाल करता है कि हर माह 2500 रुपए क्यों ली जाती है। वहीं खाली गाड़ी को रुकवाया जाता है और एंट्री मांगी जाती है। इस पर चौकी प्रभारी मान सिंह बचाव करते नजर आ रहे हैं। वीडियो में वह कहते हुए दिख रहे हैं कि गाड़ी किसी ने नहीं रोकी। बार-बार यही जवाब दे रहे हैं। हर बार परेशान ट्रांसपोर्टर जब उसकी गाड़ी पुलिस रोकती है तभी वह चौकी पहुंचता है। फिलहाल पुलिस विभाग की ओर से इस मामले और वीडियो की सत्यता की जांच का आदेश अभी तक जारी नहीं हुआ है।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned