scriptIn Kawardha district, elephants destroyed several acres of crop | वन मंत्री के गृह जिले में हाथियों ने चौपट की कई एकड़ फसल, वन विभाग ने थमाया किसानों को मात्र 500 रुपए मुआवजा | Patrika News

वन मंत्री के गृह जिले में हाथियों ने चौपट की कई एकड़ फसल, वन विभाग ने थमाया किसानों को मात्र 500 रुपए मुआवजा

न मंत्री के गृह जिले कबीरधाम के बोड़ला विकासखंड के अंतिम गांव में हाथियों के दल पहुंचा। वहां पर हाथियों ने किसानों के कई एकड़ खेतों की फसल चौपट कर दी।

कवर्धा

Published: November 18, 2021 12:46:11 pm

कवर्धा. वन मंत्री के गृह जिले कबीरधाम के बोड़ला विकासखंड के अंतिम गांव में हाथियों के दल पहुंचा। वहां पर हाथियों ने किसानों के कई एकड़ खेतों की फसल चौपट कर दी। इस पर वन विभाग के अधिकारियों ने किसानों को 500 रुपए का मुआवजा दिया। वहीं हाथियों का दल अब मध्यप्रदेश की ओर आगे बढ़ चुका है। कबीरधाम जिले के बोड़ला ब्लॉक के अंतिम गांव बांधी से कुछ दूरी पर मध्यप्रदेश की सीमा क्षेत्र में 14 सदस्यीय जंगली हाथियों को देखा गया। बांधी गांव के किताब पिता चमारु गोंड का तीन एकड़, चंद्रपति पिता लखन यादव का आधा एकड़, गजपति पिता लखन यादव का आधा एकड़ रक्बा हाथियों के द्वारा रौंदा गया है, जिसमें धान की फसल लगी थी। वहीं रामचरण पिता भादू बैगा की आधा एकड़ की कटी हुई धान की फसल में से कुछ को हाथियों का दल चराई कर दिया।
वन मंत्री के गृह जिले में हाथियों ने चौपट की कई एकड़ फसल, वन विभाग ने थमाया किसानों को मात्र 500 रुपए मुआवजा
वन मंत्री के गृह जिले में हाथियों ने चौपट की कई एकड़ फसल, वन विभाग ने थमाया किसानों को मात्र 500 रुपए मुआवजा
वन मंडलाधिकारी दिलराज प्रभाकर ने बताया कि वन अमले द्वारा पीडि़तों को तत्काल क्षतिपूर्ति करते हुए 500 रुपए प्रति प्रकरण में नगद प्रदाय किया गया है। बाकी की क्षतिपूर्ति फसल नुकसान का परीक्षण उपरांत प्रदाय की जाएगी। यह दल कटघोरा से अचानकमार, लोरमी, चांड़ा, बजाग, उमरिया, अनूपपुर, मवई, लम्पटी, झामुल (मध्यप्रदेश) में विचरण कर रहा है। यह दल कवर्धा के बांधी गांव जो मध्यप्रदेश के ढिंढोरी जिला से लगा है, उसमें आकर धान की फसल को नुकसान पहुंचाया है। वहीं हाथियों का दल तुरंत वापस ढिंढोरी वन मंडल के झामुल परिसर में चला गया।
संभवत: यह दल वापसी करते हुए आगे चला जाएगा। फिर भी वन मंडल कवर्धा का क्षेत्रीय अमला मुस्तैद है। हाथी द्वारा नुकसान पहुंचाने पर वन विभाग द्वारा क्षतिपूर्ति का प्रावधान है। मृत्यु के के स्थिति में 6 लाख रूपए, स्थाई रूप से अंग भंग होने की स्थिति में 2 लाख रुपए, घायल होने पर इलाज कराने पर प्रस्तुत बिल के आधार पर अधिकतम 59 हजार रुपए प्रदान किया जाता है। वहीं पशु हानि पर अधिकतम 30 हजार रुपए, फसल नुकसानी पर मूल्यांकन कर अधिकतम 10 हेक्टेयर तक की फसल नुकसानी की नियमानुसार क्षतिपूर्ति है।
बरते सावधानी, अपनाए यह तरीके
अगर हाथी दिन में गांव में आ जाता है तो उससे पर्याप्त दूरी बना कर रखे। हाथी द्वारा कान खड़े कर सूंड ऊपर उठाकर आवाज देना इस बात का संकेत है कि वो आप पर हमला करने आ रहा है अत: तत्काल सुरक्षित स्थान पर चले जाए। यदि हाथी से सामना हो जाए तो तुरंत उसके लिए रास्ता छोड़े। पहाड़ी स्थानों में सामना होने की स्थिति में ढलान की और दौड़े ऊपर की ओर नहीं, क्योकि हाथी ढलान में तेज गति से नहीं उतर सकता। सीधे न दौड़कर आड़े तिरछे दौड़े। कुछ दूर दौडऩे के पश्चात गमछा, पगड़ी, टोपी अथवा अन्य कोई वस्त्र फेंक दें ताकि कुछ समय तक हाथी उसमे उलझा रह सके।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

इन नाम वाली लड़कियां चमका सकती हैं ससुराल वालों की किस्मत, होती हैं भाग्यशालीजब हनीमून पर ताहिरा का ब्रेस्ट मिल्क पी गए थे आयुष्मान खुराना, बताया था पौष्टिकIndian Railways : अब ट्रेन में यात्रा करना मुश्किल, रेलवे ने जारी की नयी गाइडलाइन, ज़रूर पढ़ें ये नियमधन-संपत्ति के मामले में बेहद लकी माने जाते हैं इन बर्थ डेट वाले लोग, देखें क्या आप भी हैं इनमें शामिलइन 4 राशि की लड़कियों के सबसे ज्यादा दीवाने माने जाते हैं लड़के, पति के दिल पर करती हैं राजशेखावाटी सहित राजस्थान के 12 जिलों में होगी बरसातदिल्ली-एनसीआर में बनेंगे छह नए मेट्रो कॉरिडोर, जानिए पूरी प्लानिंगयदि ये रत्न कर जाए सूट तो 30 दिनों के अंदर दिखा देता है अपना कमाल, इन राशियों के लिए सबसे शुभ

बड़ी खबरें

Corona Update: कोरोना ने बनाया नया रिकॉर्ड, 24 घंटे में 3 लाख 47 हजार नए केस, 2.51 लाख रिकवरGhana: विनाशकारी विस्फोट में 17 लोगों की मौत, 59 घायलभारत ने जानवरों के लिए विकसित किया पहला कोरोना वैक्सीन,अब शेर और तेंदुए पर ट्रायल की योजना50 साल से जल रही ‘अमर जवान ज्योति’ आज से इंडिया गेट पर नहीं, राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर जलेगीT20 World Cup 2022: ICC ने जारी किया शेड्यूल, इस दिन होगी भारत-पाकिस्तान की टक्करआज जारी होगा कांग्रेस का घोषणा पत्र, युवाओं के लिए होंगे कई वादे'कुछ लोग देशप्रेम व बलिदान नहीं समझ सकते', अमर जवान ज्योति के वॉर मेमोरियल में विलय पर राहुल गांधीUP Weather News Update : ठंड ने ताेड़ा 13 साल का रिकॉर्ड, अगले तीन दिन बारिश का अलर्ट, 10 किमी की रफ्तार से चलेंगी हवाएं
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.