घुन लगा पुराना धान खरीदना पड़ा भारी, कलेक्टर ने उपार्जन केंद्र प्रभारी को किया निलंबित

जांच में मामला सही पाए जाने पर उपर्जान केंद्र प्रभारी को निलंबित कर दिया है। नियमों की अनदेखी और जानबूझकर पुराना धान खरीदने को लेकर यह सख्त कार्रवाई की गई है। (Kawardha News)

कवर्धा. कबीरधाम जिले में विपणन वर्ष 2019-20 में धान खरीदी में किसी प्रभारी द्वारा लापरवाही के बाद निलंबन का पहला मामला सामने आया है। कलेक्टर अवनीश कुमार शरण ने जुनवानी जंगल में पुराने और घुन लगे धान बेचे जाने के प्रकरण में जांच के निर्देश दिए थे। जांच में मामला सही पाए जाने पर उपर्जान केंद्र प्रभारी तुलसीराम सेन को निलंबित कर दिया है। नियमों की अनदेखी और जानबूझकर पुराना धान खरीदने को लेकर यह सख्त कार्रवाई की गई है। (Kawardha collector)

खरीदी के बाद टीम ने जांचा था धान (Dhan kharidi CG)
कबीरधाम जिले में धान के अवैध परिवहन, भण्डारण और उपार्जन केन्द्रों में अमानक स्तर के धान की खरीदी को रोकने के लिए बनाई गई टीम ने रविवार को रेंगाखार के जुनवानी धान खरीदी केन्द्र का औचक निरीक्षण किया था। निरीक्षण में समिति प्रबंधक तुलसीराम सेन द्वारा भंवर सिंह खुसरों और उनकी पत्नी रजवंतीन द्वारा लाए गए 246 कट्टा धान की खरीदी गई थी। खरीदी की गई धान की जब जांच की गई तो पाया गया कि सभी धान पुराने थे, और धान में घुन लगा हुआ था। समिति प्रबंधक द्वारा धान खरीदी करने के लिए राज्य शासन द्वारा दिए निर्देशों के पालन नहीं किए जाने पर यह कार्रवाई की गई।

नहीं लगाई थी धान की ढेरी
औचक निरीक्षण करने वाली टीम ने बताया कि नियमानुसार जब भी उपार्जन केन्द्र में धान लाए जाते है तो खरीदी से पहले धान की ढेरी लगाई जाती है, लेकिन यहां धान की ढेरी नहीं लगाई गई। सीधे समिति के नए बोरे में धान को उलट दिया गया। धान में घुन लगे और अमानक होने के कारण धान जब्त कर लिया गया था।

Show More
Dakshi Sahu
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned