लोकतंत्र के उत्सव में लाल आतंक खतरा, अकेले कवर्धा में जवानों की 8 कंपनी तैनात

लोकतंत्र के उत्सव में लाल आतंक खतरा, अकेले कवर्धा में जवानों की 8 कंपनी तैनात

Chandu Nirmalkar | Publish: Apr, 15 2019 05:46:34 PM (IST) | Updated: Apr, 15 2019 05:46:35 PM (IST) Kawardha, Kabirdham, Chhattisgarh, India

जबकि शहरी व सामान्य मतदान केंद्रों में जिला पुलिस बल तैनात होंगे।

कवर्धा. लोकसभा चुनाव को लेकर जिला पुलिस व प्रशासन पूरी तरह से तैयार है। माओवादी अतिसंवेदनशील व संवेदनशील मतदान केंद्रों की सुरक्षा पैरा मिलिट्री फोर्स के जिम्मे रहेगी, जबकि शहरी व सामान्य मतदान केंद्रों में जिला पुलिस बल तैनात होंगे।

विधानसभा चुनाव 2018 के समय कबीरधाम जिले के दोनों विधानसभा अंतर्गत 100 माओवादी प्रभावित मतलब संवेदनशील मतदान केंद्र थे, अब लोकसभा चुनाव के समय इनकी संख्या 102 हो चुकी है। इसमें 56 अतिसंवेदनशील हैं जबकि 46 संवेदनशील केंद्र। ऐसे में इन केंद्रों की सुरक्षा अतिआवश्यक है। इसके लिए ही यहां की जिम्मेदारी केंद्रीय रिजर्व बल को दी जाती है। लेकिन इस बार केंद्र से जवानों की 8 कंपनी ही मिली है, जबकि जिला पुलिस प्रशासन द्वारा सुरक्षा के लिहाज से 40 कंपनी की मांग रखी गई थी। ऐसे में अब इन्हीं 8 पैरा मिलिट्री फोर्स के जवान ही दोनों विधानसभा क्षेत्र के 102 माओवादी प्रभावित केंद्रों की सुरक्षा करेंगे।

माओवादी का बढ़ता दायरा
कबीरधाम जिला माओवादियों का ठिकाना बन चुका है। वहीं इनके कदम कवर्धा विधानसभा से होते हुए अब पंडरिया ब्लॉक व विधानसभा की ओर बढ़ते जा रहे हैं। साल दर साल माओवादी क्षेत्र बढ़ते जा रहे हैं। वहीं चार से अधिक बार पुलिस की माओवादियों से मुठभेड़ भी हो चुकी है। दो माओवादी मारे जा चुके हैं। वहीं पिछले माह ही बकोदा में मुठभेड़ हुई, जिसमें बड़ी संख्या में सामग्री बरामद हुई।

पंडरिया क्षेत्र में बढ़े माओवादी प्रभावित केंद्र
वर्ष 2014 में लोकसभा चुनाव के समय पंडरिया विधानसभा क्षेत्र में 13 माओवादी संवेदनशील मतदान केंद्र थे, जबकि वर्तमान में यह बढ़कर 7 अतिसंवेदनशील और 11 संवेदनशील मतदान केंद्र हो चुके हैं। वहीं कवर्धा विधानसभा में विधानसभा चुनाव के समय 82 माओवादी संवेदनशील मतदान केंद्र थे जबकि वर्तमान में 84 हो चुके हैं।

466 वाहन लगेंगे चुनाव में
जिले में निर्वाचन विभाग को मतदान के पूर्व मतदान के दिन 466 वाहनों की आवश्यकता होगी। इसमें अधिकतर वाहन तो मिल चुके हैं। इसमें 240 बसें मतदान दल के लिए आवश्यक है, जिनका अधिग्रहण 16 अप्रैल को किया जाएगा। वहीं सेक्टर ऑफिसर सहित अन्य प्रकार के आवागामन के लिए 220 बोलेरो या फिर अन्य प्रकार के वाहन रखे गए हैं। वहीं आब्जर्वर और एमसीएमसी टीम के लिए 6 इनोवा वाहन भी बुक किया जा चुका है। वहीं विधानसभा चुनाव की तरह इस बार भी जिला प्रशासन ने बसों के साथ ही वनांचल क्षेत्रों के लिए जीप जैसे छोटे वाहनों में मतदान दलों को लाने ले जाने की व्यवस्था की है।


जिले के 102 मतदान केंद्र माओवादी संवेशील है इसलिए सेक्टर अधिकारियों को भी पूर्ण सुरक्षा देनी है। प्रत्येक सेक्टर अधिकरियों को एक-एक हथियारबंद पीएसओ (निजी सुरक्षाकर्मी) दिया जाएगा। यह अधिकारी जहां भी निरीक्षण के लिए जाएंगे, सुरक्षाकर्मी साथ होगा। वहीं मशीन ले जाने वाले दलों की सुरक्षा के लिए भी उनके जीप व बसों में सुरक्षाकर्मी तैनात रहेंगे।

 

Chhattisgarh से जुड़ी Hindi News के अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें Facebook पर Like करें, Follow करें Twitter और Instagram पर ..

CG lok sabha election Result 2019 से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए Download करें patrika Hindi News App.

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned