यातायात नियमों की उड़ रही धज्जियां, ट्रैफिक नियम तोडऩे में स्कूली बच्चे आगे

छत्तीसगढ़ के कवर्धा शहर में वाहन चालकों को ट्रैफिक नियमों का जरा भी खौफ नहीं है।

By: Deepak Sahu

Published: 18 Dec 2018, 03:18 PM IST

कवर्धा . छत्तीसगढ़ के कवर्धा शहर में वाहन चालकों को ट्रैफिक नियमों का जरा भी खौफ नहीं है। सडक़ों पर नाबालिग फर्राटे से वाहन दौड़ा रहे हैं। बिना हेलमेट और ड्रायविंग लाइसेंस के नाबालिग रोजाना यातायात नियम तोड़ रहे हैं। ट्रैफिक नियमों को ठेंगा दिखाने में स्कूली बच्चे सबसे आगे है। स्कूल छुटने के बाद ऐसे बच्चों को दोपहिया वाहन दौड़ाते आसानी से देखें जा सकते हैं।

कवर्धा जिला मुख्यालय में यातायात का दबाव काफी बढ़ गया है। जिसके कारण लोगों को ट्रैफिक नियमों का पालन करवा पाना पुलिस के लिए चुनौती साबित हो रहा है। सडक़ों पर रोजाना यातायात नियम टूट रहे हैं। आमतौर पर ऐसा करने वालों में नाबालिग ज्यादा होते हैं। शहर के वीर स्तंभ चौक, मिनीमाता चौक, ऋषभदेव चौक, अंबेडक़र चौक और लोहारा नाका रोड पर नाबालिकों को मोटर साइकिल दौड़ाते देखा जा सकता है। यह ऐसे इलाकें हैं, जहां कई निजी भी संचालित है।

यूं तो सडक़ सुरक्षा सप्ताह के बहाने पुलिस व ट्रैफिक विभाग ने बच्चों को यातायात नियमों का बखूबी पाठ सिखाया। पुलिस की यह नसीहत केवल स्कूलों तक सीमित रहा। स्कूल के दायरे से बाहर सडक़ पर नाबालिग अपनी मनमर्जी चला रहे हैं। चौक पर तैनात ट्रैफिक पुलिस देखता रह जाता है और नाबालिग फर्राटे भरते हुए निकल जाता है। हैरत की बात है कि बड़े-बुजुर्ग भी अपने बच्चों को ऐसा करने से नहीं टोक रहे।

एक वाहन पर तीन सवारी
दोपहिया वाहनों पर तीन सवारियां लेकर चलना प्रतिबंधित है, लेकिन खुलेआम इस नियम की धज्जियां उड़ाई जा रही है। खासतौर से नाबालिग बच्चे इस तरह की लापरवाही करने से बाज नहीं आ रहे हैं। सडक़ पर कलाबाजी करते हुए वे अपनी जान से खिलवाड़ करते हैं। पुलिस कार्रवाई के डर से चौक-चौराहे पर एक सवारी उतर जाती है, आगे बढ़ते ही फिर ट्रिपलिंग की मनमानी शुरू हो जाती है।

Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned