scriptNagar Panchayat Bodla still untouched by major government schemes | प्रमुख शासकीय योजनाओं से नगर पंचायत बोड़ला अब तक अछूते | Patrika News

प्रमुख शासकीय योजनाओं से नगर पंचायत बोड़ला अब तक अछूते

शासन की महत्वकांक्षी योजना भी नगर पंचायत की दहलीज तक नहीं पहुंच पाई है। बोड़ला राज्य का पहल नगर पंचायत होगा जहां न तो कांजीहाउस है और न ही गौठान। इसके चलते मवेशी हादसे का शिकार हो रहे हैं।

कवर्धा

Published: March 04, 2022 12:53:21 pm

कवर्धा. नगर पंचायत बोड़ला को नगर पंचायत का दर्जा मिले सालों बीत गए हैं, लेकिन बोड़ला आज भी विकास से कोसो दूर है। शासन की महत्वकांक्षी योजना भी नगर पंचायत की दहलीज तक नहीं पहुंच पाई है। बोड़ला राज्य का पहल नगर पंचायत होगा जहां न तो कांजीहाउस है और न ही गौठान। इसके चलते मवेशी हादसे का शिकार हो रहे हैं।
नगर पंचायत बोड़ला रायपुर-जबलपुर नेशनल हाईवे पर स्थित एक बड़ा कस्बा है, जिसे वर्षों पहले नगर पंचायत का दर्जा तो मिल गया, लेकिन नगर पंचायत के रहवासियों को जो सुविधा मिलनी चाहिए वह अब तक नहीं मिल पा रही है। शासन की महत्वकांक्षी योजना में शामिल नरवा, गरुवा, घुरुवा, बारी योजना के तहत गौठान का निर्माण भी नहीं हो पाया है, जबकि प्रदेश सरकार के जन हितैषी योजना के तहत 1 फरवरी से प्रदेश भर में गौठान मेला भी किया गया। गौठान के अभाव में रोका-छेका अभियान विफलता के चलते मवेशी लगातार सड़क हादसे के शिकार हो रहे हैं। जबकि नगर में मवेशियों के जमावड़े की समस्या को लेकर कांजीहाउस और गौठान निर्माण के लिए कई बार जिम्मेदारों को ज्ञापन सौंपकर अवगत कराया गया। ताकि बेजुबानों को हादसे से बचाया जा सके। लेकिन अब तक इस दिशा में कोई पहल नहीं हो पाई है। इसी परिणाम है कि सड़कों पर मवेशी हादसे का शिकार हो रहे हैं। राज्य सरकार द्वारा घुमंतु मवेशियों को सड़क हादसे से बचाने और फसलों को सुरक्षित रखने के लिए रोका-छेका अभियान चलाया जा रहा है, लेकिन इसका असर नगर पंचायत में दिख नहीं रहा है, क्योंकि नगर पंचायत बोड़ला ऐसा नगर पंचायत है, जहां न तो कांजीहाउस और न ही गौठान। ऐसे में २४ घंटे मवेशी सड़कों पर ही जमा रहता है। इसके चलते लगातार हादसे हो रहे हैं। सबसे अधिक मवेशियों की मौत और मवेशियों के कारण हादसे नगर पंचायत बोड़ला में ही हुई होगी।
कांजीहौस न गौठान
नगर में सड़क से मवेशियों को हटाने के लिए रोका-छेका अभियान भी पूरी तरह बेअसर है। इन बेजुबान पशुओं की सुध लेने वाला कोई नहीं है। नगर पंचायत को चाहिए कि प्रतिदिन लाउडस्पीकर के माध्यम से पशुमालिकों को चेतावनी दे और न मानने पर रोका-छोका पर सक्रियता के साथ काम करे। लेकिन यहां समस्या यह है कि यहां न तो कांजीहौस है और न ही गौठान। ऐसे में नगर पंचायत के जिम्मेदार भी शांत बैठे हुए हैं। जब तक गौठान का निर्माण नहीं होगा, तब इस समस्या से निजात नहीं मिल पाएगा।
२.५० एकड़ की जमीन गौठान के लिए प्रस्तावित
नगर पंचायत बोड़ला में शासन की महत्वकांक्षी योजना के तहत गौठान निर्माण के लिए २.५० एकड़ भूमि चिन्हांकित है। नगर पंचायत से मिली जानकारी अनुसार गौठान निर्माण के लिए सेंशन भी हो चुका है। भूमि वन विभाग की है, लेकिन नगरवासी निर्माण कार्य प्रारंभ होने का इंतजार कर रहे हैं। गौठान निर्माण के बाद ही सड़कों पर मवेशियों का जमावड़ा कम होगा। ऐसे में हादसे भी कम होंगे।
प्रमुख शासकीय योजनाओं से नगर पंचायत बोड़ला अब तक अछूते
प्रमुख शासकीय योजनाओं से नगर पंचायत बोड़ला अब तक अछूते
योजनांतर्गत गौठान निर्माण के लिए शासन को प्रस्ताव भेजा गया था, जिसका सेंशन हो चुका है। वन विभाग की २.५० एकड़ की भूमि पर जल्द ही गौठान निर्माण कार्य प्रारंभ होगा।
अश्वनी शर्मा, सीएमओ नगर पंचायत बोड़ला

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

बुध जल्द वृषभ राशि में होंगे मार्गी, इन 4 राशियों के लिए बेहद शुभ समय, बनेगा हर कामज्योतिष: रूठे हुए भाग्य का फिर से पाना है साथ तो करें ये 3 आसन से कामजून का महीना किन 4 राशियों की चमकाएगा किस्मत और धन-धान्य के खोलेगा मार्ग, जानेंमान्यता- इस एक मंत्र के हर अक्षर में छुपा है ऐश्वर्य, समृद्धि और निरोगी काया प्राप्ति का राजराजस्थान में देर रात उत्पात मचा सकता है अंधड़, ओलावृष्टि की भी संभावनाVeer Mahan जिसनें WWE में मचा दिया है कोहराम, क्या बनेंगे भारत के तीसरे WWE चैंपियनफटाफट बनवा लीजिए घर, कम हो गए सरिया के दाम, जानिए बिल्डिंग मटेरियल के नए रेटशादी के 3 दिन बाद तक दूल्हा-दुल्हन नहीं जा सकते टॉयलेट! वजह जानकर हैरान हो जाएंगे आप

बड़ी खबरें

'तमिल को भी हिंदी की तरह मिले समान अधिकार', CM स्टालिन की अपील के बाद PM मोदी ने दिया जवाबहिन्दी VS साऊथ की डिबेट पर कमल हासन ने रखी अपनी राय, कहा - 'हम अलग भाषा बोलते हैं लेकिन एक हैं'Asia Cup में भारत ने इंडोनेशिया को 16-0 से रौंदा, पाकिस्तान का सपना चूर-चूर करते हुए दिया डबल झटकाअजमेर की ख्वाजा साहब की दरगाह में हिन्दू प्रतीक चिन्ह होने का दावा, पुलिस जाप्ता तैनातबोरवेल में गिरा 12 साल का बालक : माधाराम के देशी जुगाड़ से मिली सफलता, प्रशासन ने थपथपाई पीठममता बनर्जी का बड़ा फैसला, अब राज्यपाल की जगह सीएम होंगी विश्वविद्यालयों की चांसलरयासीन मलिक के समर्थन में खालिस्तानी आतंकी ने अमरनाथ यात्रा को रोकने की दी धमकीलगातार दूसरी बार हैदराबाद पहुंचे PM मोदी से नहीं मिले तेलंगाना CM केसीआर
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.