scriptNewly married woman gang-raped by by father-in-law and brother-in-law | शर्मनाक! दहेज के लिए बहू के साथ हैवानियत, कार नहीं देने पर ससुर और देवर ने किया गैंगरेप, पति ने दिया साथ | Patrika News

शर्मनाक! दहेज के लिए बहू के साथ हैवानियत, कार नहीं देने पर ससुर और देवर ने किया गैंगरेप, पति ने दिया साथ

घर की बहू के साथ हैवानियत का मामला सामने आया है। पति और ससुराल के सदस्यों ने दहेज में चार पहिया वाहन नहीं देने पर शादी के दो माह बाद बहू को 45 दिनों तक बंधक बनाकर रखा और सामूहिक बलात्कार किया।

कवर्धा

Published: December 25, 2021 11:13:18 pm

कवर्धा. घर की बहू के साथ हैवानियत का मामला सामने आया है। पति और ससुराल के सदस्यों ने दहेज में चार पहिया वाहन नहीं देने पर शादी के दो माह बाद बहू को 45 दिनों तक बंधक बनाकर रखा और सामूहिक बलात्कार किया। इस मामले में पुलिस ने ससुराल पक्ष के 9 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। एक आरोपी फरार है।
rape.jpg
शर्मनाक! दहेज के लिए बहू के साथ हैवानियत, कार नहीं देने पर ससुर और देवर ने किया गैंगरेप, पति ने दिया साथ
पुलिस ने बताया कि पीड़िता द्वारा 18 नवंबर 2021 को 181 महिला हेल्प लाइन रायपुर में शिकायत की गई थी। जिसके बाद सखी वन स्टाप सेंटर, महिला एवं बाल विकास विभाग बेमेतरा के माध्यम से काउंसिलिंग कराई गई। काउंसिलिंग में आवेदिका ने कानूनी कार्रवाई चाही। इसके बाद पीडि़ता की शिकायत पर महिला सेल कवर्धा द्वारा एफआईआर दर्ज की गई।
इसमें पीड़िता ने बताया कि उसकी शादी 18 जनवरी 2020 को हुई थी। उसके मायके पक्ष ने अपनी हैसियत के मुताबिक टीवी, कूलर, अलमारी व घरेलू सामान उपहार में दिए थे। लेकिन शादी के दो-तीन दिन बाद ही पति, ससुर, सास, देवर ने शादी में दहेज नहीं मिला बोलकर गाली गलौज करते हुए मारपीट की।
पीड़िता ने बताया कि फरवरी 2020 को वह घर में अकेली थी। तब उसके देवर ने बलात्कार किया और डराया-धमकाया। इसके बाद 21 मार्च 2020 से 1 माह 15 दिन तक उसके नाना ससुर, बड़ा ससुर समेत पांच लोगों ने बंधक बनाकर रखा और उसके साथ बलात्कार किया।
टीआई के मुताबिक पीड़िता की रिपोर्ट के आधार पर जांच की गई। दहेज में दिया गया सामान जब्त किया गया। जांच के बाद आरोपियों के खिलाफ धारा 342, 344, 498(ए), 376(2) एन, 34 भादवि के अपराध दर्ज किया गया। मामले में 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया। एक आरोपी फरार है। उसकी तलाश की जा रही है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.