अधिकारी को पंचायत भवन में ही बनाए रखा बंधक

अधिकारी को पंचायत भवन में ही बनाए रखा बंधक

Yashwant Jhariya | Publish: Sep, 09 2018 11:21:46 AM (IST) Kawardha, Chhattisgarh, India

डोंगरियाकला में कार्यवाहक सरपंच की नियुक्ति के गए चुनाव अधिकारी को ग्रामीणों ने शाम तक बंधक बनाए रखा। तहसीलदार पुलिस बल के साथ पहुंचे, तब छोड़ा।

कवर्धा . पंडरिया ब्लाक के अंतर्गत ग्राम पंचायत डोंगरियाकला में कार्यवाहक सरपंच की नियुक्ति के गए अधिकारी को ग्रामीणों ने बंधक बना लिया। डोंगरियाकला के निर्वाचित सरपंच सोनिया लांझी पति गोपाल लांझी को गंभीर आर्थिक अनियमियत्ता के आरोप लगने के बाद अपर कलक्टर के आदेश से निलंबित किया गया। इसके पश्चात कार्यवाहक सरपंच की नियुक्ति के लिए शनिवार को प्रस्ताव व बहुमत साबित करने के लिए जनप्रतिनिधियों के बीच चुनाव कार्य संपन्न जा रहा था। इसमें निर्वाचन कार्य के लिए करारोपण अधिकारी रामचंद टंडन व पंचायत सचिव को जवाबदारी दी गई थी। ग्राम पंचायत में कुल 18 वार्डों में से 17 पंच ग्राम पंचायत पहुंचे थे। इसमें उत्तरा चंद्रवंशी पति जुगेश चंद्रवंशी व कवरी बाई पति बिहारी गोंड ने कार्यवाहक सरपंच के लिए दावेदारी पेश की। इसमें उत्तरा चंद्रवंशी के पक्ष में 10 पंचों को देखकर कवरी बाई समर्थित 7 पंच निर्वाचन में भाग लिए बिना ही लौट गए। इसी बीच जांच अधिकारी दसवें पंच का हस्ताक्षर लिए बिना ही समय समाप्त कहकर जाने लगे। इस पर ग्रामीण आक्रोशित हो गए और निर्वाचन अधिकारी व सचिव को पंचायत कार्यालय में ही बंधक बना दिया। पांडातराई टीआई ने बताया कि देर शाम जब पंडरिया तहसीलदार पुलिस बल के साथ डोंगरिया पहुंचे तब ग्रामीणों से बातचीत कर छुड़ाया गया।

69 लाख रुपए की हेराफेरी
ग्राम पंचायत डोंगरियाकला में सरपंच व उसके पति द्वारा 69 लाख रुपए की हेराफेरी की गई। सरपंच पति द्वारा अपने रिश्तेदारों के नाम पर दुकान का फ र्जी बिल प्रस्तुत कर राशि का आहरण किया। साथ ही पंचों का फर्जी हस्ताक्षर कर राशि निकाल लिया। लगातार बरती जा रही लापरवाही व भ्रष्टाचार को देखते हुए ग्रामीण रोहित चंद्रवंशी, रिद्धराम चंद्रवंशी सहित अन्य लोगों ने जिला प्रशासन से शिकायत करते हुए कार्रवाई की मांग की। मामले की गंभीरता को देखते हुए जांच टीम गठित कर दस्तावेजों की जांच की गई जिसमें कई खामियां निकली। जांच कमेटी की रिपोर्ट पर अतिरिक्त कलक्टर ने कार्रवाई की।
फर्नीचर के नाम पर फर्जीवाड़ा
सरपंच द्वारा 12 अप्रैल 2015 को शिवम मोबाईल रिपेयरिंग का बिल प्रस्तुत किया जिसमें राऊंडिंग चेयर एक नग का 4 हजार रुपए, दो राऊंडिंग चेयर दो नग का 6 हजार, प्लास्टिक चेयर बीस नग का 10 हजार, स्टील चेयर दो नग 3 हजार बताया गया। उसी दिनांक को दुष्यंत इंटरप्राइजेस से व्हील चेयर एक नग कीमत 5 हजार, व्हील चेयर दो नग 8 हजार, केप्सूल चेयर दो नग 6 हजार, कुर्सी बीस नग 10 हजार 5 सौ रुपए में खरीदना बताया गया। 15 मार्च को संजय ट्रेडर्स से रिवालविंग चेयर तीन नग, विजिटिंग चेयर दो नग और प्लास्टिक चेयर बीस नग खरीदना बताया गया है, जबकि पंचायत में ऐसा कोई सामान उपलब्ध ही नहीं है।

Ad Block is Banned