3233 पदों के 27 प्लेसमेंट कैंप में सिर्फ 598 को मिली नौकरी

3233 पदों के 27 प्लेसमेंट कैंप में सिर्फ 598 को मिली नौकरी

Ashish Gupta | Publish: Jan, 13 2018 08:44:54 PM (IST) | Updated: Jan, 13 2018 08:47:19 PM (IST) Kawardha, Chhattisgarh, India

बेरोजगारों को नौकरी दिलाने हर साल प्लेसमेंट कैम्प आयोजित की जाती है। बावजूद युवाओं को नौकरी नहीं मिल रही। केवल कंपनियों को फायदा मिल मिल रहा है।

कवर्धा. कबीरधाम में बेरोजगारों को नौकरी दिलाने हर साल प्लेसमेंट कैम्प आयोजित की जाती है। बावजूद अपेक्षा अनुरूप युवाओं को नौकरी नहीं मिल रही। केवल कंपनियों को फायदा मिल रहा है।

रोजगार , आज देश की सबसे प्रमुख समस्याओं में से एक बन चुकी है। इसमें कबीरधाम भी पीछे नहीं है। साल दर साल बेरोजगारों की संख्या बढ़ती जा रही है। इस समस्या को देखते हुए ही जिला रोजगार व स्वरोजगार मार्गदर्शन केंद्र द्वारा प्लेसमेंट कैम्प आयोजित की जाती है। पिछले वर्ष 10 प्लेसमेंट कैम्प आयोजित हुए। इसमें 8 कंपनियों के 944 पदों की भर्ती किया जाना था। इसके लिए हजारों उत्साही युवाओं ने फार्म भरे और पंजीयन कराया।

लेकिन अफसोस 944 पदों के विरूद्ध साक्षात्कार में 235 युवाओं का नंबर लगा। इसमें भी मात्र 112 अभ्यर्थियों का चयन हो सका। मतलब मात्र 10 प्रतिशत ही नौकरी तक पहुंच सके। इसमें कई युवा तो किसी न किसी कारण नौकरी छोड़ भी आए। पद के विरूद्ध कई गुना अधिक फार्म भरने के बाद भी बेरोजगारों का चयन नहीं किया जाता। ऐसा लगता है मानो कंपनी खुद का प्रचार-प्रसार के लिए ही प्लेसमेंट कैम्प आयोजित करती है।

3233 पदों पर 598 का चयन
प्लेसमेंट कैम्प के तीन वर्षों के आयोजन पर नजर डाले तो पता चलता है कि पद के विरूद्ध केवल 18 प्रतिशत अभ्यर्थियों का चयन हो सका। वर्ष 2015 से 2017 के बीच कुल 27 प्लेसमेंट कैम्प आयोजित हुए। इसमें 3233 रिक्त पदों के लिए 35 कंपनियों ने हिस्सा लिया। पदों के लिए बड़ी संख्या में पंजीयन कराया, लेकिन साक्षात्कार तक 1034 अभ्यर्थी ही पहुंचे। वहीं साक्षात्कार के बाद नौकरी के लिए 598 अभ्यर्थियोंं का चयन हो सका।

40 हजार से अधिक बेरोजगार
रोजगार कार्यालय में दिसंबर 2017 तक 50 हजार से अधिक जीवित पंजीयन हैं। मतलब 50 हजार युवक-युवती बेरोजगार हैं। यदि इसमें 20 प्रतिशत लोगों की नौकरी लग चुकी होगी तो भी 40 हजार से अधिक बेरोजगार जिले में मौजूद हैं। वहीं हर वर्ष सात हजार से अधिक बेरोजगार पैदा हो रहे हैं।

कबीरधाम के जिला रोजगार अधिकारी जयप्रकाश कौशिक ने कहा कि युवाओं को रोजगार देने के लिए प्लेसमेंट कैम्प आयोजित की जाती है। इसमें कंपनियां अपने रिक्त पदों की पूर्ति के लिए चयन करते हैं। साक्षात्कार में पास होने के बाद ही अभ्यर्थियों का चयन होता है।

Ad Block is Banned