अध्यक्ष, पार्षदों ने किया पीआईसी की बैठक का बहिष्कार

अध्यक्ष, पार्षदों ने किया पीआईसी की बैठक का बहिष्कार

Yashwant Kumar Jhariya | Publish: Sep, 11 2018 11:48:01 AM (IST) Kawardha, Chhattisgarh, India

नगर पंचायत पंडरिया में गौरवपथ निर्माण में अनियमिता को लेकर पार्षदों ने परिषद में जताई नाराजगी, जमकर हुआ हंगामा

कवर्धा . नगर पंचायत पंडरिया में पीआईसी की बैठक आयोजित था। बैठक में अध्यक्ष, उपाध्यक्ष से लेकर सभी पार्षद उपस्थित थे, लेकिन नगर में हुए गौरवपथ को लेकर जमकर हंगामा हुआ और पीआईसी बैठक का बहिष्कार कर दिया गया।
नगर पंचायत पंडरिया में सोमवार की दोपहर को पीआईसी की बैठक आयोजित किया गया। बैठक के तीन-चार दिन पहले एजेण्डे की कापी दे दिया गया। पीआईसी में करीब १० से १२ विषय रखा गया था, जिस पर चर्चा होना था। यहां अध्यक्ष से लेकर सभी सदस्यों ने कुकदुर रोड़ से नया बाजार तक हुए गौरव पथ निर्माण में हुए भ्रष्टाचार व अनियमितता पर चर्चा करने की मांग की, लेकिन एंजेड़ा में किसी प्रकार की परिवर्तन नहीं होने की बात सीएमओ द्वारा कहा गया। जो विषय बैठक में है उसकी विषय पर चर्चा होगी। गौरव पथ के विषय को आने वाले बैठक में लिया जा सकता है। इससे नाराज अध्यक्ष सहित पार्षदों ने बैठक का बहिष्कार कर बाहर निकल गए और सीएमओ के खिलाफ नाराजगी जाहिर की गई।

सदस्यों का आरोप
पीआईसी बैठक में बैठे जनप्रतिधिनियों ने आरोप लगाया कि वार्ड क्रमांक १२, १३ में बने गौरव पथ निर्माण में काफी भ्रष्टाचार हुआ है। इसकी जांच के लिए अनुविभागीय अधिकारी को लिखा गया है। इसकी जांच अधिकारियों द्वारा किया जा रहा है। इसके बाद भी नगर पंचायत सीएमओ ने ठेकेदार को लाभ पहुंचाने राशि जारी कर भुगतान कर दिया।
कोर कटिंग पास
इधर गौरव पथ निर्माण के बाद शासन द्वारा निर्माण की गुणवत्ता जांचने के लिए कोर कटिंग कर सैम्पल लेती है। इसकी जांच रिपोर्ट शासन ने सौंप दी है। इस कोर कटिंग में गौरव पथ निर्माण पास हुआ है। इसके कारण सीएमओ ने निर्माण एंजेसी को राशि जारी कर दिया गया। गौरव पथ निर्माण की जांच शासन द्वारा किया गया है, जिसकी रिपोर्ट भी आ चुका है जिसमें सड़क पास हुआ है। इसकी के आधार पर राशि भुगतान किया गया है।

नगर पंचायत पंडरिया सीएमओ सुदेश सिंह ने कहना है कि पीआईसी की बैठक में जो विषय नहीं है। उस पर चर्चा करने की मांग कर रहे थे। गौरव पथ का कोर कटिंग कर जांच किया गया, जिसकी रिपोर्ट सही पाया गया। इसके आधार पर भुगतान किया गया है। जांच हो रही है तो कोई भी अधिकारी भुगतान रोकने नहीं कहा है। सड़क खराब बना है तो जांच में खामी पाए जाने पर ठेकेदार पर कार्रवाई होगी।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned