उपेक्षा का दंश झेल रही सड़क, बारिश होने से रूट बदलकर आवागमन

ग्राम पंचायत गोरखपुर से उमरावनगर, खम्हरिया मार्ग प्रशासन की अनदेखी का शिकार हो रहे हैं। पिछले कई वर्षों से उपेक्षा का दंश झेल रही डब्लूबीएम मार्ग की न तो अब तक मरम्मत हो रही है न ही पीएम योजना तहत डामरीकरण हो पा रहा है।

By: Panch Chandravanshi

Updated: 03 Mar 2019, 12:13 PM IST

इंदौरी. ग्रामीण क्षेत्रों की सड़कें दिन-ब-दिन बदत्तर होती जा रही है। इसका मुख्य कारण वर्षों से मार्ग की मरम्मत नहीं हो पाना है। उपेक्षित होने के कारण मार्ग पर जगह-जगह गड्ढे व नूकिले पत्थर झांकने लगी है। मानों कोई मार्ग पर पत्थर की प्रदर्शनी लगाई है। मार्ग पर गिट्टी, बोल्डर की बिखराव साफ नजर आ रही है। इसका जीवंत नमूना गोरखपुर से उमरावनगर होते खम्हरिया पहुंच मार्ग है।
सहसपुर लोहारा विकासखंड के अंतिम छोर में बसे ग्राम पंचायत गोरखपुर से उमरावनगर, खम्हरिया मार्ग प्रशासन की अनदेखी का शिकार हो रहे हैं। पिछले कई वर्षों से उपेक्षा का दंश झेल रही डब्लूबीएम मार्ग की न तो अब तक मरम्मत हो रही है न ही पीएम योजना तहत डामरीकरण हो पा रहा है। मार्ग की दुर्दशा कई बरस से ऐसी ही बनी हुई है। पुरे मार्ग पर गड्ढे के साथ में नुकिले पत्थर के बिखराव पड़े हुए हैं, जिस पर हल्की बारिश से गड्ढे पर पानी का जमाव हो जाता है। ऐसे में इस मार्ग से आवागमन करने वाले लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ता है। स्थानीय सहित आसपास गांव के ग्रामीणों द्वारा कई बार जिला प्रशासन से लेकर ग्राम सुराज, जन समस्या शिविर में मार्ग की नवीनीकरण की गुहार लगा कर थक गए हैं, लेकिन विभागीय उपेक्षा के चलते इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। तभी तो अब तक मार्ग की मरम्मत व निर्माण नहीं किया जा रहा है। ग्राम सहित आसपास के लोग को मजबूरीवश इस मार्ग से आवागमन कर रहे हैं, जो कई बार दुर्घटना का कारण भी बन जाता है। अक्सर मोटर साइकिल सवार जर्जर मार्ग में गिरकर चोटिल होने के साथ ही वाहन की पार्ट नुकसान पहुंचा रहा है। जर्जर सड़क का हालत देखकर स्थानीय लोग में भारी रोष है। अगर बरसात आने से पहले मार्ग की मरम्मत नहीं हो पाई तो आसपास के ग्रामीणों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ेगा।

व्यापारिक क्षेत्र है खम्हरिया
इस रूट से आसपास दर्जनों गांव के लोग आवागमन करते हैं। व्यापारिक दृष्टिकोण से ग्राम सहित आसपास दर्जनभर गांवों के लोग खम्हरिया से जुड़े हैं। लोग अपनी हर छोटी-मोटी जरूरत के लिए खम्हरिया आना जाना करते हैं। ऐसे में इस मार्ग पर लोगों के साथ साथ छोटे-बड़े वाहनों का आवागमन होता रहता है। वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि इस साल मार्ग की नवीनीकरण कर पक्की सड़क की सौगात मिलना था, लेकिन अब तक किसी प्रकार का काम प्रारंभ नहीं हो पाया है। इससे ग्रामीणों में नाराजगी देखी जा रही है। लोग तरह तरह के कयास लगा रहे हैं। क्षेत्र के लोगों के साथ फिर एक बार छलावा किया गया है।

बरसात में ज्यादा परेशानी
सूखे के दिन में जैसे तैसे सड़क पर आवागमन हो जाता है, लेकिन बरसात के दिनों में मार्ग पर चलना मुश्किल हो जाता है। बारिश होने से सड़क पर बने गड्ढे में जल जमाव व दलदल में तब्दील हो जाता है, ऐसे में वाहन तो दूर पैदल चलना भी मुश्किल होता है। रूट बदलकर गैंदपुर, दानीघटोली, रामपुर होते हुए सात किलोमीटर की अतिरिक्त सफर कर थान खम्हरिया पहुंचते हैं।

Panch Chandravanshi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned