बिना सूचना के तोड़े गरीबो के घर, विरोध करने पर एसडीएम ने किया महिलाओ से बदसलूकी

बिना सुचना व शिकायत दिए तोड़ दिए गरीबों के आवास

By: Deepak Sahu

Published: 25 Apr 2018, 01:15 PM IST


कवर्धा . पिपरिया थाना अंतर्गत ग्राम सोनबरसा में कवर्धा एसडीएम द्वारा अतिक्रमण कहकर एक आवास को तोड़ दिया गया। इसके बाद गांव के सरपंच सहित ग्रामीणों ने कलक्टर को ज्ञापन सौपकर बताया कि कैलाश पति कृपाल दास रात्रे का लडक़ा अपने पुराने मकान को तोडक़र नया मकान बना रहा था। जिसे एसडीएम द्वारा बिना कोई सूचना व शिकायत के जेसीबी से तोड़ दिया गया। यही नहीं तोडऩे के दौरान एसडीएम ने महिलाओं के साथ दुव्यवहार करते हुए गाली गलौज किया। जबकि पहले से इस स्थान पर आवास का निर्माण हो चुका है। गांव के सरपंच सरोजनी पति दयालू भास्कर, कैलाशा बाई, पुष्पा बाई, संतोषकुमार सहित अन्य लोगों ने एसडीएम को तोडऩे से मना किया। इसके बाद भी एसडीएम ने आवास को तोड़ दिया। इसकी शिकायत ग्रामीणों ने कलक्टर से कर आवास निर्माण करने की अनुमति व एसडीएम पर कार्रवाई किए जाने की मांग की है।

ये है मामला

पिपरिया थाना अंतर्गत ग्राम सोनबरसा में कवर्धा गांव के कैलाश दस रात्रे का लड़का अपने पुराने मकान को तोडक़र नया मकान बना रहा था। जिसे एसडीएम द्वारा बिना कोई सूचना व शिकायत के जेसीबी से तोड़ दिया गया।जबकि पहले से इस स्थान पर आवास का निर्माण हो चुका है। गाओं ने लोगो ने इसका विरोध जताते हुए इसे तोड़ने से मन भी किया लेकिन फिर भी गांव का एसडीएम अपनी बात पर अड़ा रहा | और मकान को तोड़ दिया गया |

महिलाओ से किया दुर्व्यवहार

बिना सुचना के मकानों को तोड़ दिए जाने पर जब गांव की महिलाओं ने विरोध जताया तो गांव के एसडीएम ने उनके साथ दुर्व्यवहार करते हुए गली गलौच किया | और गरीबो के मकानों को तोड़ दिया गया | जिससे की महिलाओ को काफी ज़्यादा दुख हुआ | ग्रामीणों ने जाकर कलेक्टर से इस पुरे मामले की शिकायत की | और एसडीएम पर बिना सुचना के मकानों को तोड़ने पर करवाई करने की मांग की हैं |

 

 

Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned