जलाऊ लकड़ी के नाम पर जमकर हो रही जंगल में तस्करी

पंडरिया पूर्व में सबसे अधिक लकड़ी की तस्करी किया जा रहा है।

By: Deepak Sahu

Published: 25 Nov 2018, 09:00 PM IST

कवर्धा . पंडरिया के वनांचल में धड़ल्ले से वाहनों की कटाई हो रही है, जिसे रोक पाने में वन अमला नाकाम साबित हो रही है। पंडरिया पूर्व में सबसे अधिक लकड़ी की तस्करी किया जा रहा है।

पंडरिया वन परिक्षेत्र के पंडरिया पूर्व कोदवागोड़ान में वन विभाग द्वारा कोदवागोड़ान के जनप्रतिनिधि के टैक्टर में जलाउ लकड़ी बड़ी संख्या में तस्करी करते हुए पकड़ा। लेकिन वन अमला इसकी जानकारी देने में टाल मटोल कर रही है। कोदवागोड़ान के जनप्रतिनिधि के ट्रैक्टर क्रमांक सीजी, 26 डी 0206 में जंगल की ओर से ट्रैक्टर में बड़ी संख्या में जलाउ लकड़ी लेकर आ रहा था। जिसे वन विभाग की टीम ने कोदवागोड़ान में पकड़ लिया। वन विभाग की टीम ने लकड़ी से भरे वाहन को वन विभाग कार्यालय में जब्त कर रख दिया गया।

कार्यालय के सामने से तस्करी
पंडरिया वन विभाग कार्यालय के सामने से वनांचल के लोग जलाउ लेकर लकड़ी बेचने निकलते हैं। कार्यालय के सामने से बड़ी संख्या में लकड़ी की तस्करी हो रही है। इसके बाद भी वन विभाग के अधिकारी कार्रवाई करने अनदेखी कर रहे हैं। जबकि जलाउ के नाम पर बड़े वृक्षों की कटाई कर रहे हैं। इससे वन पुरी तरह खत्म होते जा रहा है।

Deepak Sahu
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned