scriptSugarcane is not being consumed in two factories, one more is needed | दो कारखाना में नहीं खप पा रहा गन्ना, एक और चाहिए | Patrika News

दो कारखाना में नहीं खप पा रहा गन्ना, एक और चाहिए

जिले में दो शक्कर कारखाना होने के बाद भी किसानों के गन्नों की खपत नहीं हो पा रही है। इसलिए वह एक और शक्कर कारखाना की मांग पर जोर दे रहे हैं। इसे लेकर वह आंदोलन का भी रूख अपना सकते हैं। इसकी शुरूआत प्रदर्शन से होगी।

कवर्धा

Published: April 11, 2022 11:58:12 am

कवर्धा.
जिले के किसान एक बार फिर से एकजुट होंगे और अपनी मांगों को लेकर विशाल प्रदर्शन करेंगे। इसके लिए भारतीय किसान संघ द्वारा गांव-गांव बैठक ली जा रही है। दिवाल लेखन प्रचार प्रसार किया जा रहा है, प्रदर्शन के माध्यम से इनकी मांग जल्द से जल्द पूरी हो सके। कबीरधाम जिले की उपजाऊ भूमि धान के साथ ही दलहन, तिलहन और गन्ना की फसल के लिए अच्छी मानी जाती है, लेकिन पिछले कुछ साल से जलवायु परिवर्तन की वजह से दलहन व तिलहन की खेती काफी प्रभावित हुई है। इसकी खेती घाटे का सौदा साबित हो रहा है। इस वजह से जिले के सहसपुर लोहारा ब्लॉक में एक और सहकारी शक्कर कारखाना की मांग की जा रही है।
75 फीसदी गन्ना बाहर बेच रहे
संघ के जिला अध्यक्ष डोमन चंद्रवंशी, जिला मंत्री जीवन यादव, दिनेश चंद्रवंशी,अरविंद शर्मा, अन्य किसानों ने बताया कि धान में उत्पादन लागत अधिक होने और लाभकारी मूल्य नहीं मिलने की वजह से किसानों का उदरपूर्ति का साधन बना हुआ है। गन्ना ही एक मात्र ऐसा फसल है, जो विपरित परिस्थिति में किसानों के साथ खड़ा है। इस वजह से जिले में अधिक रकबे पर गन्ने की खेती की जा रही है। लेकिन जिले में दो सहकारी शक्कर कारखाना होने के बावजूद 75 प्रतिशत गन्ने को कारखाने से बाहर बेचना पड़ता है, जहां से किसानों को उचित मूल्य नहीं मिल पाता। इसके चलते किसान जिले में एक और सहकारी शक्कर कारखाना की मांग कर रहे हैं। वहीं वर्तमान में कार्यरत दोनों कारखाना के पेराई क्षमता का विस्तार किया जाए। इसी तरह से भारतीय किसान संघ के बैनर तले 10 सूत्रीय मांगों को लेकर हजारों किसान 14 अप्रैल को विशाल धरना प्रदर्शन की तैयारी में जुट गए हैं। गांव-गांव में बैठक कर आंदोलन की रुपरेखा तैयार की जा रही है।

दो कारखाना में नहीं खप पा रहा गन्ना, एक और चाहिए
दो कारखाना में नहीं खप पा रहा गन्ना, एक और चाहिए
बरसात से पहले विद्युत कनेक्शन दिया जाए
किसानों की मांग में कृषि सिंचाई पंपों के विद्युतीकरण के लिए जिन किसानों ने आवेदन किया है, उसे बरसात से पहले विद्युत कनेक्शन दिया जाए। शक्कर कारखाना में गन्ना बेचने वाले किसानों को उनके द्वारा 31 मार्च तक बेचे गए गन्ने की राशि का भुगतान शीघ्र किया जाए। अतिवृष्टि व ओलावृष्टि के कारण जिले में बोई गई रवि फसल को व्यापक नुकसान हुआ है। सभी बीमाधारी किसानों को फसल क्षतिपूर्ति की राशि शीघ्र ही दिया जाए।
..ताकि पानी मिले
संघ के ब्लॉक अध्यक्ष संजय साहू ने बताया कि सहसपुर लोहारा क्षेत्र के किसानों की प्रमुख मांग सुतियापाट जलाशय के नहर-नाली का विस्तार है जिससे कि लोहारा तहसील के गांवों तक पानी पहुंचे और किसान अपनी उपज ले सके। इसके अलावा किसानों की प्रमुख मांग में धान को छोड़कर अन्य फसल उत्पादन पर सरकार द्वारा घोषित राजीव गांधी न्याय योजना के तहत किसानों को दी जाने वाली प्रोत्साहन राशि को शीघ्र ही किसानों को दिया जाए।
प्रतिबंधित हो
किसानों की प्रमुख मांग में एक रसायनिक खाद के आपूर्ति में कमी को देखते हुए यूरिया, डीएपी और पोटाश की बिक्री को खुले बाजार में प्रतिबंधित किया जाए। इन तीनों प्रकार के खाद को सिर्फ सेवा सहकारी समितियों के माध्यम से सभी किसानों को सरकार द्वारा निर्धारित मूल्य पर दिया जाए। यह इसलिए भी जरूरी है क्योंकि जिले कई बड़ी निजी दुकानों में खाद को अधिक दाम पर भी बेचा जाता है, मतलब किसानों को लूटा जाता है। इसलिए यह बहुत जरूरी है कि पूरा नियंत्रण शासन के पास रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

नाम ज्योतिष: ससुराल वालों के लिए बेहद लकी साबित होती हैं इन अक्षर के नाम वाली लड़कियांभारतीय WWE स्टार Veer Mahaan मार खाने के बाद बौखलाए, कहा- 'शेर क्या करेगा किसी को नहीं पता'ज्योतिष अनुसार रोज सुबह इन 5 कार्यों को करने से धन की देवी मां लक्ष्मी होती हैं प्रसन्नइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथअगर ठान लें तो धन कुबेर बन सकते हैं इन नाम के लोग, जानें क्या कहती है ज्योतिषIron and steel market: लोहा इस्पात बाजार में फिर से गिरावट शुरू5 बल्लेबाज जिन्होंने इंटरनेशनल क्रिकेट में 1 ओवर में 6 चौके जड़ेनोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेर

बड़ी खबरें

अब तक 11 देशों में मंकीपॉक्स : शुक्रवार को WHO की इमरजेंसी मीटिंग, भारत में अलर्ट, अफ्रीकी वैज्ञानिक हैरानओबीसी आरक्षण: जिला पंचायत 30, जनपद 20 और सरपंचों को 26 फीसदी आरक्षणInflation Around the World: महंगाई की मार, भारत से ज्यादा ब्रिटेन और अमरीका हैं लाचारOla-Uber की मनमानी पर लगेगी लगाम! CCPA ने अनुचित व्यवहार पर भेजा नोटिस, 15 दिन में नहीं दिया जवाब तो हो सकती है कार्रवाईसावधान! अब हेलमेट पहनने के बावजूद कट सकता है 2 हजार रुपये का चालान, बाइक चलाने से पहले जान लें नया नियमसुप्रीम कोर्ट में अपने लास्ट डे पर बोले जस्टिस एलएन राव- 'जज साधु-संन्यासी नहीं होते, हम पर भी होता है काम का दबाव'ज्ञानवापी मस्जिद केसः सुप्रीम कोर्ट का सुझाव, मामला जिला जज के पास भेजा जाए, सभी पक्षों के हित सुरक्षित रखे जाएंIPL 2022 RR vs CSK: चेन्नई को हरा टॉप 2 में पहुंची राजस्थान
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.