scriptThe team of 12 districts was looking for the director, then he was cau | डायरेक्टर को 12 जिलों की टीम ढूंढ रही थी, फिर उसे कबर्धा पुलिस ने यूं दबोचा | Patrika News

डायरेक्टर को 12 जिलों की टीम ढूंढ रही थी, फिर उसे कबर्धा पुलिस ने यूं दबोचा

न केवल कवर्धा बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ में चिटफंड कंपनियों ने लोगों से करोड़ों रुपए की लूट की है। हालात यह है कि पीडि़त लोग पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों के आगे-पीछे घूम रहे हैं लेकिन उन्हें न तो राशि वापस मिल रही है और न ही किसी प्रकार की मदद।

कवर्धा

Updated: June 02, 2022 11:19:22 pm

रकम दुगना करने के नाम पर लाखों की ठगी करने वाले चिटफं ड कंपनी पीएसीएल के शातिर संचालक को कबीरधाम पुलिस ने दिल्ली के आईपी स्टेशन के पास घेराबंदी कर पकड़ा गया। 6 सालों से फरार था कंपनी का डायरेक्टर। कवर्धा सहित छत्तीसगढ़ के 12 जिलों की पुलिस अलग-अलग थानों के 16 मामलों में पकडऩे का प्रयास कर रही थी।
कवर्धा थाना सिटी कोतवाली में वर्ष 2015, थाना कुण्डा में वर्ष 2017 को प्रार्थी द्वारा लिखित आवेदन प्रस्तुत कर रिपोर्ट दर्ज कराया गया था कि पल्स एग्रोटिक कारपोरेशन लिमिटेड कंपनी(पीएसीएल)के एजेन्ट व संचालकों द्वारा आम लोगों को अधिक व्याज देने तथा कम समय में रकम दुगुना करने का प्रलोभन देकर रकम अपने कंपनी में निवेश करा के धोखाधड़ी किया गया है। कबीरधाम पुलिस कप्तान डॉ.लाल उमेद सिंह द्वारा उक्त प्रकरण का नए सिरे से विवेचना करने निर्देश दिया गया। इस पर कवर्धा सिटी कोतवाली व कुण्डा थाना संयुक्त टीम गठित किया। गठित टीम ने पीएसीएल के संचालक आरोपी जोगिंदर टाइगर(66) पटियाला को दिल्ली से गिरफ्तार से गिरफ्तार कर न्यायालय कबीरधाम के समक्ष प्रस्तुत किया गया। वहीं कंपनी के अन्य डॉयरेक्टर भी पूर्व में गिरफ्तार हो चुके हंै। उक्त कार्रवाई में थाना प्रभारी सिटी कोतवाली निरीक्षक भूषण एक्का, थाना प्रभारी कुंडा निरीक्षक मुकेश यादव, उपनिरीक्षक संतोष ठाकुर, सहायक उप निरीक्षक आशीष सिंह, प्रधान आरक्षक हिरेंद्र प्रताप सिंह, आरक्षक शशांक तिवारी, लेखा चंद्रवंशी, आसिफ खान, हेमंत ठाकुर व थाना टीम का योगदान रहा।
पुलिस अधीक्षक डॉ.लाल उमेद सिंह ने बताया कि रिपोर्ट पर थाना सिटी कोतवाली व थाना कुंडा में धारा. 420, 406, 34 भादवि, 3, 4, 5 इनामी चिटफं ड एवं परिचालन अधिनियम व छत्तीसगढ़ के निक्षेपक के हित का संरक्षण अधिनियम की धारा 10 कंपनी के एजेन्ट व संचालकों के विरुद्ध अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया। विवेचना दौरान कुल 3891 जमाकर्ताओं से कुल नगदी रकम 6 करोड़ 66 लाख 54 हजार रुपए जमा करा के एक निर्धारित ब्याज सहित जमाकर्ताओं को वापस नहीं किया गया।

डायरेक्टर को 12 जिलों की टीम ढूंढ रही थी, फिर उसे कबर्धा पुलिस ने यूं दबोचा
कवर्धा पुलिस की गिरफ्त में आरोपी

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: आदित्य को छोड़ शिवसेना के सारे MLA Minister हुए बागी, उद्धव ठाकरे के साथ बचे सिर्फ MLC मंत्रीMaharashtra Political Crisis: संजय राउत ने 'जिंदा लाश' वाले बयान पर दी सफाई, बोले-उनका जमीर मर गया है, तो उसके बाद क्या बचता है?Presidential Election: यशवंत सिन्हा ने भरा नामांकन, राहुल गांधी-शरद पवार समेत विपक्ष के कई बड़े नेता मौजूदPunjab Budget LIVE Updates: वित्तमंत्री हरपाल चीमा ने कहा- सभी जिलों में बनाए जाएंगे साइबर अपराध क्राइम कंट्रोल रूमपटना विश्वविद्यालय के हॉस्टलों में छापेमारी, मिला बम बनाने का सामानMumbai News Live Updates: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बागी मंत्रियों के छीने विभागMaharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में क्या बन रहे हैं नए सियासी समीकरण? बागी एकनाथ शिंदे ने राज ठाकरे से की फोन पर बातचीतयशवंत सिन्हा को समर्थन देगी TRS, क्या BJP के खिलाफ विपक्ष से हाथ मिला रहे KCR?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.