scriptThen a group of elephants reached Vananchal village | फिर वनांचल ग्राम पहुंचा हाथियों का दल | Patrika News

फिर वनांचल ग्राम पहुंचा हाथियों का दल

मध्यप्रदेश की ओर आए हाथियों के दल इसी क्षेत्र में विचरण कर रहे हैं, लेकिन शुक्रवार रात में ग्राम तेलियापानी लेदरा में प्रवेश कर दो ग्रामीणों के मकान को नुकसान पहुंचाया। शुक्रवार शाम तक हाथियों को दल ग्राम मराडबरा से पकरीपानी की ओर बढ़ा।

कवर्धा

Published: April 30, 2022 09:35:17 pm

कवर्धा.
मध्यप्रदेश की ओर से आए हाथियों के दो दल अलग-अलग बंटे हैं। एक दल में चार और दूसरे दल में पांच हाथी हैं। बुधवार रात को ग्राम तीनगड्ढ़ा में प्रवेश करने के बाद गांव में केला, कटहल को खाया। वहीं गुरुवार शाम को हाथी की दल फिर एमपी के चेन्द्रादादर प्रवेश करने वाले थे लेकिन ग्रामीणों भीड़ व उनकी आवाज से फिर तीनगड्ढ़ा क्षेत्र में पहुंच गए। इसके बाद शुक्रवार की सुबह तेलियापानी लेदरा में प्रवेश कर दो ग्रामीणों के मकान को नुकसान पहुंचाया। ग्रामीण कुंवर सिंग के बाड़ी के लकड़ी घेरा बनाए थे उसको तोड़ा फिर हवलदार सिंग के मकान दीवाल को तोड़ दिया। वहीं मकान में रखे अनाज कोदो धान को खाया। डर के कारण ग्रामीण घरों से निकलकर भाग गए। वहां से हाथियों का दल मराडबरा पहुंचे। शाम को उनकी स्थिति ग्राम पकरीपानी के पास रही। वहीं आसपास विचरण कर रहे हैं। वन विभाग की टीम लगातार निगरानी बनाए हुए हैं।
फिर वनांचल ग्राम पहुंचा हाथियों का दल
फिर वनांचल ग्राम पहुंचा हाथियों का दल
बरत रहे लापरवाही
ग्राम तेलियापानी लेदरा में लोग मोबाईल लेकर एकदम नजदीक जाकर वीडियो बना रहे हैं, फोटो ले रहे हैं। जबकि हाथियों गुस्सैल प्रवृत्ति के होते है वह कभी भी किसी पर भी हमला बोल सकते हैं। इसलिए इनसे दूर रहने की आवश्यकता है, लेकिन ग्रामीण इसकी अनदेखी कर रहे हैं। जबकि वीडियो बनाने के चक्कर में ही एक लड़का पेड़ से गिर गया, जिससे उसे गंहरी चोट लगी।
रख रहे निगरानी
वन विभाग पंडरिया के एसडीओ जशबीर मरावी ने बताया हाथियों ने जिनके मकान तोड़े उसका मूल्यांकन कर पीडि़त को क्षतिपूर्ति का राशि दी जाएगी। गांवों में मुनादी कर लोगों को समझाइश दी जा रही है हाथियों से दूरी बनाकर रहे और कोई नुकसान न पहुंचाएं। बाजवूद ग्रामीण लापरवाही बरत रहे हैं। वह हाथियों की तस्वीर, वीडियो बनाने के लिए नजदीक चले जाते हैं।
बीते वर्ष से जिले में हाथियों की लगातार चहलकदमी बनी हुई है। नवंबर 2021 में भी हाथियों का दल बोड़ला ब्लॉक के ग्राम बाकी, केशमर्दा और जिले के आखरी गांव बनगौरा, कोइलारी, सावाटोला, पढकी पहुंचा था। इसी दौरान हाथी गांव में घुसा थे, जहां 20 से ज्यादा किसानों का धान, कोदो, केला को नुकसान पहुंचाया था।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

सीएम Yogi का बड़ा ऐलान, हर परिवार के एक सदस्य को मिलेगी सरकारी नौकरीचंडीमंदिर वेस्टर्न कमांड लाए गए श्योक नदी हादसे में बचे 19 सैनिकआय से अधिक संपत्ति मामले में हरियाणा के पूर्व CM ओमप्रकाश चौटाला को 4 साल की जेल, 50 लाख रुपए जुर्माना31 मई को सत्ता के 8 साल पूरा होने पर पीएम मोदी शिमला में करेंगे रोड शो, किसानों को करेंगे संबोधितराहुल गांधी ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा - 'नेहरू ने लोकतंत्र की जड़ों को किया मजबूत, 8 वर्षों में भाजपा ने किया कमजोर'Renault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चIPL 2022, RR vs RCB Qualifier 2: RCB ने राजस्थान को जीत के लिए दिया 158 रनों का लक्ष्यपूर्व विधायक पीसी जार्ज को बड़ी राहत, हेट स्पीच के मामले में केरल हाईकोर्ट ने इस शर्त पर दी जमानत
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.