7 दिनों से नहीं मिला इन 80 बच्चों को अन्न का एक भी दाना, ये है बड़ी वजह

बच्चों को नहीं मिल रहा भोजन का लाभ

By: चंदू निर्मलकर

Published: 25 Apr 2018, 03:54 PM IST

बरबसपुर. केन्द्र और राज्य सरकार ने स्कूल की ओर बच्चों की रुझाने बढ़ाने के लिए मध्यान्ह भोजन योजना चालू किया। इस योजना के माध्यम से स्कूल में ही बच्चों को पढ़ाई के साथ भोजन दिया जाता है। लेकिन ग्राम दौजरी केमिडिल स्कूल के बच्चों को इसका लाभ नहीं मिल पा रहा है।
पिछले एक सप्ताह से मिडिल स्कूल के 80 बच्चों को योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है। इसका मुख्य कारण रसोइया का छुट्टी पर चला जाना बताया जा रहा है। मध्यान्ह भोजन की जिम्मेदारी समूह को दिया गया है, लेकिन रसोइया के छुट्टी पर चली गई है।

स्कूल में है एक ही रसोईया

एक ही रसोईया होने के कारण यहां मध्यान्ह भोजन ठप्प हो गई है। समूह के सदस्यों द्वारा बरती गई लापरवाही के चलते शासन की इस योजना का लाभ छात्र-छात्राओं को नहीं मिल पा रहा है। यह समूह की जिम्मेदारी है कि वह किस तरह योजना का लाभ बच्चों तक पहुंचाएं। अगर एक रसाईया छुट्टी चली गई है तो उसके जगह किसी दूसरी को रखा जा सकता है। ताकि बच्चों को योजना का लाभ मिलता रहे, लेकिन इस तरह की कोई व्यवस्था नहीं की गई। इसके चलते मिडिल स्कूल में पिछले एक सप्ताह से बच्चों को दोपहर का भोजन नहीं मिल रहा है।

स्कूल के बच्चों ने की शिकायत

स्कूल में मध्यान्ह भोजन नहीं मिलने की शिकायत मिडिल स्कूल के छात्रों ने ही सरपंच से की है। छात्रों ने सरपंच को लिखित शिकायत में बताया कि स्कूल में पिछले पांच दिनों से मध्यान्ह भोजन नहीं बन रहा है। इसके चलते ज्यादातर छात्र-छात्राएं भी स्कूल नहीं पहुंच रहे हैं। इससे शिक्षक भी परेशान है। शिकायत में जल्द ही योजना का लाभ दिलाने की बात कही है।

नहीं मिल रहा योजना का लाभ

केन्द्र और राज्य सरकार ने स्कूल की ओर बच्चों की रुझाने बढ़ाने के लिए मध्यान्ह भोजन योजना चालू किया। इस योजना के माध्यम से स्कूल में ही बच्चों को पढ़ाई के साथ भोजन दिया जाता है। लेकिन रसोईये के छुट्टी में चले जाने के बाद से बच्चों को स्कूल में भोजन नहीं मिल प् रहा हैं| इस कारण बच्चों को मध्यान्ह भोजन योजना का लाभ नहीं मिल पा रहा है।

 

चंदू निर्मलकर Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned