छत्तीसगढ़ पुलिस के दो कांस्टेबल गांजा तस्करी करते गिरफ्तार, थाने का पूरा स्टॉफ करता था मदद!

पुलिसकर्मियों की करतूत ने खाकी का दामन दागदार कर दिया है। एक तरफ जहां अपराध पर रोकथाम का जिम्मा जिस पुलिस पर है, अब वही खुद अपराध को बढ़ावा में जुटे हुए हैं।

कवर्धा. छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले के पुलिसकर्मियों की करतूत ने खाकी का दामन दागदार कर दिया है। एक तरफ जहां अपराध पर रोकथाम का जिम्मा जिस पुलिस पर है, अब वही खुद अपराध को बढ़ावा में जुटे हुए हैं। दरअसल, मामला कवर्धा जिले के चिल्फी थाना का है, जहां पदस्थ आरक्षक, सहायक आरक्षक और डॉयल 112 का चालक गांजा तस्करी में लिप्त मिले। इस घटना से चिल्फी थाना के सारे पुलिस स्टॉफ शक के दायरे में है।

इस मामले में पुलिस अधीक्षक ने आरक्षक दिलीप चंद्रवंशी और सहायक आरक्षक नरेन्द्र चंद्रवंशी को तत्काल सस्पेंड कर दिया। वहीं दिलीप चंद्रवंशी और ललित राजपूत को रिमांड पर जेल भेज दिया गया। साथ ही विभागीय कार्रवाई भी शुरू कर दी है। मामले की जांच स्वयं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सोनी कर रहे हैं। जांच केवल उक्त दो आरक्षक को लेकर नहीं बल्कि पूरे चिल्फी थाना स्टॉफ थाना प्रभारी सहित जांच की जा रही है। चूंकि मामला काफी संदिग्ध हो चुका है, ऐसे में पूरा चिल्फी थाना ही संदेश के दायरे में है।

आधी रात चोरी छिपे पुलिस वाले कर रहे थे गंदा काम, तलाशी में जो मिला देख हो गए सब हैरान

एसपी के निर्देश पर चिल्फी थाना में ही वहीं पदस्थ रहे आरक्षक दिलीप चंद्रवंशी के खिलाफ उसके किराए के कमरे में गांजा पाए जाने पर धारा 20(बी) एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला पंजीपद्ध किया गया। वहीं बोड़ला थाना में शुक्रवार की सुबह दो अज्ञात आरोपी के खिलाफ धारा 20(बी) एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला पंजीपद्ध किया गया। लेकिन विवेचना के बाद पता चला कि दो अज्ञात आरोपी में एक चिल्फी थाना में पदस्थ सहायक आरक्षक नरेन्द्र चंद्रवंशी और दूसरा डॉयल 112 का चालक ललित राजपूत निकला। इनके खिलाफ जांच चल रही है।

एक साल से चल रहा खेल
आरक्षक दिलीप चंद्रवंशी दो माह पूर्व से ही थाना चिल्फी में पदस्थ हुआ। जबकि सहायक आरक्षक नरेन्द्र चंद्रवंशी यहां पर पिछले दो साल से कार्यरत है। वहीं डॉयल 112 का चालक ललित राजपूत भी पिछले वर्ष से चिल्फी में कार्यरत है। ऐसे में अब इसमें जांच का विषय यह भी है कि क्या डॉयल 112 में ड्यूटी देने वाले आरक्षक भी गांजा तस्करी में संलिप्त रहे हैं। वहीं यह भी हो सकता है कि गांजा पार करने में डॉयल 112 वाहन की मदद ली जाती रही हो। मतलब लोगों को मदद पहुंचाने के बहाने गांजा तस्करी।

प्रतिबंधित संगठन सिमी के आतंकी को छत्तीसगढ़ पुलिस ने हैदराबाद एयरपोर्ट से किया गिरफ्तार

लगातार चलती रही पूछताछ
जिला पुलिस की कार्रवाई में चिल्फी थाना में पदस्थ आरक्षक दिलीप चंद्रवंशी और चिल्फी में सेवा देना वाला डॉयल 112 का चालक ललित राजपूत को पुलिस ने गिरफ्तार किया। पुलिस की पूछताछ में ललित राजपूत ने बताया कि सहायक आरक्षक नरेन्द्र चंद्रवंशी और उसके द्वारा ही 10-11 अक्टूबर की दरम्यानी रात को उक्त वाहन में थे, जिससे पुलिस ने 98 किलो गांजा जब्त किया। यह गांजा पूर्व में डंप किया हुआ बताया जाता है, जिसे चिल्फी से निकालकर बोड़ला से आगे बिक्री के लिए ले जाया जा रहा था। लेकिन बोड़ला पुलिस ने स्कार्पियो वाहन डब्ल्यूबी 24 एके 4262 को पकड़ लिया जिसमें तीन बोरियों में 96 पैकेट गांजा मिला।

नहीं होती थी वाहनों की जांच व कार्रवाई
चिल्फी छत्तीसगढ़ और मध्यप्रदेश का बॉर्डर क्षेत्र है, जिसके कारण यहां बड़ी मात्रा में मध्यप्रदेश से शराब और गांजा की तस्करी होती है। बावजूद चिल्फी थाना से कार्रवाई नहीं होती। जबकि इसके आगे मध्यप्रदेश की ओर मोतीनाला थाना और कवर्धा की ओर बोड़ला थाना या पोड़ी चौकी द्वारा शराब व गांजा की सप्लाई करने वालों को पकड़ा गया और माल भी बरामद किए। मतलब साफ है कि चिल्फी थाना के स्टॉफ की मिलीभगत के चलते ही यहां पर जानबूझकर कार्रवाई नहीं की जाती थी। हो सकता है कि इसमें भी गांजा तस्करी का मास्टर माइंट सहायक आरक्षक नरेन्द्र चंद्रवंशी मध्यप्रदेश से शराब की सप्लाई में भी सहयोग करता रहा हो, इसके साथ साथ चिल्फी थाना के अन्य स्टॉफ भी शामिल हों।

कबीरधाम के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक अनिल सोनी ने बताया कि विवेचना जारी है। तीसरा आरोपी सहायक आरक्षक अभी पकड़ में नहीं आया है। प्रयास जारी है। जिस दिशा में हमें सूत्र से जानकारी मिलती जाएगी उस दिशा में आगे बढ़ते जाएंगे, चाहे वह चिल्फी थाना से संबंधित रहे या फिर अन्य जगह से।

Show More
Ashish Gupta
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned