पुलिस नहीं करती थी कार्रवाई तो ग्रामीणों ने खुद थाने पहुंच की जवानों की मांग और पकड़ लिया मवेशियों से भरा ट्रक

पांडातराई थाना अंतर्गत सोमवार की रात में मुंगेली कुंडा मार्ग ग्राम मोहगांव के पास एक कंटेनर यूपी 22 टी 2817 की जांच की। इस कंटेनर में 20 भैंस ठूस-ठूस कर भरे गए थे। (kawardha police)

By: Dakshi Sahu

Published: 12 Aug 2020, 03:19 PM IST

कवर्धा. आए दिन-रात मवेशियों से भरे ट्रक कबीरधाम जिले के कई थानों को पार करते हुए मध्यप्रदेश से उत्तरप्रपेदश रवाना होती है। पुलिस प्रशासन के पास समय नहीं कि वह मवेशी तस्करी को रोके या कार्रवाई करें। इसलिए अब लोगों को ही इसके लिए सामने आना पड़ रहा है। पांडातराई थाना अंतर्गत सोमवार की रात में मुंगेली कुंडा मार्ग ग्राम मोहगांव के पास एक कंटेनर यूपी 22 टी 2817 की जांच की। इस कंटेनर में 20 भैंस ठूस-ठूस कर भरे गए थे। इसे मध्यप्रदेश प्रदेश होते ही उत्तर प्रदेश कत्लखाने ले जाया जा रहा था। इसकी सूचना मिलने पर कुछ समाजसेवी लोगों ने पांडातराई थाना प्रभारी प्रशिक्षु डीएसपी नेहा पवार को बताया। इसके लिए कुछ पुलिस जवान लोगों के साथ भेजे गए। इसके बाद मोहगांव के पास चेक पोस्ट लगाया गया। रात करीब ढ़ाई बजे वहां पर कंटेनर के आते ही चार आरोपियों को धर दबोचा गया। इसमें आरोपी ड्राइवर अशोक श्रीवास(22), चेतन पाली, हारून मशीह(45) और सियाराम केंवट(28) निवासी तखतपुर को गिरफ्तार कर रिमांड में भेजा गया। वहीं सभी मवेशी को को अभिरक्षा में गौशाला भेजा गया।

पुलिस नहीं करती थी कार्रवाई तो ग्रामीणों ने खुद थाने पहुंच की जवानों की मांग और पकड़ लिया मवेशियों से भरा ट्रक

तस्करी ट्रक के निकलने से पहले रवाना होती है पायलेट गाड़ी
प्राप्त जानकारी के मुताबिक करीब 10 ट्रक और कंटेनर हैं जिससे रायुपर और तखतपुर से जबलपुर तक बड़े पैमाने पर तस्करी होती है। इसकेे बाद जबलपुर से मवेशियों को अन्य वाहन से उत्तर प्रदेश पहुंचाया जाता है। पूर्व में केवल रात को ही तस्करी होती थी, लेकिन अब दिन में भी तस्करी होती है। कार्रवाई से बचने के लिए तस्करी ट्रक के पहले एक पायलेट गाड़ी रवाना होती है जिसके कुछ देर बाद ट्रक निकलते हैं।

मवेशियों की तस्करी के लिए जिले के कई थाना क्षेत्रों को पार किया जाता है। रायपुर ओर से दशरंगपुर चौकी, पिपरिया थाना, कवर्धा थाना, पोंड़ी चौकी फिर बोड़ला और चिल्फी थाना एरिया से होते हुए मध्यप्रदेश पहुंचता है। वहीं तखतपुर से मवेशियों से भरा ट्रक कुंडा थाना से होते हुए सारंगपुर चौबट्टा से बोड़ला थाना फिर चिल्फी थाना होते हुए पार होता है। वहीं अब पंडरिया व कुकदूर थाना से पोलमी होते हुए मध्यप्रदेश पार हो रहा है।

इस रास्ते से ले जाते हैं कत्लखाना
तखतपुर के थाना जरहागांव के ग्राम कोलापुरी भतरी, ग्राम महुआ भाटा और बेमेतरा के ग्राम बेरा से जहां पर उत्तर प्रदेश के व्यापारी गाय, बैल की खरीदी करते हैं। मवेशियों को जबलपुर मार्ग होते हुए उत्तर प्रदेश के कत्लखाने ले जाते हैं। ऐसा नहीं है इसकी जानकारी पुलिस का न हो। सूत्रों के मुताबिक तमाम थानों में इसकी सूचना होती है कि कौन सा ट्रक कितने समय किस थाना क्षेत्र अंतर्गत गुजरेगा। पुलिस अधिकारियों को सूचना देने के बाद भी इस मामले में कार्रवाई नहीं होती।

Show More
Dakshi Sahu Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned