#Wild Animal : भूख-प्यास से शहर पहुंचा चीतल को कुत्तों ने नोच खाया

#Wild Animal :  भूख-प्यास से शहर पहुंचा चीतल को कुत्तों ने नोच खाया

Satyanarayan Shukla | Publish: May, 12 2019 01:58:36 PM (IST) | Updated: May, 12 2019 02:02:23 PM (IST) Kawardha, Kabirdham, Chhattisgarh, India

कबीरधाम जिला का जंगल अब वन्यप्राणियों के महफूज नहीं रहा। जंगल कम होते जा रहे हैं और गर्मी में लगातार आगजनी हो रही है। वहीं जंगल में पानी की कमी भी हो चुकी है। ऐसे में जंगली जानवर जंगल से भटक रहे हैं।

कवर्धा@Patrika. कबीरधाम जिला का जंगल अब वन्यप्राणियों के महफूज नहीं रहा। जंगल कम होते जा रहे हैं और गर्मी में लगातार आगजनी हो रही है। वहीं जंगल में पानी की कमी भी हो चुकी है। ऐसे में जंगली जानवर जंगल से भटक रहे हैं।

नर चीतल करीब ३ वर्ष का शव नदी के पास मिला

ग्राम पालीगुढ़ा के पास रविवार की सुबह ग्रामीणों ने एक मृत चीतल की सूचना पुलिस को दी। शव नदी के पास मिला। यह नर चीतल करीब ३ वर्ष का बताया जा रहा है। शायद पानी की तलाश में भटकते हुए यह नदी के पास पहुंच गया। मानव बस्ती के पास पहुंचने पर कुत्तों ने इसका शिकार किया और नोच खाया।
ऐसा लगता है मानो जंगल में पानी ही नहीं है। इसके चलते लगातार चीतल पानी की तलाश में भटक रहे हैं। क्योंकि यह पहली बार नहीं है जबकि चीतल बस्ती के बीच पहुंचा और मौत हो गई हो। पानी की तलाश में भटकते हुए ही कई चीतल की मौत हो चुकी है।

केस-1
भटक कर शहर पहुंचा था
२९ अप्रैल को ३-४ साल की मादा चीतल भटकते हुए नगर पहुंच गया। लोहे के घेरे से छलांग लगाते हुए वह जख्मी हो गया। पशु चिकित्सालय में प्राथमिक उपचार किया गया, लेकिन खून अधिक बह जाने के कारण करीब एक घंटे के बाद इसकी मौत हो गई।

केस-2
सड़क पार करते दुर्घटना में थम गई सांसे
२८ फरवरी सुबह करीब ११ बजे बोड़ला-दलदली मार्ग ग्राम मांदीभाठा के पास सागौन प्लांट कक्ष क्रमांक पीएफ ३९५ की ओर मादा चीतल अपने बच्चे के साथ निकली और तेजी से सड़क पार कर रही थी। इस दौरान वाहन की चपेट में आ गए। दोनों चीतल की मौत हो गई।

केस-3
घर से शव बरामद
रेंगाखार थाना अंतर्गत वन परिक्षेत्र रेंगाखार के बीट तितरी कक्ष क्रमांक पीएफ ३४९ में लमतु पिता कुवंर सिंह बैगा द्वारा एक नर चीतल का शिकार कर घर में छिपा दिया था। १० मार्च को वन अमला चीतल का शव लमतु बैगा के घर से जब्त किया गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned