बिना चयन समिति ही वॉक इन इंटरव्यू, हंगामा...

स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के कारण अभ्यर्थी रात 10 बजे तक सीएचएमओ कार्यालय में रहे, नहीं हो सका इंटरव्यू। इससे नाराज अभ्यर्थियों ने जमकर हंगामा किया।

कवर्धा . स्वास्थ्य विभाग में 27 विभिन्न टे्रड पर भर्ती निकाली। यह भर्ती वॉक इन इंटरव्यू से लेना था, लेकिन स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की मनमानी के कारण अभ्यार्थियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।
11 सितंबर को वॉक इंन इंटरव्यू के लिए अभ्यार्थियों को बुलाया गया था। बिलासपुर, मुंगेली, राजनांदगांव सहित कई जिले के महिला पुरुष भर्ती में शामिल होने सुबह से ही पहुंच गए। लेकिन स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही के कारण अभ्यार्थी रात 10 बजे तक सीएचएमओ कार्यालय में रहे, लेकिन रात तक इंटरव्यू नहीं हो सका। इससे नाराज अभ्यार्थियों ने जमकर हंगामा भी किया। इसके बाद उन्हें शांत कर 25 सितंबर का डेट देकर वापस भेजा गया। महिला अभ्यार्थियों ने आरोप लगाते हुए कहा कि सुबह से बुलाकर दिन भी कोई आयोजन नहंी किया गया। रात को इंटरव्यू लेने की तैयारी कर रही है। बुधवार को तीजा होने पर वह त्योहार कैसे मनाएंगी। इंटरव्यू होने के कारण बच्चों व पति तो कोई माता-पिता के साथ इंटरव्यू में आए हैं, लेकिन यह प्रक्रिया पुरी नहीं की गई।

सामने आई लापरवाही
सुबह 10 बजे से 12 बजे तक अभ्यार्थियों को निर्धारित प्रपत्र पर पंजीयन कराना था। इसके बाद 1.30 बजे स्वास्थ्य विभाग को पात्र सूची प्रकाशित किया जाना था। इसके बाद दोपहर 1.30 बजे से 2 बजे तक दावा आपत्ती आमंत्रित करना था। इसके कुछ देर बाद इंटरव्यू शुरु किया जाना था। लेकिन विभाग के जिम्मेदार अधिकारियों ने अपना समय इधर -उधर गंवाकर कोई कार्य नहीं किया और रात तक बैठे रहे। इससे अभ्यार्थियों में काफी नाराजगी थी।
इनका लेना था भर्ती
स्वास्थ्य विभाग में करीब 27 विभिन्न टे्रड के लिए भर्ती लिया जा रहा है। 11 सितंबर को एमओ आयूष के लिए 5 पद, ऑडीलॉजिस्ट के लिए १ पद, एनपीपीसीडी के लिए १ पद व एनपीपीसीडी असिस्टेंड के लिए 1 रिक्त पदों पर भर्ती लिया जाना था। इससे पहले भी इन्हें बुलाया गया था, लेकिन इंटरव्यू नहीं लिया गया। दूसरी बार बुलाने के बाद भी इंटरव्यू नहीं ले रहे थे। इससे हंगामा हुआ जो एसडीएम के आने के बाद शांत हुआ और आगामी 25 सितंबर को इंटरव्यू होना तय किया गया। इसकी तैयारी किया जा रहा है।

चयन समिति बगैर इंटरव्यू
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की मनमानी इतनी है कि बिना चयन समिति के ही इंटरव्यू लेने के लिए बैठ गए और कुछ अभ्यार्थियों से इंटरव्यू भी ले लिया गया। जबकि चयन समिति में कलक्टर के प्रतिनिधि, जिला पंचायत सीईओ के प्रतिनिधि व एक बाबू हड़ताल में है। इनके बगैर ही इंटरव्यू सीएचएमओ, डीपीएम व एक आयूष के डॉक्टर द्वारा लिया जा रहा था। काफी हंगामा होने के बाद इसे रोका गया।
वर्सन...
कर्मचारियों की कमी व मीटिंग के कारण इंटरव्यू के लिए अधिक समय हो गया। दावा आपत्ति का प्रकाशन रात को किया गया। कलक्टर सर कहते तो रात को ही इंटरव्यू लेने के लिए तैयार था। इसे निरस्त कर आगामी २५ सितंबर को इंटरव्यू होगा
डॉ. केके गजभिए, सीएचएमओ, स्वास्थ्य विभाग कबीरधाम

Yashwant Jhariya
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned